बैकुण्ठपुर@दोनों नगरी निकाय में कांग्रेस का कब्जा,विधायक नहीं बचा पाई गृह वार्ड

348
Share

बैकुंठपुर से पार्षद साधना जायसवाल व शिवपुर चरचा से लालमुनी यादव का अध्यक्ष बनना तय,भाजपा आपसी प्रतिस्पर्धा में हुई चुनावों में पराजित

संसदीय सचिव के प्रतिष्ठा से जुड़ी थीं बैकुंठपुर नगरपालिका का वार्ड क्रमांक 01 व 09,भाजपा के लिए बैकुंठपुर के इन वार्ड में जीत के मायने थे बड़े

रवि सिंह –
बैकुण्ठपुर 23 दिसम्बर 2021 (घटती-घटना)। बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा नगरपालिका में कांग्रेस की नगर सरकार बनना तय। संसदीय सचिव बैकुंठपुर विधायक अपने लिए दो प्रतिष्ठापूर्ण वार्डों में जीत नहीं कर सकीं दर्ज। संसदीय सचिव के प्रतिष्ठा से जुड़ी थीं बैकुंठपुर नगरपालिका का वार्ड क्रमांक 01 व 09 दोनों जगह मिली हार। संसदीय सचिव ने झोंकी थी जिन वार्डों में ताक़त वहीं मिली कांग्रेस को करारी हार। भाजपा के लिए बैकुंठपुर के वार्ड क्रमांक 01 वार्ड क्रमांक 09 की जीत के मायने बड़े। बैकुंठपुर से पार्षद साधना जायसवाल व शिवपुर चरचा से लालमुनी यादव का अध्यक्ष बनना तय। भाजपा आपसी प्रतिस्पर्धा में हुई चुनावों में पराजित, अंतर्द्वंद से मिली हार। विधायक के खास प्रत्याशी भी हरे चुनाव, भाजपा के प्रत्याशी जीत कर भाजपा की बचाई नाक।
जिले के बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा नगरपालिका चुनावों के परिणाम आज घोषित हो गए। बैकुंठपुर नगरपालिका सहित शिवपुर चरचा में सत्ताधारी कांग्रेस ने सबसे ज्यादा वार्डों में जीत दर्ज करते हुए दोनों ही नगरपालिकाओं में कांग्रेस की नगर सरकार बनाने लायक बहुमत प्राप्त कर लिया है वहीं जिस तरह से कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत हुई है उससे यह भी स्पष्ट हो गया कि छत्तीसगढ़ में अभी भूपेश बघेल का जादू चल रहा है और लोगों को भूपेश बघेल की घोषणाओं और उनके वादों व जारी जनकल्याणकारी कार्यों से कोई शिकायत नहीं है और अभी सरकार के खिलाफ कोई विरोधी लहर नहीं है। जिले के दो नगरपालिकाओं बैकुंठपुर में जहां 20 वार्डों में कांग्रेस ने 11 वार्डों पर कब्जा किया वहीं शिवपुर चरचा में 15 वार्डों में से कांग्रेस ने 8 वार्डों पर कब्जा किया, एक निर्दलीय भी शिवपुर चरचा से विजयी हुआ जो कांग्रेस से ही बगावत कर चुनाव मैदान में था।

बैकुंठपुर नगरपालिका की दो सीटों का चुनाव रहा अहम

बैकुंठपुर नगरपालिका में वैसे तो कांग्रेस ने 11 वार्डों में अपने प्रत्याशियो को जीत दिला ले जा पाने में सफलता प्राप्त कर ली लेकिन संसदीय सचिव बैकुंठपुर के लिए बेहद प्रतिष्ठापूर्ण दो सीटों जिनमे वार्ड क्रमांक 01 व वार्ड क्रमांक 09 शामिल हैं में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा। संसदीय सचिव बैकुंठपुर विधायक ने इन्ही दो वार्डों में सबसे ज्यादा खुद भी।मेहनत किया था और इनमें से एक वार्ड स्वयं उनका गृह वार्ड था। वार्ड क्रमांक 01 से संसदीय सचिव के सबसे खास समर्थक की धर्मपत्नी मैदान में थीं जिन्हें भाजपा के भानुपाल ने शिकस्त दी वहीं संसदीय सचिव के गृह वार्ड क्रमांक 09 से कांग्रेस की ससंदीय सचिव द्वारा चुनी गई प्रत्यासी को भी संसदीय सचिव अपने ही गृह वार्ड में जीत नहीं दिला सकीं।

कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की मेहनत से मिली 11 वार्डों में जीत

बैकुंठपुर नगरपालिका में वार्ड क्रमांक 01 और 09 जहां संसदीय सचिव ख़ुद इन दोनों वार्डों में सबसे ज्यादा मेहनत कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत के लिए करती आ रहीं थीं वहीं अन्य समस्त कांग्रेस पदाधिकारी व कार्यकर्ता अन्य सभी वार्डों में लगातार मेहनत करते आ रहे थे। जिन वार्डों में कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को जिम्मा मिला हुआ था वहां वहां कांग्रेस को जीत मिल सकी और जीत भी बड़ी जीत के रूप में।मानी जा रही है वहीं जिन वार्डों में कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को जिम्मा नहीं मिला था या जहां विधायक स्वयं मोर्चा सम्हाले हुईं थीं उन दो वार्डों में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा।

वार्ड क्रमांक 01 और 09 से भाजपा की जीत के हैं बड़े मायने

नगरपालिका चुनावों में बैकुंठपुर के वार्ड क्रमांक 01 और 09 पर सभी की निगाहें टिकी हुईं थीं वैसे वार्ड क्रमांक 06 भी पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शैलेश शिवहरे के प्रत्यासी बतौर चुनाव में उतरने से भाजपा के लिए प्रतिष्ठा की सीट बनी हुई थी लेकिन वार्ड क्रमांक 06 को लेकर लगभग स्पष्ट ही पता चलता आ रहा था कि वहां कांग्रेस के आशीष यादव को परास्त करना मुश्किल है और अंत मे वही हुआ भी लेकिन वार्ड क्रमांक 01 और वार्ड क्रमांक 09 से जीत दर्ज करने के बाद भाजपा ने अपने बाकी वार्डों से मिले हार और नगर सरकार बनाने लायक बहुमत के गम को फिलहाल भुला दिया है और भाजपा का मानना है कि जिन दो वार्डों में संसदीय सचिव बैकुंठपुर विधायक की प्रतिष्ठा ज्यादा दांव पर लगी थी उन धदोनों वार्डों में जीत दर्ज कर ले जाना ही असली जीत है और इसलिए भाजपा संतुष्ट नजर आ रही है।

कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा लगी थी दांव पर

बैकुंठपुर नगरपालिका सहित शिवपुर चरचा नगरपालिका चुनाव में कई दिग्गज पूर्व पार्षदों की भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी थी जिसमें कुछ ने जीत दर्ज कर अपनी प्रतिष्ठा बचाने में सफलता प्राप्त की और कुछ ने हार का सामना किया। बैकुंठपुर से सबसे बड़े चेहरों में पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शैलेश शिवहरे चुनाव हार गए जबकि अपनी धर्मपत्नी को चुनाव जरूर जीता ले गए, बैकुंठपुर के ही अजेय माने जाने वाले निवर्तमान पार्षद गुलाब गुप्ता चुनाव हार गए जो आश्चर्जनक चुनावी परिणाम रहा, बैकुंठपुर से ही पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अशोक जायसवाल अपनी धर्मपत्नी को चुनाव जीता ले जाने में सफल रहे वहीं बैकुंठपुर से ही आफताब आलम भी अपनी धर्मपत्नी सहित अपने भतीजे को चुनाव जीता ले जाने में सफल रहे, बैकुंठपुर के ही कांग्रेस को अभी हाल में ही अलविदा कहते हुए निर्दलीय चुनाव में लड़ रहे संजय जायसवाल भी चुनाव जीत गए, शिवपुर चरचा से पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष गुट से अध्यक्ष पद के दावेदार प्रत्यासी हेमसागर यादव जहां चुनाव हार गए वही पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष के ही खास समर्थक पूर्व पार्षद शाकिब इराकी भी शिवपुर चरचा से निर्दलीय से चुनाव हार गए।

