अम्बिकापुर@स्कूली बच्चों एवं स्वयं सहायता समूह द्वारा तैयार किए गए मिट्टी के आकर्षक दीपक

35
Share

अम्बिकापुर 28 अक्टूबर2021 (घटती-घटना)। महिला स्वयं सहायता समूह एवं स्कूली बच्चों के क्रिएटिव आईडिया द्वारा दीपावली के खास मौके पर आकर्षक एवं बेहद सुंदर दीपक बनाये गए हैं, भारत सरकार के योजना अनुरूप वोकल फ़ॉर लोकल के तहत कौशल विकास उद्दमित्ता मंत्रालय भारत सरकार की इकाई जन शिक्षण संस्थान एवं जिले की सामाजिक संस्था सरगुजा साइंस ग्रुप द्वारा स्थानीय स्तर पर दीपावली पर आकर्षक दीपक तैयार करा कर विक्रय कराई जा रही है। कौशल विकास एवं उद्दमित्ता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा महिलाओं को विभिन्न ट्रेड में अलग-अलग प्रशिक्षण उपलब्ध करा कर उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाने विभिन्न वस्तुओं के प्रशिक्षण दिए जा रहे हैं, जिससे वे उनका निर्माण कर आर्थिक रूप से सशक्त हो सकें और अपने पैरों पर खड़ा हो सकें।
इस दौरान स्कूली बच्चों एवं स्वयं सहायता समूह द्वारा तैयार मिट्टी के दीपक को काफी संख्या में प्रशिक्षणार्थियों ने क्रय किया और दीपावली पर उसका उपयोग करने की बात कही। इस दौरान सरगुजा साइंस ग्रुप एवं जन शिक्षण संस्थान ने 501 रुपये का 45 कलर दीपक, 5 मिट्टी के सामान्य दीपक, 5 गोबर के दीपक, मोमबत्ती, माचिस, चॉकलेट, शुभ-लाभ का स्टिकर, मीठा, मिख्र सहित विभिन्न आयटम का गिफ्ट पैक तैयार कर अधिकारी वर्ग, समाजसेवी, व्यापारी बंधुओं समेत कई लोगों को दिए जा रहे हैं, जिसके माध्यम से समूह की बहनों एवं स्कूली बच्चों की दीवाली में भी खुशियां बिखेरी जा सके। अब तक 22 लोगों ने सहयोग का हाथ बढ़ाया है, जिसके लिए गिफ्ट पैक तैयार की गई है, जन शिक्षण संस्थान एवं सरगुजा साइंस ग्रुप द्वारा अन्य लोगों से संपर्क किया जा रहा है, जन शिक्षण संस्थान के निदेशक एम सिद्दीकी ने बताया कि पिछले वर्ष हमने इसी तरह के प्रयास से 25,000 रुपये का सहयोग स्कूली बच्चों एवं महिला समूह को किया था। इस वर्ष हम लगभग 100 गिफ्ट पैक का विक्रय कर समाज के प्रतिष्ठित लोगों से सहयोग लेकर 50,000 रुपये महिला समूहों एवं स्कूली बच्चों तक पहुंचायेंगे ताकि उनके दीपावली का खर्च एवं अन्य छोटी जरूरतें पूरी हो सके।
दोनों ही संस्थायें काफी समय से जिले में विभिन्न ट्रेडों में महिलाओं को प्रशिक्षित कर उन्हें स्वरोजगार करने एवं आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का कार्य किया जा रहा है। सिलाई कढ़ाई, गोदना आर्ट, काष्ठकला, बेल मेटल, मिट्टी के बर्तन सहित अन्य निर्माण, टेरा कोटा, बम्बू क्राफ्ट, डिटर्जेंट पाउडर, फिनाईल, सैनेटरी पैड, अगरबत्ती, ब्यूटीपार्लर, सिलाई-कढ़ाई सहित विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षित कर महिलाओं एवं लड़कियों को सशस्क्त बना रहे हैं, जिसमें काफी संख्या में महिलाओं के द्वारा स्वरोजगार शुरू किया गया है। त्योहारों के सीजन में मांग के अनुरूप सामानों का निर्माण कर उसे बाजारों में विक्रय करा कर सिजनली कमाई करने अपने हुनर को प्रचारित कर प्रोडक्ट को मार्केट में उतारने का माध्यम दिया जाता है। जिससे काफी सहयोग इन्हें मिलता है। दीपावली के अवसर पर जन शिक्षण संस्थान अम्बिकापुर में गुरुवार, शुक्रवार एवं शनिवार अर्थात 28 से 30 अक्टूबर तक प्रदर्शनी सह विक्रय हेतु एक्जीबिशन लगाया गया है। इस दौरान जन शिक्षण संस्थान के निदेशक एम सिद्दीकी, सरगुजा साइंस ग्रुप के इंद्रजीत सिंह धंजल, अमित दुबे, राज सोनी, रमेश कुमार यादव, ट्रेनर वंदना मानिकपुरी, ट्रेनर निधि पांडेय, अंजुमाला तिर्की, आकाश मिश्रा, राकेश, जगेश्वर सहिंत काफी संख्या में प्रशिक्षार्थि उपस्थित थे।


Share