अम्बिकापुर@श्रद्घालुओं ने हवन-पूजन कर कन्या भोज का किया आयोजन

32
Share

अम्बिकापुर 14 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। शारदीय नवरात्र के अंतिम दिन नवमी के अवसर पर बड़े उत्साह व श्रद्घा पूर्वक मनाया गया। देवी मंदिरों में पूरे दिन हवन-पूजन का सिलसिला चलता रहा। वहीं मंदिरों में श्रद्घालुओं का तांता भी लगा रहा। पंडालों में समितियों के सदस्यों ने हवन-पूजन किया। हवन-पूजन के उपरांत पंडालों में कन्या भोज भी आयोजित किया गया।
गुरुवार को नवरात्र के अंतिम दिन महानवमीं की विशेष पूजा अर्चना की गई। देवी मंदिरों में दिनभर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। इसके बाद जगह-जगह पूर्णाहुति यज्ञ, भंडारे व कन्या भोज का आयोजन किया गया। इससे पूरा वातावरण भक्तिरस में डूबा रहा। महामाया मंदिर में दिनभर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। यहां नगर सहित आस-पास के गांवों से हजारों की संख्या में श्रद्धालु देवी के दर्शन करने पहुंचे थे। नगर के अन्य देवी मंदिरों में पूर्णाहुति यज्ञ के साथ मां दुर्गा की विशेष पूजा अर्चना की गई। गांधी चौक स्थित दुर्गा मंदिर में श्रद्धालुओं द्वारा विशेष पूजा अर्चना की गई।
नवमी के दिन जगह-जगह कन्या भोज एवं भंडारे का आयोजन किया गया। कन्या भोज घरों में भी आयोजित किए गए। भंडारे में प्रसाद लेने श्रद्धालुओं की लाइन लगी रही। कन्या भोज के बाद नवरात्र पर उपवास रखने वाले श्रद्धालुओं ने उपवास तोड़े। अंतिम दिन होने के कारण मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही।

विजयादशमी आज

बुराई पर अच्छाई का प्रतीक विजयादशमी शुक्रवार को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाएगा। इस अवसर पर सांकेतिक रूप से रावण के प्रतिमा का दहन शहर के कला केंद्र मैदान में किया जाएगा। कोरोना काल व जिला प्रशासन के गाइडलाइन के तहत 15 फीट के रावण का प्रतिमा का दहन किया जाना है। पूर्व में धूमधाम से पीजी कॉलेज ग्राउंड में विशालकाय रावण के पुतले का दहन आतिशबाजी के साथ किया जाता था।


Share