शिवपुर चरचा में चला भूपेंद्र यादव का जादू,सबसे लोकप्रिय नेता बने

शिवपुर चरचा चुनाव में कांग्रेस की जीत और नगर सरकार के लिए निर्णायक पार्षदों के साथ चुनाव में जीत दर्ज करने का यदि किसी को श्रेय जाता है तो वह भूपेंद्र यादव को जाता है, भूपेंद्र यादव ने अपनी धर्मपत्नी को चुनाव में पार्षद पद के लिए चुनावी मैदान में उतारा था और भूपेंद्र यादव की धर्मपत्नी सहित 8 कांग्रेसी पार्षदों की जीत से अब नगर सरकार कांग्रेस की बननी तय हो गई, भूपेंद्र यादव शिवपुर चरचा में अपनी लोकप्रियता और अपनी मतदाताओं के बीच पैंठ का लोहा मनवा पाने में सफल हुए वहीं इस चुनाव में पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष को जनता ने समर्थन नहीं दिया और उनके समर्थकों की वार्डों में ही हार हुई जिससे साबित हुआ कि उनका कार्यकाल जनता ने नापसंद किया। वही पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष अपने ही वार्ड से खड़े किए गए प्रत्याशी को जिता नहीं पाए और पूरे विजय जुलूस में जुलूस से दूरी बनाए रखें ऐसा लगा की कांग्रेस की जीत से खुश नहीं है।

अध्यक्ष को लेकर विधायक के पसंद को लेकर जारी है चर्चा

बैकुंठपुर नगरपालिका में कांग्रेस से अध्यक्ष पद का उम्मीदवार कौन होगा और बैकुंठपुर विधायक किसको अपनी पसंद बनाकर आगे करेंगी समर्थन करेंगी इसको लेकर अब चर्चा का दौर जारी है। शिवपुर चरचा में तो लालमुनि यादव का अध्यक्ष बनना लगभग तय है क्योंकि कांग्रेस के दूसरे गुट की तरफ से अध्यक्ष पद के दावेदार के रूप में लड़ रहे हेमसागर यादव चुनाव हार चुके हैं वहीं बैकुंठपुर नगरपालिका में अनपुर्णा सिंह, साधना जायसवाल सहित नुसरत जहां का नाम अध्यक्ष पद के लिए सामने आ रहा है अब तीन नामों के सामने आने के बाद बैकुंठपुर के लिए अध्यक्ष पद की सहमति और समर्थन बैकुंठपुर विधायक किसको प्रदान करेंगी इसको लेकर चर्चा इसलिए भी जारी है कि क्योंकि अध्यक्ष पद ही चुनाव की जीत को अंतिम रूप प्रदान करेगा और यदि तीनों में सामंजस्य बनाकर अध्यक्ष हेतु आम सहमति बनाये बगैर अध्यक्ष हेतु नाम घोषित किया गया तो बगावत होने की भी संभावना है।

छल बल भी काम नहीं आया बैकुंठपुर के वार्ड 1 के चुनाव में कांग्रेस के लिए

बैकुंठपुर के वार्ड क्रमांक 01 का चुनाव जिले के 35 वार्डों के चुनाव में सबसे महत्वपूर्ण चुनाव माना जा रहा था और वार्ड क्रमांक 01 के चुनाव पर पूरे जिले की भी नजरें टिकीं थीं, वार्ड क्रमांक 01 के चुनाव में बाहरी ग्रामीण मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में जुड़वाकर छल से चुनाव जीतने के प्रयास का भी आरोप कांग्रेस पर लगा वहीं हर तरह से मतदाताओं को लुभाने को लेकर भी वार्ड क्रमांक 01 का चुनाव काफी चर्चित रहा,वहीं अब वार्ड क्रमांक 01 की हार कांग्रेस की छल बल से जितने की कोशिश की वजह से संभव हुई जैसा कि अब चर्चा है। वहीं वार्ड क्रमांक 01 में विवाद भी हुआ और खुद संसदीय सचिव बैकुंठपुर विधायक भी वार्ड में काफी मेहनत करती नजर आती रहीं।

वार्ड क्रमांक 01 वार्ड क्रमांक 09 बैकुंठपुर नगरपालिका में हुई कई बार मतों की गणना

