मनेन्द्रगढ़@विधायक डॉ. विनय जायसवाल ने राज्य के मुखिया से चर्चा कर निराकरण करने का दिया आश्वासन

81
Share

मनेन्द्रगढ़ 07 नवम्बर 2021(घटती-घटना)। विद्या मितान (अतिथि शिक्षक ) कल्याण संघ छत्तीसगढ़ के शिक्षको ने प्रभावित विद्यामितान (अतिथि शिक्षकों की पुनर्नियुक्ति) के संबंध में मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल को ज्ञापन देते हुए जल्द से जल्द निराकरण कराने की मांग रखी है जिसको लेकर विधायक श्री जायसवाल ने उपस्थित शिक्षकों को राज्य के मुखिया और शिक्षा मंत्री को अवगत करते हुए जल्द से जल्द निराकरण करने की बात कही है । कल्याण संघ छत्तीसगढ़ के शिक्षको ने अपने ज्ञापन में कहा कि हम समस्त विद्यामितान (अतिथि) शिक्षक विगत् 6 वर्षो से छ0ग0 प्रदेश के दूरस्थ बीहड़ एवं नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के शासकीय हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में शैक्षणिक सेवाएं प्रदान कर रहे है। इस शैक्षणिक सत्र में भी हम अपनी सेवाएं दे रहे हैं, किन्तु दुर्भाग्य से कोरिया के हमारे 26 शिक्षक साथियों को अब तक सेवा कार्य में नहीं लिया गया है। पूर्व की जानकारी अनुसार भारत सरकार की नई शिक्षा नीति अप्रैल 2022 से लागू होना प्रस्तावित है जिसमे प्रावधान किया गया है कि अप्रैल 2022 से अनियमित या संविदा शिक्षकों के पद समाप्त किए जाएंगे। राज्य की छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी ने अपने जन घोषणा पत्र में हम विद्यागितान (अतिथि) शिक्षकों के नियमितिकरण करने का वादा किया गया था । साथ ही साथ समय-समय पर छ0ग0 विधान सभा और मंत्री परिषद की बैठकों में भी विद्यामितान (अतिथि शिक्षकों के हितों का संरक्षण और सुरक्षित भविष्य की पहल की बात कही जाती रही है, किन्तु आज पर्यन्त इस सम्बन्ध में कोई कार्यवाही नहीं की गई। इस सम्बन्ध में आपने माध्यम से हम सभी छ0ग0 शासन का ध्यानाकर्षण करते हुए विद्यामितान (अतिथि) शिक्षकों के नियमितिकरण के लिए सार्थक पहल करेंगे, ऐसी हम सभी अपेक्षा करते है । और हम यह भी निवेदन करते है कि हमारे प्रभावित शिक्षक साथियों को यथाशीघ्र पदस्थापना दिलाने एवं साथ ही साथ नियमितिकरण कराने हेतु भी सार्थक पहल हो ।


Share