सूरजपुर पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाई,2 आरोपी गिरफ्तार

29
Share


सूरजपुर 17 सितम्बर 2021(घटती-घटना)। ग्राम बलदेवनगर निवासी मनोज उरांव ने थाना प्रेमनगर में सूचना दिया कि बांगों बांध के डुबान छोटे छुरी में एक व्यक्ति का पैर पानी के ऊपर दिखाई दे रहा है जिसकी सूचना मिलने पर उसकी तस्दीक करने पुलिस मौके पर पहुंची जहां पानी में दिख रखे पैर को रस्सी फंसाकर बाहर निकाला गया जो अज्ञात व्यक्ति का शव मिला जिसके गले में रस्सी बंधा हुआ था। प्रेमनगर पुलिस ने शून्य में मर्ग कायम कर शव पंचनामा बाद पीएम के लिए भेजा। मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने थाना प्रभारी को अज्ञात मृतक की शिनाख्त करने के निर्देश दिए और जांच के दौरान लगातार मानिटरिंग करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।
जांच के दौरान पुलिस के द्वारा मृतक की शिनाख्त हुआ कि वह सुरेन्द्र यादव पिता हीरासाय उम्र 22 वर्ष निवासी हनुमानगढ़, थाना रामानुजनगर है। मृतक के पी.एम. रिपोर्ट में डॉक्टर के द्वारा मृत्यु का कारण हत्यात्मक लेख किए जाने पर थाना प्रेमनगर में अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व धारा 302, 201 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में थाना प्रेमनगर की पुलिस टीम ने जांच के दौरान मृतक के परिजनों से पूछताछ कर कथन लिया जिन्होंने बताया कि 5 सितम्बर को मृतक अपने दीदी-जीजा के घर अम्बिकापुर गया था जहां से मृतक अपने जीजा सुखसाय उर्फ गवटियां बरगाह के साथ उसके पुत्र को लेने विध्यांचल गए थे और दूसरे दिन सुखसाय अपने लड़के को लेकर वापस अम्बिकापुर आया जहां पत्नी के द्वारा सुरेन्द्र के बारे में पूछने पर प्रेमनगर से उतरकर अपने घर चले जाना बताया।
मुखबीर की सूचना पर पुलिस टीम ने आरोपी सुखसाय को ग्राम कोठीखर्रा, चौकी कोरबी, थाना पसान जिला कोरबा में घेराबंदी कर पकड़ा। पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि विध्यांचल स्थित मकान में 5 सितम्बर की रात्रि में सुरेन्द्र के पिता का मेडिकल दस्तावेज को फाड देने पर दोनों के बीच में वाद-विवाद हुआ इसी बीच लकड़ी पराठी उठाकर सुरेन्द्र के सिर में मारा और रस्सी से गला दबाकर हत्या कर दिया और बोरे में भरकर साइकिल में रखकर पिता महाबीर बरगाह के साथ साक्ष्य छुपाने के उद्धेश्य से छोटे छुरी बांध के डुबान में ले जाकर पत्थर बांधकर शव एवं साइकिल को फेंक दिया। आरोपी के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त साइकिल एवं अन्य आलाजरब को जप्त कर आरोपी सुखसाय उर्फ गवटिया एवं उसके पिता महाबीर बरगाह को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी प्रेमनगर के.पी.चौहान, एसआई निर्मल राजवाड़े, आरक्षक जगजीत सिंह, बेचूराम सोलंकी, भुवनेश्वर सिंह, खेलसाय व सैनिक सुभान अली सक्रिय रहे।


Share