बैकुंठपुर नगरपालिका के वार्ड क्रमांक 01और 09 का परिणाम भी समय से आ चुका था और दोनों ही वार्डों के परिणामों को घोषित किये जाने से रोके रखा गया था क्योंकि दोनों ही वार्डों में कांग्रेस की हर हो चुकी थी, बैकुंठपुर नगरपालिका की यह दोनों सीटें संसदीय सचिव बैकुंठपुर विधायक के लिए प्रतिष्ठा का विषय थीं इसलिए विधायक ने स्वयं मतगणना स्थल पर पहुंचकर कई बार पुनर्मतगणना कराई और फिर भी परिणाम जस का तस रहा। बताया जा रहा है पुनर्गणना के दौरान वार्ड क्रमांक 1 से विजयी हो चुके भाजपा प्रत्यासी ने मतगणना अधिकारी से यह भी कह दिया कि मेरे मिले मतों में से कुछ मत और कांग्रेस प्रत्यासी को दे दिये जायें लेकिन अब बार बार पुनर्मतगणना न कराएं जिसे सुनकर मतगणना अधिकारी भी अपनी हंसी नहीं रोक पाए।

वार्ड नंबर 1 में कांग्रेस को मिली हार से भाजपा कांग्रेस दोनों संतुष्ट,दांव पर विधायक की साख

नगरी निकाय चुनाव 2021 कोरिया जिले में भले ही कांग्रेस के सबसे अधिक पार्षद जीत मिली है, भाजपा को कोरिया जिले के बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा में जीत नहीं मिली जिसका वह उम्मीद कर रहे थे, पर बैकुंठपुर नगर पालिका चुनाव में एक नंबर वार्ड के कांग्रेस प्रत्याशियों को हारने से कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने राहत की सांस ली बीजेपी ने जहां कांग्रेस के दिग्गज व विधायक के चहेते प्रत्याशी को हरा के साख बचाया तो वही कांग्रेस ने अध्यक्ष दावेदार को किनारा लगाया।

बैकुंठपुर से साधना जायसवाल,शिवपुर चरचा से लालमुनि यादव बन सकती है नगरपालिका अध्यक्ष

बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा नगरपालिका चुनावों के नतीजे आने के बाद और कांग्रेस को दोनों ही जगह मिली बहुमत के बाद यह अब साबित हो गया है कि बैकुंठपुर से पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष की धमर्पत्नी साधना जायसवाल वहीं शिवपुर चरचा से भूपेंद्र यादव की धर्मपत्नी लालमुनि नगरपालिका अध्यक्ष बनने की दौड में सबसे आगे हैं।

भाजपा की हार रणनीति का आभाव, आपसी गुटबाजी

बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा नगरपालिका चुनावों में भाजपा को बड़ी हार का मुंह देखना पड़ा,भाजपा की हार का जो मुख्य कारण माना जा रहा है वह चुनाव में रणनीति का आभाव और आपसी गुटबाजी ,भाजपा में चुनाव के दौरान पदाधिकारी कार्यकर्ता केवल खुद को साबित करने के चक्कर मे एकजुट होकर चुनाव में काम करने से परहेज करते रहे वहीं युवा कार्यकर्ता केवल फोटोग्राफी और सोशल मीडिया में ही हवा बनाने में मशगूल रहे, कुल मिलाकर किसी ने जीत के हिसाब से मेहनत ही नहीं कि और हार तय हो गई।

कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने रणनीति के तहत किया चुनाव में काम

बैकुंठपुर व शिवपुर नगरपालिका चुनावों में कांग्रेस को एकजुट देखा गया और जिन वार्डों में वरिष्ठ कांग्रेसियों सहित कार्यकर्ताओं ने जिम्मेदारी निभाई वहां कांग्रेस की जीत दर्ज हुई। कांग्रेस के वरिष्ठ जनों ने चुनाव को महत्वपूर्ण माना और सभी ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई।

