बैकु΄ठपुर@स्वास्थ्य विभाग में डीजल की अनाप शनाप पर्ची का खेल में शामिल कर्मचारी पर कार्यवाही कब?

147
Share

डीजल पर्चियों को लेकर सुर्खियों में बना है स्वास्थ्य विभाग

मामले में विभाग के सहायक ग्रेड 3 की भूमिका को लेकर कई बार उठ चुके सवाल

-रवि सिंह-

बैकु΄ठपुर 26 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। कोरिया जिले का स्वास्थ्य विभाग लगातार सुर्खियां बटोरता चला आ रहा है कोविड 19 के दौरान की खरीदी सहित व्यवस्था को लेकर शिकायतों का मामला रहा हो या डीजल पर्चियों को बेवजह जारी करने के कारनामे की बात हो विभाग के अधिकारियों द्वारा कुछ लिपिकों को विशेष कृपा प्रदान की गई हुई है और सभी की मिलीभगत से लगातार विभाग की छवि धूमिल हो रही है वहीं विभाग को लगातार आर्थिक क्षति भी पहुंचाने से ऐसे लिपिक जिनके पास मलाईदार शाखाएं हैं बाज नहीं आ रहें हैं। जिले के मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी की भी बात निराली है क्योंकि जबसे इनकी पदस्थापना जिले में स्वास्थ्य विभाग के मुखिया के तौर पर हुई है विभाग में नए नए कारनामे सुनाई देते आ रहें हैं वहीं लगातार शिकायतें भी सामने आ रहीं हैं लेकिन इनकी पहुंच व पकड़ की वजह से मामला बिना सुलझे ही खात्मे में डाल दिया जाता है। ताजा मामला बैकुंठपुर स्वास्थ्य विभाग के एक ऐसे लिपिक के कारनामे की है जो कई मलाईदार शाखाओं के प्रभार में है, एक सहायक ग्रेड 3 लिपिक के पास विभाग की अधिकांश ऐसी शाखाएं हैं जिनमे आर्थिक गड़बçड़यां की जा सकती हैं।
विभाग एक सहायक ग्रेड 3 लिपिक पर इतना भरोसा क्यों किया हुआ है जबकि पूर्व में भी इस लिपिक की शिकायत होती आ रही है वहीं विभाग में अन्य वरिष्ठ लिपिक भी पदस्थ हैं जिनके पास विभागीय शाखाओं की जिम्मेदारी नहीं है उन्हें क्यों नहीं जिम्मेदारी दी जा रही यह भी सवाल लगातार उठ रहा है लेकिन एक सहायक ग्रेड 3 की शाखाओं को कम करने की बजाए उसकी शिकायतों को भी विभागीय अधिकारी अनदेखा कर रहें हैं उसे संरक्षण दे रहें हैं। विभाग में इस सहायक ग्रेड 3 लिपिक के पास दवाई भण्डार गृह, ईंधन, सहित कई शाखाओं का अकेले प्रभार प्राप्त है। बताया जा रहा है कि लिपिक लगातार अनाप शनाप डीजल पर्चियां काटकर शासन सहित विभाग को लाखों रुपये का चूना लगाता आ रहा है वहीं स्वास्थ्य विभाग में इस तरह की स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार पर खर्च की जाने वाली राशि की बन्दरबांट कर रहा है और पूरे मामले में शिकायतों के बावजूद विभाग इस लिपिक के विरुद्ध कार्यवाही नहीं कर रहा है। इस लिपिक के पास दवाई भंडार गृह की भी जिम्मेदारी है जबकि उसके लिए फार्मासिस्ट की योग्यता अनिवार्य है जो कि इस लिपिक के पास नहीं है फिर भी लिपिक को भण्डार गृह की भी जिम्मेदारी दी गई है जबकि फार्मासिस्ट डिग्री धारी कर्मचारियों की उपलब्धता विभाग में है। फार्मासिस्ट को हटाकर इस लिपिक को दवाई भंडार गृह की जिम्मेदारी क्यों दी गई है यह भी एक बड़ा सवाल है।

लिपिक को सीएमएचओ का है संरक्षण प्राप्त

पूरे मामले में विभाग के ही कुछ लोगों का कहना है कि उक्त सहायक ग्रेड 3 लिपिक को सीएमएचओ साहब का संरक्षण प्राप्त है और पूरे मामले और शिकायतों के बावजूद सीएमएचओ साहब का उस लिपिक के प्रति लगाव क्यों कायम है यह सीएमएचओ साहब ही बता सकेंगे। वहीं कुछ लोगों का यह भी कहना है कि सीएमएचओ साहब सब कुछ जानते हुए अनजान बनकर लिपिक को संरक्षण प्रदान कर रहें हैं।

डीजल पर्चियां अनाप शनाप हैं काटी जा रही

विभाग से ही गुप्त रूप से मिली जानकारी अनुसार जिले के स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ लिपिक जिसके पास कई मलाईदार शाखाओं का प्रभार है के द्वारा डीजल की अनाप शनाप पर्चियां काटी जा रहीं हैं और विभाग सहित शासन को चुना लगाया जा रहा है। पर्चियां काटकर गाçड़यों का लाग बुक भरने की भी फुर्सत इस लिपिक के पास नहीं है वहीं बताया यह भी जा रहा है कि जांच होने पर बहोत बड़े स्तर की आर्थिक गड़बड़ी सामने आएगी यह तय है।

एक ही लिपिक के पास दवाई है भण्डार गृह सहित जन औषधि केंद्र का भी प्रभार

बताया यह भी जा रहा है कि तथाकथित साहयक ग्रेड 3 लिपिक के पास दवाई खरीदी व भण्डार गृह सहित जनऔषधि केंद्र की भी जिम्मेदारी है और इस विभाग की जिम्मेदारी एक फार्मासिस्ट को हटाकर इस लिपिक को दी गई है जो नियमानुसार गलत भी है। इन शाखाओं में भी भारी स्तर पर गड़बडी हुई है जिसकी जांच किये जाने पर सब कुछ खुलकर सामने आ जायेगा ऐसा भी विभागीय सूत्रों से ही जानकारी मिल रही है।

सूचना के अधिकार के तहत जानकारी देने में आनाकानी

स्वास्थ विभाग में डीजल की पर्ची, दवाई की खरीदी बिक्री सहित कई भ्रष्टाचार की पोल खोलने के लिए सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी जा रही है अपील पर अपील हो रहा है पर विभाग जानकारी देने को तैयार नहीं आखिर ऐसा क्या छुपा रहा है विभाग? यह तो जानकारी मिलने के बाद ही पता चलेगा मामला राज्य सूचना आयोग तक पहुंच चुका है अब देखना है कि जानकारी कब मिलती है।


Share