अंबिकापुर @ केलवा के पात पर उगलन सूरज देव…

52
Share


अस्तांचलगामी भगवान भास्कर को व्रतियों ने अर्ध्य देकर की सुख-समृद्धि की कामना
-नगर संवाददाता-
अंबिकापुर,10 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)।. सूर्य उपासना का पवित्र महापर्व छठ जिले में आस्था के साथ मनाया गया। अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को अर्ध्य अर्पित कर व्रती महिलाओं ने मंगल कामना की। अर्ध्य देने के लिए शहर में शंकरघाट सहित घुनघुट्टा नदी में लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा।
शहर के साथ जिले में आस्था के साथ छठ का महापर्व मनाया जा रहा है। इन दिनों पूरे शहर का वातावरण भक्तिमय बना हुआ है। मंगलवार को सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु अर्ध्य देने के लिए दोपहर 4 बजे के बाद शंकरघाट स्थित छठ घाट पहुंचे। छठव्रतियों ने घाटों पर अस्तांचलागामी सूर्य को अर्र्ध्य देकर परिवार के सुख-समृद्धि की कामना की।
दोपहर बाद सड़कों पर घाटों के लिए जाने वालों की भीड़ नजर आने लगी थी। घर के पुरूष सदस्य कांधे पर गन्ना और सिर पर दौरा लेकर आगे चल रहे थे। उनके पीछे व्रती महिलाएं छठ गीत गाते हुए चल रही थी। इस दौरान परिवार की महिलाएं कांच की बगिया…हे दीना नाथ…, बहंगी लचकत जाय..आदि गीत गा रही थी। मंगलवार को छठ पर शंकरघाट, घुनघुट्टा, सहित विभिन्न तालाबों व जलास्यों में व्रतियों ने अर्ध्य दे कर परिवार के सुख-समृद्धि की कामना की। वही सभी छठ घाटों पर समिति द्वारा विशेष व्यवस्था की गई थी। छठ घाट आकर्षक लाइटिंग से सजा हुआ था।
पूरे दिन घरों में
बनता रहा ठेकुवा
छठ पर्व पर चढ़ाया जाने वाला आटा, गुड़, घी, नारियल व अन्य सामग्रियों से तैयार ठेकुवा प्रसाद बनाने पूरे दिन घरों में महिलाएं जुटी रही। इसे काफी शुद्घता के साथ तैयार किया जाता है। गन्ने के मंडप के नीचे पूजा सामग्रियों के साथ प्रसाद के रूप में ठेकुवा की भी पूजा होती है।
महंगाई के
सितम पर नहीं रूके श्रद्धालुओं के कदम
पर्व को मनाने के लिए महंगाई अपना असर नहीं दिखा सकी। महंगाई होने के बावजूद श्रद्धालुओं की तैयारियां कम नहीं हुई। क्षमता के अनुसार लोगों ने पर्व की खरीदारी की और इसे मनाने का उत्साह खूब रहा। समय के साथ-साथ महंगाई का असर लोगों के जीवन पर जरूर पड़ रहा है लेकिन इसका असर छठ पर्व मनाने के लिए श्रद्धालुओं के उत्साह को कम नहीं कर सका। पूजन सामानों के अलावा अन्य सामानों के दाम आसमां छू रहे है बावजूद इसके खरीदारी खूब हुई।
छठ घाटों पर उमड़ी श्रद्घालुओं की भीड़
कोरोना संक्रमण काल के कारण पिछले वर्ष जहां काफी कम लोगों ने छठ व्रत किया था। वही इस वर्ष काफी संख्या में श्रद्धालुओं ने छठ का व्रत किया है। शहर के शंकरघाट स्थित छठ घाट पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ देखी गई। इसी तरह में घुनघुट्टा नदी में छठ के लिए हजारों की संख्या में श्रद्घालु पहुंचे। यहां नदी का लंबा पाट होने एवं श्याम घुनघुट्टा छठ समिति की पुख्ता व्यवस्था के कारण लोगों को छठपूजन में आसानी हुई।


Share