अम्बिकापुर@छात्र-छात्राओं के विकास के लिए कार्यशाला का आयोजन अत्यन्त आवश्यक

21
Share

अम्बिकापुर 20 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)। राजीव गाँधी पीजी कॉलेज अंबिकापुर में इन्कूवेशन सेंटर, इंटर्नशिप एवं वैल्यू एडेड कोर्स के सम्बन्ध में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि डॉ. एसके त्रिपाठी पूर्व प्राचार्य राजीव गाँधी पीजी कॉलेज, विशिष्ट अतिथि प्रोफ़ेसर जीए घनश्याम तथा प्राचार्य प्रोफ़ेसर रशीदा परवेज़ द्वारा मा सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण तथा दीप प्रज्ज्वलन द्वारा किया गया। स्वागत वक्तव्य देते हुए महाविद्यालय की प्राचार्य ने अतिथियों का स्वागत किया तथा कार्यक्रम की उपादेयता पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डॉ एस के त्रिपाठी ने इस आयोजन के लिए महाविद्यालय को शुभकामनायें दीं तथा कहा कि इस तरह की कार्यशालाओं का आयोजन निश्चित ही महाविद्यालय तथा छात्र-छात्राओं के विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने अपनी तरफ से महाविद्यालय के विकास में हरसंभव योगदान देने का संकल्प भी जाहिर किया। इसके पश्चात कार्यशाला की शुरुआत करते हुए डॉ जीए घनश्याम ने विस्तारपूर्वक वैल्यू ऐडेड कोर्स के सम्बन्ध में जानकारी दी । उन्होंने वैल्यू –ऐडेड कोर्स के प्रारूप,अध्ययन पद्धति तथा मूल्यांकन पद्धति पर विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि आज के प्रतियोगितावादी युग में हमें अपने छात्र-छात्राओं को पारम्परिक शिक्षण-पद्धति के अतिरिक्त जीविका के विविध क्षेत्रों के लिए तैयार करना होगा। उन्होंने महाविद्यालय के अन्दर इन्कूवेशन सेंटर की स्थापना और उसके कार्य पर प्रतिभागियों को विस्तृत जानकारी प्रदान की साथ ही नई शिक्षा नीति के आलोक में इन्टर्नशिप और इन्टरप्रेन्योरशिप विकास की आवश्यकता को रेखांकित किया। प्रशिक्षण सत्र के बाद प्रोफ़ेसर घनश्याम ने प्रतिभागियों के सवालों और शंकाओं का विस्तार से समाधान किया। कार्यक्रम के अंत में आईक्यूएसी संयोजक डॉ आरपी सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया। कार्यक्रम में राजमोहिनी देवी स्नातकोत्तर महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ ज्योति सिन्हा, केल्हारी महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य शिवाकांत मिश्र के साथ विभिन्न महाविद्यालयों से आये हुए नैक व आईक्यूएसी प्रभारियों की गरिमामय उपस्थिति रही।महाविद्यालय के समस्त स्टाफ के साथ बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने इस कार्यशाला में उत्साहपूर्वक सहभागिता की। कार्यकम की रूप-रेखा महाविद्यालय के स्वायत्तशासी प्रकोष्ठ के कंट्रोलर डॉ. राजकमल मिश्रा द्वारा तैयार की गई थी तथा कार्यक्रम का संचालन डॉ. दीपक सिंह द्वारा किया गया।


Share