अम्बिकापुर@शहर के होमियोपैथी,आयुर्वेदिक सेंटरों का होगा काया-कल्प

17
Share

मुहल्ला क्लिनिक के तर्ज पर एक सेंटर में मिलेगी कई सुविधाएं

अम्बिकापुर 22 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)। शहर के अलग-अलग वार्डों में स्थित होमियोपैथी एवं आयुर्वेदिक अस्पताल का आज रेडक्रॉस सोसायटी के चेयरपर्सन आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने होमियोपैथी, आयुर्वेदिक एवं यूनानी सेंटरों पर नियमित आने वाले मरीजों की संख्या, सेंटरों में उपलब्ध सुविधाओं, पदस्थ डॉक्टर एवं स्टॉफ की संख्या, भवनों की स्थिति, उपलब्ध जमीन सहित कई विषयों की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने भवनों की स्थिति को देखर चिंता जाहिर की और भवनों को ठीक कराने हेतु जल्द ही राशि उपलब्ध करवाने आवश्यक पहल करने की बात कही। लगभग सभी होमियोपैथी सेंटरों की स्थिति ठीक नहीं होने पर रेडक्रॉस सोसायटी के चेयरपर्सन आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने स्वास्थ्य मंत्रालय में फोन पर बात कर होमियोपैथी सेंटरों एवं आयुर्वेदिक सेंटरों की स्थिति ठीक करने पर चर्चा की, जिसमें मंत्रालय से जानकारी दी गई कि सभी होमियोपैथी, आयुर्वेदिक एवं यूनानी सेंटरों के जीणोद्धार को लेकर सीजीएमएससी के माध्यम से स्टीमेट बनाकर भेजा जाये, लगभग सभी भवनों के कायाकल्प हेतु 5 से 8 लाख रुपये तक की राशि उपलब्ध करा दी जायेगी, साथ ही काफी जीर्ण भवनों के लिए नवीन भवन का प्रस्ताव बज़ट में जोड़ा जायेगा ताकि वह भी अगले वर्षों में सही हो सकें। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव के निर्देश पर शहरी स्वास्थ्य केंद्रों को विकसित करने कि प्लानिंग है, जिसके तहत दिल्ली के मोहल्ला क्लिनिक के तर्ज पर शहर में 10 सेंटर खोले जाने हैं, पूर्व में संचालीत शहरी स्वास्थ्य केंद्रों, होमियोपैथी केंद्रों, आयुर्वेदिक केंद्रों को ही मुहल्ला क्लिनिक के तर्ज पर विकसित किया जायेगा, जहां पर एलोपैथी के अलावे होमियोपैथी, आयुर्वेदिक, योगा एवं अन्य पैथी से ईलाज हो सकेंगे। प्रत्येक सेंटरों पर एक एमबीबीएस डॉक्टर, लैब टेक्नीशियन तथा अन्य स्टॉफ रहेंगे। सारे सेंटरों को नवापारा शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के तर्ज पर विकसित किया जायेगा, जिसके लिए प्रत्येक सेंटरों हेतु 25-25 लाख रुपये जल्द ही स्वास्थ्य विभाग से उपलब्ध हो जायेगा। इन सेंटरों में ईलाज के अलावे दवा वितरण, जांच हेतु सैम्पल कलेक्शन का कार्य भी होगा, जो सीधे हमर लैब से जुड़े रहेंगे। एक ही स्थान पर अलग-अलग चिकित्सा पद्धति से ईलाज के अलावे कई सुविधाएं शहर वासियों को मिलेगी। सभी निर्माण एवं जीर्णोद्धार कार्य जल्द ही शुरू होंगे और 6 से 8 महीने के अंदर शहर में मेडिकल कॉलेज और जिला आयुर्वेदिक हॉस्पिटल के अलावे नवापारा शहरी प्राथमिक केंद्र को छोड़ कर 10 नये सुविधायुक्त स्वास्थ्य सेंटर शहर के हर कोने में तैयार हो जायेंगे। आज होमियोपैथी एवं आयुर्वेदिक सेंटरों में निरीक्षण के उद्देश्य यही था कि किन सेंटरो को इस तरह से विकसित किया जाये, जिससे लोगों को सुविधा भी मिले और इन सेंटरों का भी कायाकल्प हो सके। इस दौरान रेडक्रॉस सोसायटी के चेयरपर्सन आदित्येश्वर शरण सिंह देव ने मुख्यमंत्री स्लम स्वाथ्य योजना द्वारा संचालीत मोबाईल मेडिकल यूनिट का भी वार्डों में निरीक्षण किया, इस दौरान लोगों को मिल रही सुविधा की जानकारी ली, लोगों से फीडबैक भी लिया। मोबाइल मेडिकल यूनिट के कार्य पर संतुष्टि जताई तथा कमिश्नर एवं महापौर को पत्र लिख कर मोबाईल मेडिकल यूनिट में बुखार के आने वाले मरीजों की कोरोना जांच शुरू कराने तथा सप्ताह में एक बार एक मोबाईल यूनिट के माध्यम से एसएलआरएम सेंटरों की स्वच्छता दीदियों का भी स्वास्थ्य परीक्षण कराने का आग्रह किया है। इस दौरान जिला आयुर्वेदिक हॉस्पिटल, 4 होमियोपैथी सेंटर, 1 आयुर्वेदिक सेंटर सहित खालपारा एवं मुक्तिपारा में मोबाईल मेडीकल यूनिट का भी निरीक्षण किया। इस दौरान जिला आयुर्वेदिक अधिकारी सहित विधायक प्रतिनिधि विनय शर्मा बंटी, पार्षद शैलेंद्र सोनी, डॉ अमीन फिरदौसी सहित स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी-अधिकारी उपस्थित थे।


Share