कोरबा@वन विभाग में काम करके फंसा गैरेज संचालक,अब भटक रहा भुगतान के लिए

47
Share

कोरबा 09 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। कोरबा वनमंडल हो या कटघोरा वनमंडल ,दोनों विभागों के अधिकारियों से लेकर रेंजरों और बाबू की कार्यशैली अपेक्षित हितकारी नहीं दिख रही हैं, अपना काम निकाल लेने के बाद ठेकेदारों/सप्लायरों का भुगतान, मजदूरों की मजदूरी की परवाह तक नहीं करते । एक ऐसे ही मामले में तत्कालीन कोरबा वन मंडल अधिकारी के आदेश पर गैरेज मिस्त्री ने वाहनों की मरम्मत का कार्य वर्ष 2020 में किया था, किन्तु इसके एवज में 4 लाख 80 हजार 886 रुपए का भुगतान आज पर्यंत भुगतान नहीं किया गया।वन मंडल कोरबा के तत्कालीन डीएफओ गुरुनाथन .एन के कार्यकाल में एवं उनके आदेश पर विभाग के शासकीय वाहन क्र. सीजी-02 एफ- 0132, सीजी-02 एफ- 5023 एवं सीजी-02 एफ- 0132 का मरम्मत कार्य टीपी नगर में गैरेज संचालक रामू साहू के द्वारा किया गया था। तत्कालीन डीएफओ के द्वारा आदेश दिनांक 21.01.2020, 05.08.2020 तथा 02.09.2020 के तहत रामू मोटर गैरेज टीपी नगर को शासकीय वाहन क्र. सीजी-02 एफ-0132, सीजी-02 एफ- 5023 एवं सीजी-02 एफ-0132 में व्यय राशि क्रमश: 2 लाख 75 हजार 500 रुपए, 1 लाख 15 हजार 130 रुपए एवं 90 हजार 256 रुपए की व्यय राशि स्वीकृत भी की गई थी, पर इस कार्य में आए कुल खर्च 4 लाख 80 हजार 886 रुपए का भुगतान आज पर्यंत वन विभाग द्वारा नहीं किया गया जिसके कारण रामू साहू की आर्थिक स्थिति बिगड़ती चली गई। परिवार का भरण-पोषण मुश्किल होने के साथ दुकान मालिक का किराया भुगतान न कर सकने के कारण दुकान में ताला लग गया, बिजली कनेक्शन भी काट दिया गया तथा मार्केट में कर्जा बढ़ गया । रामू साहू के द्वारा इस संबंध में 3 जुलाई 2021 को कोरबा वन मंडलाधिकारी से आवेदन कर राशि भुगतान की मांग की गई। निराकरण न होने पर कलेक्टर को आवेदन सौंपकर राशि भुगतान कराने का आग्रह किया गया है। पीçड़त रामू साहू ने बताया कि वर्तमान डीएफओ ने उसकी भुगतान स्वीकृति राशि लेप्स होने की जानकारी दी गइ है। डीएफओ के मुताबिक उसने वर्ष 2020 में बिल जमा क्यों नहीं किया, 2021 में कैसे पैसा मिलेगा? स्वीकृति के लिए रायपुर भेजेंगे तब पैसा मिल पाएगा। रामू साहू ने बताया कि उस समय कोरोना लॉकडाउन के कारण बिल जमा करने में विलंब हुआ, तो क्या उसका भुगतान अब नहीं मिलेगा?


Share