बैकुण्ठपुर / मनेंद्रगढ़@विधायक प्रतिनिधि सहित पारिवार के 3 सदस्यों पर प्राथमिकी दर्ज

226
Share

मनेन्द्रगढ विधायक के प्रतिनिधि हैं गौरव गुप्ता,मामला मनेंद्रगढ़ में हुए अतिक्रमण से जुड़ा हुआ,पार्षद की शिकायत पर मामला हुआ दर्ज

-रवि सिंह-
बैकुण्ठपुर / मनेंद्रगढ़ 26 दिसम्बर 2021 (घटती-घटना)। पूर्व में हुए जोड़ा तालाब के पीछे अतिक्रमण विवाद को लेकर मुख्य नगरपालिका अधिकारी इशहाक खान व उनके कर्मचारी शिवनारायण, बली राम कुर्रे, रंजीता, सुशील, इम्तियाज अहमद, विजय मिश्रा, मुमताज, नगर पालिका इंजीनियर पवन साहू अध्यक्ष प्रभा पटेल उपाध्यक्ष कृष्ण मुरारी तिवारी व पार्षदगढ़ नागेंद्र जयसवाल, श्याम सुंदर पोद्दार, गौरी केरकेट्टा पप्पू हुसैन की उपस्थिति में विधायक प्रतिनिधि गौरव गुप्ता व उसके परिवार के द्वारा जो अभद्रता व गाली गलौज करते हुए सरकारी कार्य को रोकने का प्रयास करते हुए पार्षद श्रीमती गौरी केरकेट्टा के लिए जो जाति सूचक गाली गलौज किया गया था उसी मामले को लेकर आज मुख्य नगरपालिका अधिकारी इशहाक खान व उनके कर्मचारियो एवं नगर पालिका अध्यक्ष प्रभा पटेल उपाध्यक्ष कृष्ण मुरारी तिवारी व परिषद के अन्य तमाम पार्षद गण थाना मनेंद्रगढ़ पहुंचकर आईपीसी की धारा 186,353,294,506,323 एवं 34 के तहत मनेंद्रगढ़ विधायक के सबसे खास समर्थक प्रतिनिधि साथ ही जिले को परेशान रखने वाले रेत मामले के ठेकेदार के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज कराया गया है।
मामला जिले के खनिज विभाग को अपने अधीन बताने वाले रेत ठेकेदार मनेंद्रगढ़ विधायक के प्रतिनिधि से जुड़ा हुआ है। एफआईआर के मुताबिक नगर पालिका परिषद का तमाम अमला विधायक प्रतिनिधि गौरव गुप्ता के द्वारा जोड़ा तालाब शासकीय भूमि पर किये गए अतिक्रमण को हटाने और जोड़ा तालाब के पीछे निर्माण कार्य को लेकर भूमि पूजन करने पहुंचा था जोड़ा तालाब में सौंदर्यीकरण कार्य के तहत चेकर टाईल्स लगाए जाने हेतु व विधायक प्रतिनिधि के द्वारा शासकीय कार्य मे बाधा के तहत शेड बनाकर शासकीय नाली के ऊपर बेजा कब्जा किया गया था। लिखित शिकायत के माध्यम से बताया गया कि विधायक प्रतिनिधि के भाई सौरभ गुप्ता, गौरव गुप्ता उनके परिवार के अन्य सदस्यों के द्वारा नगर पालिका अधिकारी व कर्मचारियों अध्यक्ष उपाध्यक्ष व अन्य पार्षद गणों को अश्लील गाली गलौज किया गया जान से मारने की धमकी दी गई ड्राइवर गोलू का कॉलर पकड़कर जेसीबी से उतारा गया पार्षद गौरी केरकेट्टा के लिए जातिसूचक गाली गलौज किया गया है।
मुख्य नगर पालिका द्वारा यह जानकारी दिया गया कि अतिक्रमण हटाए जाने के संबंध में पूर्व मे ही गौरव गुप्ता व सौरभ गुप्ता को मौखिक व लिखित जानकारी नोटिस भी दी जा चुकी है। और उनके द्वारा अतिक्रमण हटाए जाने का आश्वासन भी दिया गया था। तत्पश्चात ही 23.12.2021 को अतिक्रमण हटाने नगरपालिका का अमला जोड़ा तालाब के पीछे पहुंचा था, क्योंकि ठेकेदार को उस जगह कार्य भी प्रारंभ करना था। मनेंद्रगढ़ नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती प्रभा पटेल ने मीडिया के सामने अपने बयान में यहाँ तक बताया कि गौरव गुप्ता ने कहा है कि मैं मनेंद्रगढ़ सीएमओ का 10 दिन के अंदर अंदर ट्रांसफर करवा दूंगा। पुरे अधिकारी कर्मचारी व परिषद की मौजूदगी में आखिरकार अपराध तो पंजीबद्ध हो ही गया। सवाल अब भी वही खड़ा होता है विधायक प्रतिनिधि व उनके परिवार के द्वारा किए गए गुंडागर्दी के पीछे किन रसूखदारों का संरक्षण प्राप्त है। आखिर एक सरकारी कर्मचारी मुख्य नगरपालिका अधिकारी को एफ आई आर के लिए इतनी मशक्कत क्यों करना पड़ा। आखिर क्यों तमाम नगर पालिका अधिकारी कर्मचारी अध्यक्ष उपाध्यक्ष व पार्षदगणों को मनेन्द्रगढ़ थाना जाना पड़ा।

