अम्बिकापुर @ लालमाटी के जंगलों में डटा है हाथियों का दल

42
Share

वन विभाग का पूरा टीम हाथियों का पीछा करते हुए कर रहा है उनकी निगरानी

अम्बिकापुर 26 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। सरगुजा संभाग में हाथियों का उत्पात जारी है। हाथियों का कई दल टुकड़ों में संभाग में विचरण कर रहा है। सरगुजा जिले की बात करें तो लुंड्रा ब्लॉक में हाथियों का दल उत्पात मचा रहा है। इसी बीच सोमवार की सुबह 27 से ज्यादा हाथियों का नया दल अंबिकापुर शहर से लगे गांव में डटे रहे। इस दौरान आसपास के क्षेत्रों में दहशत का माहौल रहा। इधर हाथियों पर निगरानी बनाए रखने के लिए वन अमले के साथ जिला प्रशासन व पुलिस की टीम भी डटी रही। डीएफओ पंकज कमल ने बताया कि देर शाम तक हाथियों का दल लालमाटी के जंगलों में विचरण कर रहा है। इनके पीछे वन विभाग के टीम अलग-अलग क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। वन विभाग के टीम द्वारा हाथियों के मुवमेंट के अनुसार गांव को भी खाली कराया जा रहा है। वहीं सड़क पर आने-जाने वाले लोगों को हिदायत दी जा रही है। अब तक किसी तरह का कोई जनहानी नहीं पहुंचाया है। हाथियों का दल वितरण के दौरान धान के फसल को रौंद दे रहे हैं। आसपास के जंगलों में भ्रमण करती रही। वन विभाग के अनुसार हाथियों द्वारा अब तक किसी तरह की जनहानि का नुकसान नहीं पहुंचाया है। वन विभाग की पूरी टीम अभी भी हाथियों के पीछे लगी हुई है। जिस क्षेत्र में हाथियों का दल गुजर रहा है उस क्षेत्र के लोगों को वन विभाग द्वारा सतर्क किया जा रहा है। ताकि किसी को कोई नुकसान ना हो सके।
गौरतलब है कि 27 से ज्यादा हाथियों का दल उदयपुर लखनपुर क्षेत्र से होते हुए अंबिकापुर शहर के काफी नजदीक पहुंच चुकी थी। हाथियों का दल अंबिकापुर-बिलासपुर मार्ग पर शहर से लगे ग्राम लब्जी से होते हुए सुंदरपुर फूटामुड़ा तालाब के पास सुबह सात बजे पहुंचे। यहां के ग्रामीणों की नजर हाथियों के एक बड़े दल नजर पड़ते हड़कंप मच गया। वन विभाग व जिला प्रशासन की टीम पहुंचकर इस गांव को खाली कराया गया। इसके बाद हाथी धीरे-धीरे अंबिकापुर बिलासपुर मार्ग स्थित सांडबर बैरियर के समीप से होते हुए जगदीशपुर पहुंचे। इसके बाद यहां से देर शाम को हाथियों ने दरिमा रोड होते हुए चंद्रा की ओर निकल पड़े। मंगलवार को पूरे दिन हाथियों का दल चंद्रा के आसपास के जंगलों में विचरण करती रही। हाथियों के पीछे वन विभाग का पूरा टीम अभी भी लगा हुआ है।


Share