बैकुण्ठपुर@नगरी निकाय चुनाव को लेकर कोरिया जिले में दो पक्षों के बीच उत्पन्न हुई विवाद की स्थिति

118
Share

शिवपुर-चरचा के वार्ड क्रमांक 07 में दो पक्षों के बीच हुई मारपीट,पूरे रात थाने में मौजूद रहे दोनों पक्ष के लोग


पूर्व मंत्री सहित भाजपा नेता पहुंचे चरचा थाना,दर्ज कराई शिकायत,कव्हरेज के लिए चरचा पहुंचे पत्रकारों को भी पुलिस ने भगाया

रवि सिंह –
बैकुण्ठपुर 20 दिसम्बर 2021 (घटती-घटना)। कोरिया जिले के दो नगर पालिका बैकुंठपुर व शिवपुर चरचा दोनों ही जगह नगरपालिका चुनाव होने थे और 20 दिसम्बर को मतदान होना था, वहीं चुनाव पूर्व की रात में जैसा कि आमतौर पर देखा जाता भी रहा है, विवाद की स्थितियां बनती हैं और वही कुछ यहां भी हुआ, खासकर जब बात निकाय चुनाव की हो और वाद विवाद ना हो यह तो काफी कम ही देखा गया है प्रशासन कितना भी चाह ले चुनाव शांति से हो जाए पर ऐसा हो नहीं पाता क्योंकि जीत की ऐसी ललक की मारपीट की नौबत तक आ जाती है और ऐसा सिर्फ जब दोनों प्रत्याशी कान के कच्चे होते हैं और जीत जैसे चाहे मिले पर जीत मिलनी चाहिए, यह सभी की लालसा होती है, इसे लेकर जो आपसी मतभेद शुरू होता है वह अंततः विवाद व मारपीट में बदल जाता है और ऐसा ही देखने को मिला शिवपुर चरचा नगर पालिका चुनाव में जब दो प्रत्याशियों के बीच मारपीट हुई और मामला थाने तक जा पहुंचा।
नगरपालिका शिवपुर-चरचा के वार्ड क्रमांक 07 में दो पक्षों के बीच मारपीट हो गई, जिसमें दो तीन भाजपा कार्यकर्ताओं को चोटें आई हैं, मामला देर रात लगभग 11 बजे की है। घटना की जानकारी मिलने पर पूर्व मंत्री भैयालाल राजवाड़े, भाजपा जिलाध्यक्ष कृष्णबिहारी जायसवाल, देवेंद्र तिवारी, पंकज गुप्ता, राहुल सिंह, भाजयुमो अध्यक्ष अंचल राजवाड़े व अन्य भाजपा नेता लाव-लश्कर सहित चरचा थाना पहुंच गए। मौके पर डीएसपी कविता ठाकुर व चरचा थाना प्रभारी अनिल साहू मौजूद थे। भाजपा कार्यकर्ताओं की शिकायत पर चरचा पुलिस ने पूछताछ करने के बाद घायलों को मेडिकल के लिए भेजा। विदित हो कि कोरिया çज़ले के बैकुंठपुर व शिवपुर-चरचा नगरीय निकाय के लिए 20 दिसम्बर को मतदान होना है। जिसके कारण क्षेत्र में काफ़ी गहमागहमी का माहौल है। रविवार की देर रात लगभग 11 बजे शिवपुर-चरचा के वार्ड क्रमांक 07 में भाजपा कार्यकर्ताओं व निर्दलीय प्रत्याशी के समर्थकों के बीच मारपीट हो गई। यहां भाजपा से वार्ड प्रत्याशी के रूप में अरुण जायसवाल उम्मीदवार हैं। घटना की जानकारी मिलने पर भाजपा प्रत्याशी व भाजपा नेता समर्थकों के साथ तत्काल चरचा थाना पहुंच गए थे। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए शिकायत दर्ज कराई। घटना के बाद चरचा थाने में एकत्र लोगों को समझाईश देते हुए पुलिस ने वापस भेजा।

कव्हरेज के लिए पहुंचे पत्रकारों को पुलिस ने भगाया

मामले की जानकारी मिलने पर बैकुंठपुर व चरचा के पत्रकार भी मौके पर पहुँच गए थे। जिन्हें सड़क पर देख रात्रि गश्त के लिए पहुंची पुलिस टीम ने वहां से जाने के लिए कहा। जब एक पत्रकार ने बताया कि वे मीडिया से हैं और घटना की जानकारी लेने के लिए अन्य लोगों से बात कर रहे हैं। इसके बावजूद पुलिस ने उन्हें तत्काल वहां से निकल जाने को कहा। जबकि प्रेस को सिस्टम के तहत 24 घण्टे अपना कार्य करने की आज़ादी है। इस सम्बंध में प्रेस क्लब अध्यक्ष कमलेश शर्मा ने कहा कि जिले के संवेदनशील पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह एक ओर नशा मुक्ति हेतु “निज़ात” जैसे कार्यक्रम चला कर बेहतरीन पुलिसिंग का उदाहरण प्रस्तुत कर रहे हैं। जिसमें उन्हें मीडिया का भी सहयोग मिल रहा है। लेकिन वहीं उनके मातहत अपने कृत्यों से पुलिस की छवि को धूमिल कर रहे हैं। जिला प्रशासन भी निष्पक्ष व शांतिपूर्ण चुनाव के कव्हरेज हेतु मीडिया कर्मियों की सहूलियत के लिए मीडिया पास जारी कर रहा है। उन्होंने आगे कहा कि इस बात की शिकायत जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर कोरिया तथा पुलिस अधीक्षक कोरिया से की जायेगी।

पूर्व केबिनेट मंत्री भईयालाल राजवाड़े ने की घटना की निंदा

घटना की जानकारी मिलने पर पूर्व केबिनेट मंत्री भईयालाल राजवाड़े ने इसकी कड़ी निंदा करते हुये कार्यवाही की मांग की है। उन्होंने कहा कि कोरिया जिले में सत्ता शासन का दुरुपयोग किया जा रहा है। श्री राजवाड़े ने आगे कहा कि जरूरत पड़ने पर वे समर्थकों के साथ सड़क पर उतरने में भी नही हिचकिचाएंगे।


Share