जिले के खनिज विभाग को भी अपने अधीन हैं बताते

मनेंद्रगढ़ विधायक के सबसे करीबी माने जाने वाले गौरव गुप्ता पेशे से रेत ठेकेदार हैं और जिले में रेत मामले में इन्ही की वजह से जिले की जनता परेशान है क्योंकि बैकुंठपुर क्षेत्र की सभी रेत खदानें यही संचालित करते हैं,गौरव गुप्ता जिले के खनिज विभाग को अपने अधीन बताते हैं और वह जब जैसा चाहें खनिज विभाग वैसी ही कार्यवाही करता है यह वह स्वय कहते सुने जा सकते हैं।

मनेंद्रगढ़ विधायक के साथ की फोटो सोशल मिडीया में डालकर बनाते हैं माहौल

गौरव गुप्ता रेत व्यवसाय से जुड़े हैं और उन्हीं की मनमानी से आधा जिला रेत मामले में परेशान है आएदिन वह अपनी फोटो मनेंद्रगढ़ विधायक के साथ सोशल मीडिया पर उडालकर या विधायक निवास की उनके कक्ष की फोटो डालकर खुद की महिमा खुद की पकड़ साबित करते हैं जो लगातार सोशल मीडिया की सुर्खियां भी बनता है।


मनेंद्रगढ़ नगरपालिका में कांग्रेस की नगरीय सरकार होने के बावजूद विधायक प्रतिनिधि पर दर्ज हुई प्राथमिकी

ऐसा कम ही देखने मे आया है कि किसी दल या किसी सत्तापक्ष के विधायक प्रतिनिधि पर सत्तापक्ष के ही किसी नगरपालिका इकाई की तरफ से जहां सभी पदाधिकारी सत्तापक्ष के हों ने उसके विपक्ष में जाकर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई हो,मनेंद्रगढ़ मामले में विधायक प्रतिनिधि गौरव गुप्ता और पर पुलिस थाने में दर्ज हुई प्राथमिकी से यह तय हो गया कि गौरव गुप्ता संगठन और पार्टी से खुद को ऊपर मानकर चल रहे हैं और विधायक प्रतिनिधि होने का दम्भ उनका ज्यादा है जिसके कारण ही सत्तापक्ष के ही द्वारा उनके ऊपर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।


Share