नई दिल्ली@महाकाली नदी पर पुल बनाने की योजना को कैबिनेट की मंजूरी

36
Share


भारत और नेपाल के लोगों को मिलेगा लाभ
नई दिल्ली 06 जनवरी 2022 ( ए )। नेपाल और भारत के बीच महाकाली नदी पर पुल बनाने की योजना को कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह पुल तीन साल में बनकर होगा पूरा और इससे दोनों देशों के बीच आवागमन की सुविधा बढेगी।
अनुराग ठाकुर ने कहा कि भारत- नेपाल के बीच महाकाली नदी के ऊपर धारचुला में एक पुल बनाने का निर्णय भी कैबिनेट की बैठक में लिया गया है। इससे संबंधित एमओयू जल्द साइन किया जाएगा। इससे उत्तराखंड में रहने वाले लोगों को लाभ होगा और नेपाल की तरफ रहने वाले लोगों को भी लाभ होगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा कई अन्य परियोजनाओं को भी कैबिनेट की मंजूरी दी गई है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अनुराग ठाकुर ने बताया, आज प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में कैबिनेट की बैठक में इंट्रा स्टेट ट्रांसमिशन सिस्टम ग्रीन एनर्जी कॉरिडोर के फेज-2 को आज स्वीकृति मिली है। इस परियोजना पर लगभग 12,000 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इससे 10750 सर्किट किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन का निर्माण होगा। उन्होंने बताया कि फेज-2 में 7 राज्य गुजरात, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, केरल, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु और राजस्थान में 10750 सर्किट किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन का निर्माण होगा। फेज-1 का लगभग 80प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। इस दौरान अनुराग ठाकुर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब दौरे के दौरान हुई सुरक्षा चूक को बड़ा मुद्दा बताया। उन्होंने कहा, पंजाब में कल प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई। इस मामले में कुछ लोग सुप्रीम कोर्ट भी गए हैं, गृह मंत्रालय ने भी रिपोर्ट मांगी है। देश की न्याय व्यवस्था सभी को न्याय देती है।


Share