रायपुर @ छत्तीसगढ़ में प्रायमरी स्कूल के बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर छत्तीसगढ़ शिक्षा विभाग का बड़ा फ ैसला

42
Share

पहली से पांचवीं तक की कक्षाएं नहीं लगेंगी


रायपुर, 04 जनवरी 2022 (ए)। कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर छत्तीसगढ़ में पहली से पांचवीं तक की कक्षाएं नहीं लगाने का स्कूल शिक्षा विभाग ने फैसला लिया है। अब इन कक्षाओं की पढ़ाई आनलाइन होगी। बता दें कि बीते दिनों प्रदेश के कई जिलों में बच्चे कोरोना की चपेट में आकर बीमार पड़ रहे हैं। बच्चों में कोरोना के खतरे को देखते हुए निर्णय लिया गया है।
जानकारी के मुताबिक आने वाले दिनों में अन्य कक्षाओं को बंद कर आनलाइन क्‍लासेस ही ली जाएंगी। हो सकता है चर्चा के बाद अन्‍य कक्षाओं में उपस्थिति ऐच्छिक कर दी जाए। बाकि कक्षाओं और बोर्ड परीक्षाओं को लेकर फैसला कोरोना संक्रमण की आगामी स्थिति को देखते लिया जा सकता है। स्कूली बच्चों को कोरोना से बचाने के लिए अहम फैसला लिया गया है।
बीते रविवार को ही रायपुर में छह से 15 वर्ष के 5 बच्‍चों की कोरोना जांच के बाद रिपोर्ट पाजिटिव मिली थी। इसके बाद स्कूल शिक्षा विभाग के अलावा मुख्यमंत्री ने बैठक लेकर जरूरी निर्देश दिए। सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी विभागों से चर्चा के बाद जरूरी कदम उठाने के लिए कहा था। वहीं सीएम बघेल ने प्रदेश में बड़े आयोजनों और सभाओं पर रोक लगाने के लिए भी जिम्‍मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों का निर्देशित किया है। दूसरी तरफ स्‍कूल और कालेजों में छात्र-छात्राओं को भी कोरोना रोधी टीके लगाए जा रहे हैं।
बीते वर्ष 22 नवंबर को हुई बैठक में स्कूलों को पूरी तरह पूर्ण क्षमता के साथ खोलने का निर्णय लिया गया था। इसके लिए अभिभावकों की सहमति और कोविड से बचाव के नियमों का पालन अनिवार्य किया गया था।


Share