बैकु΄ठपुर@कांग्रेस-भाजपा-गोंगपा कोरिया को बचाने करेंगे नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार

134
Share

कोरिया की अस्मिता को बचाने ह एकजुट हुए लोग,कहा कोरिया की अस्मिता ही खतरे में

रवि सिंह-
बैकु΄ठपुर 16 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)। कोरिया जिले से बड़ी खबर आ रही है भाजपा-कांग्रेस व गोंगपा ने आगामी नगरीय निकाय चुनाव के बहिष्कार की घोषणा की है, कोई भी राजनीतिक दल या निर्दलीय प्रत्याशी पार्षद का फार्म नही लेगा,न उम्मीदवार स्वरूप अपना नाम निर्देशन पत्र भरेगा, दरअसल कोरिया जिला विभाजन साथ ही नवीन जिला एमसीबी के गठन को लेकर छत्तीसगढ़ शासन ने राजपत्र अधिसूचना जारी कर दी है जिसमें कोरिया जिला प्रदेश के सबसे छोटे जिलों में शुमार होने जा रहा है,राजपत्र अधिसूचना के प्रकाशन के बाद खड़गवां विकासखण्ड को एमसीबी जिले में शामिल करने की जैसे ही सार्वजनिक सूचना जारी हुई उसके बाद से ही कोरिया जिले में जिले की अस्मिता को लेकर जिलेवासियों में आक्रोश का संचार हो गया और आज उसकी ही परिणीति है की जिला मुख्यालय में सर्वदलीय बैठक हुई जिसमें आम नागरिकों ने भी हिस्सा लेकर सरकार के इस निर्णय को गलत बताया, आज कोरिया बचाव मंच द्वारा मानस भवन में शहर सहित जिले के लोगो, समस्त राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों की बैठक आहूत की गई जिसकी सूचना दो दिनों पूर्व से ही सार्वजनिक भी की गई और आज काफी संख्या में जिले के लोग बैठक में उपस्थित रहे। इस दौरान आदिवासी समाज के विजय सिंह ठाकुर ने सभी राजनीतिक दलों से आगामी नगरीय निकाय चुनाव के बहिष्कार का आग्रह किया, विजय सिंह ठाकुर के आग्रह को सभी उपस्थित सभी दलों के जिम्मेदार लोगों ने स्वीकार किया और ध्वनि मत से स्वीकार किया, जिसके बाद वहां उपस्थित कांग्रेस जिलाध्यक्ष नजीर अजहर, भाजपा जिलाध्यक्ष कृष्ण बिहारी जायसवाल व गोंगपा के प्रदेशाध्यक्ष संजय सिंह कमरो ने साफ कहा कि हमारी पार्टी की ओर कोई भी बैकुंठपुर व शिवपुर-चरचा के नगरीय निकाय चुनाव में भाग नही लेगा,कोरिया की अस्मिता को बचाने के लिए हम सभी कोरिया जिले के साथ हैं वहीं निर्दलीय कोई फार्म न ले इसकी जिम्मेदारी युवाओं को दी गयी है, जिसका भी सभी युवाओं ने जिम्मेदारी लेना स्वीकार किया।
बता दें कि छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरिया जिले से नवीन जिले एमसीबी का ऐसा विभाजन किया है जैसा कि कोई अत्यंत पुरानी किसी वैमनस्यता या बैर को कोरिया जिले से भुनाया गया हो,कोरिया जिले के समस्त वासी भी केवल इसलिए हतप्रभ हैं कि खुद को प्रदेश का साथ ही देश का प्रथम ख्याति प्राप्त मुख्यमंत्री साबित होने की प्रफुल्लता में मुख्यमंत्री ने कोरिया जिले को ही अपने प्रदेश में क्यों हाशिये पर ला खड़ा किया जबकि वह प्रदेश के समस्त जनता के हित उद्देश्य से मुखिया के पद पर आसीन हैं,बताया जा रहा है कि ऐसा केवल राजपरिवारों से उनकी खुन्नस ही एकमात्र वजह है और मुख्यमंत्री अब खुद लोकतांत्रिक व्यवस्था के विपरीत राजतांत्रिक व्यवस्थाओं के समर्थक व पोषक बनने की राह पर हैं और आम जनता की भलाई के विपरीत वह अपनी वैमनस्यता और बैर को भुनाने में ही ज्यादा तत्तपर हैं क्योंकि बैकुंठपुर विधायक टी एस सिंहदेव समर्थक हैं। अपनी वैमनस्यता और बैर की वजह से मुख्यमंत्री ऐसा निर्णय लेकर पूरे कोरेया जिले की जनता के साथ अन्याय कर कर रहें हैं यह भी उपस्थित जनों में से ही कुछ का कहना था।


Share