बैकुंठपुर के वार्ड क्रमांक 04 में लाटरी से जीते भाजपा प्रत्यासी

बैकुंठपुर के वार्ड क्रमांक 04 में दो आपसी विरोधी प्रत्याशियो में मतगणना के दौरान बराबरी की स्थिति उत्तपन्न हो गई,पुनर्गणना के बाद भी परिणाम बराबरी वाला ही आने पर लाटरी पद्धति से चिट निकालकर परिणाम घोषित किया गया जिसमें भाजपा के अनिल खटीक विजयी रहे।

बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा में कांग्रेस की जीत संगठन की जीत

बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा नगरपालिका चुनावों में कांग्रेस की जीत के पीछे संगठन की मेहनत और संगठन की मेहनत का परिणाम है और कांग्रेस के पदाधिकारियों सहित कार्यकर्ताओं की एकजुटता से यह जीत कांग्रेस दर्ज कर पाई है यह भी बताया जा रहा है, शिवपुर चरचा में जहां वरिष्ठ कांग्रेसी योगेश शुक्ला ने जिम्मेदारी सम्हालते हुए कार्यकर्ताओं को एकजुट करते हुए कांग्रेस को बड़ी जीत दिलाने में योगदान दिया वहीं बैकुंठपुर में भी सभी कांग्रेसी एकजुट होकर बड़ी जीत कांग्रेस के लिए तय कर सके यह बताया जा रहा है।

नगरपालिका परिषद् शिवपुर चरचा से जीते हुए प्रत्याशियों की सूचि

वार्ड क्रमांक 1 बीजेपी से धर्मपाल
वार्ड क्रमांक 2 कांग्रेस से प्रदीप राजवाड़े
वार्ड क्रमांक 3 कांग्रेस से लालमुनि यादव
वार्ड क्रमांक 4 कांग्रेस से संतोषी एक्का
वार्ड क्रमांक 5 निर्दलीय से रामकली पाल
वार्ड क्रमांक 6 कांग्रेस से पूनम शर्मा
वार्ड क्रमांक 7 भाजपा से अरुण कुमार जायसवाल
वार्ड क्रमांक 8 भाजपा से संजय कुमार
वार्ड क्रमांक 9 कांग्रेस से सुनीता चर्मकार
वार्ड क्रमांक 10 कांग्रेस से लाल मोहम्मद
वार्ड क्रमांक 11 कांग्रेस से रेशमा परवीन
वार्ड क्रमांक 12 भाजपा से कुंडल साय
वार्ड क्रमांक 13 भाजपा से राजेश सिंह
वार्ड क्रमांक 14 निर्दलीय कुमुद मिश्रा
वार्ड क्रमांक 15 कांग्रेस से प्रदीप तिवारी

नगरपालिका परिषद् बैकुंठपुर से जीते हुए प्रत्याशियों की सूचि

वार्ड क्रमांक 1 भाजपा भानुपाल
वार्ड क्रमांक 2 कांग्रेस सुनील गुप्ता
वार्ड क्रमांक 3 कांग्रेस मनीष कुमार सिंह
वार्ड क्रमांक 4 भाजपा अनिल खटीक
वार्ड क्रमांक 5 कांग्रेस धीरज शिवहरे
वार्ड क्रमांक 6 कांग्रेस आशीष यादव
वार्ड क्रमांक 7 निर्दलीय अभिनेन्द्र चंदेल
वार्ड क्रमांक 8 कांग्रेस बॉबी
वार्ड क्रमांक 9 भाजपा ममता पनिका
वार्ड क्रमांक 10 कांग्रेस फिरोज खान
वार्ड क्रमांक 11 कांग्रेस नुसररत जहां
वार्ड क्रमांक 12 भजापा नविता शिवहरे
वार्ड क्रमांक 13 कांग्रेस अंकित गुप्ता
वार्ड क्रमांक 14 कांग्रेस साधना जायसवाल
वार्ड क्रमांक 15 भाजपा अवधेश नारायण
वार्ड क्रमांक 16 कांग्रेस अनपुर्णा सिंह
वार्ड क्रमांक 17 भाजपा शिल्पा गुप्ता
वार्ड क्रमांक 18 कांग्रेस ललित सिंह
वार्ड क्रमांक 19 भाजपा रीमा जायसवाल
वार्ड क्रमांक 20 निर्दलीय संजय जायसवाल


Share