बैकुण्ठपुर@अंबिकापुर से इलाहाबाद चलने वाली प्रयाग बस का मुख्य मार्ग पर डीजल खत्म,यात्रि घंटों हुए परेशान

134
Share

बैकुण्ठपुर 03 जनवरी 2022 (घटती-घटना)। अंबिकापुर से रीवा, इलाहाबाद चलने वाली बस का मनेंद्रगढ़ के समीप झगड़ा खंड में डीजल खत्म होने से यात्रियों को घंटों इस कड़कड़ाती ठंड में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, बस संचालक एवं स्टाफ की घोर लापरवाही के कारण यात्री परेशान हो रहे है। विदित हो कि सदैव विवादों और दुर्घटना से विशेष नाता रखने वाली प्रयाग बस सर्विस का संचालन जब से अंबिकापुर से हुआ है यात्रियों सहित राहगीरों पर आफत सी आ गई है, अंबिकापुर से मनेंद्रगढ़ के बीच दर्जनों बस संचालित है उन्हीं के बीच कम टाइम में मनेंद्रगढ़ तक पहुंचने की होड़ में इस बस से कई दुर्घटनाएं हो रही हैं बीते दिवस सूरजपुर में इस बस से दुर्घटना होने से उन को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था वही बीते महीने मनेंद्रगढ़ के पास हसदो नदी में यह तेज रफ्तार बस गिरते-गिरते बची थी, इस तेज रफ्तार बस से बैकुंठपुर में एक यात्री बस को कट मार देने से वह बस भी खेत के नीचे उतर गई थी, उस दिन भी एक बड़ी दुर्घटना होते होते बच गई, बताया जाता है कि यात्री बस में कार्यरत स्टाफ सदैव नशे में रहते हैं और यात्रियों से बदतमीजी भी करते हैं, यही कारण है कि बीते दिवस यात्रियों से खचाखच भरी बस का डीजल खत्म होने से यात्री परेशान होते रहे बस में सवार कुछ यात्रियों ने जब इस बात का विरोध किया तो स्टाफ उनसे बदतमीजी और धमका कर बात करने लग गया और खूब लड़ाईया भी की है शहडोल पहुंचकर उन यात्रियों को देख लेने की भी धमकी दी है। समस्या यहीं खत्म नहीं हुई शहडोल पहुंचकर कुछ कड़कड़ाती ठंड में रात में दूसरी बस में जो रायपुर तरफ से आई थी, वह पहले से ही भरी थी उसमें इस बस के भी यात्रियों को जबरदस्ती भरकर ले जाया गया बताया जाता है कि बस मालिक रात में अपने कुछ नशे में धुत गुंडों के साथ पहुंचा और एक पेट्रोल पंप में दूसरी बस जो यात्रियों से भरी खड़ी थी उसमें जबरदस्ती एक स्लीपर में 3 लोग 4 लोग और 1 सीट में दो-तीन लोग बैठा कर भेजा गया जिन लोगों ने विरोध किया उन्हें धमकाया भी गया जिसको लेकर यात्रियों में काफी आक्रोश व्याप्त है चुकी रात का सफर होता है यात्री अपने गंतव्य स्थान तक पहुंचना चाहते हैं इसलिए इनकी हुज्जत और परेशानियां झेल कर अपना सफर कर रहे हैं।


Share