पट्टाधारी भूमि पर मास्टर प्लान से मेला क्षेत्र को निरस्त किए जाने की मांग कलेक्टर से

41
Share

अम्बिकापुर 30 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। श्यामा प्रसाद मुखर्जी वार्ड क्रमांक 3 के लोगों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर 50 हेक्टेयर पट्टाधारी भूमि पर मास्टर प्लान से मेला क्षेत्र को निरस्त किए जाने की मांग की है। वार्ड वासियों ने गुरुवार को कलेक्टर को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया है कि हमारे ग्राम की पट्टाधारी भू 2/6 के लिये बिना जांच एवं सही जानकारी लिये आबंटित कर मास्टर प्लान में लिये आवंटित कर दी गई है। जबकि यह भूमि भारत सरकार द्वारा पुर्नवास के तहत भू-स्वामी को पट्टा प्रदान किया गया है। उक्त भूमि पर कृषि कार्य, आवास, व्यवसाय के लिये आबंटित की गई थी, जो कि वर्तमान परिवेश में उक्त क्षेत्र नगर निगम अम्बिकापुर का वार्ड क्र 03 शहरी एवं सघन आबादी क्षेत्र है। जहां पर वार्डवासी अपना घर मकान एवं दुकानबाड़ी या अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठान निर्मित कर जीवकोपोर्जन कर रहें हैं। प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत लगभग 150 मकान निर्मित हो चुके हैं, एवं सड़क नाली विद्युत सभी प्रकार की व्यवस्था निगम द्वारा कर दी गई है। इस स्थिति में उक्त क्षेत्र में मेला के लिये न तो कहीं जगह है और न ही निर्माण कार्य को हटाना संभव लगभग 10 वर्ष पूर्व जब इस क्षेत्र को राज्य सरकार द्वारा मास्टर प्लान में मेला क्षेत्र घोषित किया गया। वार्डवासियों द्वारा लगातार विरोध किया गया था। इस दौरान तत्कालीन कलेक्टर व निगम आयुक्त अम्बिकापुर के द्वारा मौखिक आश्वासन दिया गया था कि अग्रिम 2021 में नये मास्टर प्लान में संशोधन करवा दिया जायेगा। परंतु आज पर्यन्त यह क्षेत्र मेला क्षेत्र से विलोपित नहीं किया गया जिससे वार्डवासी न तो डायवर्सन, न ही मकान नक्शा, न मकान लोन, जैसी अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं ले पा रहे हैं, जिससे एक बहुत बड़ीठ्ठआबादी शासन के लाभ से वंचित है। वार्ड वासियों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर मास्टर प्लान से मेला क्षेत्र विलोपित किया जाये एवं सामान्य क्षेत्र हेतु कार्यवाही पूर्ण किया जाने की मांग की है। अगर वार्ड वासियों की समस्या दूर नहीं होती है तो ये मजबूरन आंदोलन की चेतावनी दी है।


Share