महंत नरेंद्र गिरी मौत मामले की जांच के लिए एसआईटी का हुआ गठन

Share


सुसाइड नोट में बलबीर गिरी का भी नाम


प्रयागराज ,21 सितंबर 2021 (ए)। अखिल भारतीय अखाड़ परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी मौत मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। जिसकी अगुवाई सीओ अजीत सिंह चौहान करेंगे। इस एसआईटी में कुल 18 सदस्य होंगे, जो मामले को अच्छी तरह से खंगालेंगे।


उलझ रही है मौत की मिस्ट्री


शुरुआती जानकारी के आधार पर पुलिस ने आत्महत्या का मामला बताया लेकिन मौत के कारणों को जानने के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया था कि महंत नरेंद्र गिरी को उनके अनुयायिओं ने दरवाजा तोड़कर फंदे से उतारा। मौके पर एक कथित सुसाइड नोट मिला है, जिसमें महंत के अपने शिष्य आनंद गिरि की प्रताड़ना से परेशान होने की बात कही गई है। आपको बता दें कि इस सुसाइड नोट में बलबीर गिरी का नाम भी लिखा हुआ है।


8 पेज का सुसाइड नोट आया सामने


सुसाइड नोट में महंत नरेंद्र गिरी ने आत्महत्या करने का निर्णय लिया। कथित सुसाइड नोट में लिखा है कि मेरी मौत की जिम्मेदारी आनंद गिरी, अद्या प्रसाद तिवारी, संदीप तिवारी की होगी। प्रयागराज के सभी पुलिस अधिकारी एवं प्रशासनिक अधिकारियों से अनुरोध करता हूं। मेरे आत्महत्या के जिम्मेदार उपरोक्त लोगों पर कानूनी कार्यवाही की जाए, जिससे मेरी आत्मा को शांति मिले।


सीबीआई जांच की मांग वाली याचिका दायर


महंत नरेंद्र गिरी की कथित आत्महत्या की सीबीआई से जांच कराने के अनुरोध के साथ इलाहाबाद हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को उनके ईमेल पर एक पत्र याचिका भेजी गई है।


Share

Check Also

हैदराबाद,@सात करोड़ के कर्ज में डूबे हैं एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन औवेसी

Share लोकसभा चुनाव 2024: हैदराबाद को एआईएमआईएम का गढ़ माना जाता है हैदराबाद,20 अप्रैल2024 (ए)। …

Leave a Reply

error: Content is protected !!