पटना/रनई@कलश यात्रा के साथ शुरू हुई मां दुर्गा की पूजा अर्चना

228
Share

रवि सिंह-

पटना/रनई 07 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। शारदिय नवरात्र के अवसर पर ग्राम पंचायत रनई में श्री दुर्गा पूजा समिति के पदाधिकारियों के द्वारा षारदिय नवरात्र के पहले दिन पूजा पंड़ाल में माता दुर्गा की प्रतिमा स्थापना करने से पूर्व गुरुवार को सुबह 10 बजे से भव्य कलश यात्रा का आयोजन किया गया जिसमें काफी संख्या में श्रद्वालू महिलाऐं शामिल हुईं। सभी श्रद्वालू महिलाऐं पूजा पंड़ाल से खाली कलश लेकर रनई तालाब पहुंचे जहां विधिवत कलश पूजन के साथ कलश में जल भरकर सभी अपने अपने सिर में कलष धारण कर कतार बद्व होकर मुख्य सड़क से होते हुए पहले षिव मंदिर उसके बाद पूजा पंड़ाल पहुंचे जहां पं. प्रेमलाल पाठक के द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ कलष पूजन कराया गया और दुर्गा प्रतिमा की स्थापना करने के साथ पूजा अर्चना शुरू हो गई। श्रद्वालू महिलाऐं पूजा अर्चना करने के पष्चात अपने अपने घर को गए।
आयोजित कलश यात्रा को सफल बनाने में रनई जमींदार योगेश शुक्ला, गीता शुक्ला, समिति अध्यक्ष विकास शुक्ला, आस्तीक शुक्ला, प्रदीप साहू, अशोक सिंह, रामसुशील पाण्ड़ेय, मूलचंद जायसवाल, नर्मदा प्रसाद साह, केसी साहू, प्रद्युमन जायसवाल, छबीले प्रसाद ठकुरिया, श्रवण दुबे, जगजीवन राम, मनोज कुषवाहा, करम सिंह, भूपेन्द्र सिंह, आनंद सोनी, मानिकचंद, हरि ब्रिसेन, लक्षनधारी, संतोश साहू, राजेश पाण्ड़ेय, राजू साहू, शशि प्रकाश जायसवाल, जेपी ठाकुर, संजू पाण्ड़ेय, दीप कुमार दुबे सहित समिति के पदाधिकारियों व सदस्यों एवं श्रद्वालू ग्रामिणों का सराहनिय योगदान रहा।


पाण्डवपारा कलश यात्राके साथ नवरात्र शुरू

पाण्डवपारा नवरात्र के प्रारंभ पर जिले भर में भक्ति का माहौल प्रारंभ हो गया है। गुरुवार को पांडेश्वर दुर्गा पूजा समिति पांडवपारा की ओर से कलश शोभायात्रा निकालकर नगर भ्रमण किया गया। 108 कन्याओं ने सूर्यदेव घाट से गंगाजल के साथ संकल्पित होकर कलश यात्रा निकाली। बैंड बाजा के साथ कलश शोभायात्रा कोलरी कॉलोनियों का भ्रमण करते हुए वापस पांडेश्वर शिव मंदिर परिसर तक पहुंचकर मां दुर्गे के जयकारे के साथ माहौल भक्तिमय हो रहा, शोभायात्रा की सफलता में समिति के अध्यक्ष विनोद कुमार, कोषाध्यक्ष शारदा प्रसाद दुबे, सचिव विजय यादव, शिव कुमार दुबे, संतोष पाठक, कमलेश्वर सिंह, बघेल महेंद्र द्विवेदी, राजेश अग्निहोत्री, उमाकांत शुक्ला, सरजू भगत, विनोद देवांगन, घनश्याम सिंह सहित अन्य ने प्रमुख योगदान दिया। पांडवपारा दुर्गा पूजा संपन्न करवाने वाल आचार्य गायत्री पांडे ने बताया कि इस बार का नवरात्र 8 दिनों का होगा चौथ पंचमी तिथि एक ही दिन है ऐसी मान्यता है कि शारदीय नवरात्रि मे मां अपने मायके आती है यहां रह कर अपने भक्तों के सभी दुख दूर करती हैं ज्योतिषाचार्य के अनुसार मां हर नवरात्र में अलग-अलग सवारी पर सवार होकर आती हैं इस नवरात्र में मां दुर्गे डोली पर सवार होकर अपने बच्चों भगवान गणेश कार्तिकेय देवी लक्ष्मी एवं सरस्वती सरस्वती के साथ गुरुवार को अपने मायके आ रही हैं।


प्रतियोगिता का आयोजन


दुर्गा पूजन के अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का किया जाएगा आयोजन। श्रीदुर्गा पूजन समिति रनई अध्यक्ष आस्तीक शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि इस वर्ष रनई में दुर्गा पूजन समिति के द्वारा क्षेत्र के प्रतिभावान युवक, युवतियों को मंच देने एवं उनके कला को निखारने के लिए रंगोली प्रतियोगिता, मेंहदी प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है जिसमें उत्कृश्ठ प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाऐगा। प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार 1100 रूपए, द्वितीय 700 रूपए, एवं तृतीय 500 रूपए रखा गया है।


Share