कोरबा@जिले के पुलिस अधीक्षक अपनी ईमानदारी से जीत रहे लोगों का विश्वास

28
Share

राजा मुखर्जी-

कोरबा 16 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)। जिले में पुलिसकर्मियों के कई रोमांचक किस्से है। यहां के अनेक पुलिसकर्मी अपने काम से सुर्खियों में रहे और नागरिकों का विश्वास भी जीता। इनमें पुलिस अधीक्षक कोरबा भोजराम पटेल की एक अलग ही पहचान है। उनकी ईमानदारी और पीडç¸त लोगों के प्रति संवेदनशीलता को पुलिसकर्मी ही नहीं शहर के लोग भी देख रहे हैं। इसका उदाहरण, जनदर्शन के दौरान देखने को मिला, जिसमे कोरबा के रामपुर निवासी 88 साल के मन्नू लाल मिश्र अपनी व्यथा लेकर एसपी भोजराम पटेल के पास पुहंचे। पुलिस अधीक्षक को पता चलने पर कि बुजुर्ग मन्नू लाल ने सुबह से कुछ भी नहीं खाया है,तो खुद अपने हाथ से उन्हें नाश्ता दिया और छत्तीसगढ़ी में बोले ..ऐला पूरा खाना हे, तब तोर समस्या ला सुनबो हमन ह, अऊ ते नहीं खाबे त तोर समस्या ल हमन सुनन नहीं..है कि नहीं..नाश्ता कराकर पुलिस अधीक्षक ने बुजुर्ग की समस्या सुनी। मन्नू लाल मिश्र ने शायराना अंदाज में अपना दर्द बयां किया कि उनके चार बेटे हैं, लेकिन उनकी बीमार पत्नी का कोई ख्याल नहीं रख रहा । इसके बाद एसपी भोजराम पटेल ने तत्काल भरण पोषण एक्ट के तहत मामला दर्ज कर चारों बेटों को परिवार परामर्श केंद्र में बुलाने के निर्देश दिये ,साथ ही बुजुर्ग के पैर में चप्पल न होने पर चप्पल दिलाने के निर्देश दिए।


Share