बैकु΄ठपुर@कालरी के श्रमिक नेताओं पर आखिर कब करेगा एसईसीएल प्रबंधन कार्यवाही

283
Share

श्रमिक नेता नौकरी तो कर नहीं रहे,बशर्ते राजनीतिक दलों में नेतागिरी जरूर कर रहे

एसईसीएल चेयरमैन सहित चिरिमिरी क्षेत्रीय महाप्रंबधक आखिर क्यों डर रहें हैं कार्यवाही करने से

रवि सिंह-

बैकु΄ठपुर 04 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। चिरमिरी कोरिया कालरी क्षेत्र के आरटीआई एक्टिविस्ट सत्यपूजन मिश्रा ने फिर एकबार कालरी क्षेत्र में नौकरी के नाम पर केवल वेतन उठाने वाले श्रमिक नेताओं के राजनीतिक दलों का पदाधिकारी बनकर खुलेआम नेतागिरी करने को लेकर बयान देते हुए कहा है कि चिरिमिरी कालरी क्षेत्र के कई श्रमिक नेता जिसमें बजरंगी शाही सहित सुभाष मिश्रा के नाम शामिल हैं केंद्र शासन के अधीन आने वाले उपक्रम एसईसीएल में नौकरी करते हुए राजनीतिक दलों में भी पदाधिकारी बनकर काम किया जा रहा है और खुले आम राजनीतिक मंचो पर जाकर राजनीतिक कार्यक्रमों में भाग लिया जा रहा है जो कि शासकीय कर्मचारियों के संदर्भ में गलत है और नियमों अनुसार ऐसा किया जाना नौकरी की शर्तों अनुसार भी गलत है जबकि ऐसे श्रमिक नेता लगातार अपना पदीय दायित्व छोड़कर खुलेआम नेतागिरी कर रहें हैं और एसईसीएल से तनख्वाह के रूप में बिना काम किये ही मासिक रूप से मोटी रकम उठा रहें हैं जिससे एसईसीएल को आर्थिक क्षति भी हो रही है वहीं यह उन एसईसीएल कर्मचारियों के हक़ के और उनके मेहनत को भी चिढ़ाने जैसा है जो कड़ी मेहनत करके एसईसीएल को कोयला उत्पादन कर करोडों की आय अर्जित करने में मदद कर रहें हैं वहीं कुछ श्रमिक नेता खुद श्रमिको का हितैसी बनकर बैठे बैठे तनख्वाह उठा रहें हैं। आरटीआई एक्टिविस्ट सत्यपूजन मिश्रा ने कहा कि लगातार शिकायत उनके द्वारा एसईसीएल प्रबंधन को की जा रही है लेकिन बड़े श्रमिक संगठन के नेता होने की वजह से ऐसे नेताओं के विरुद्ध कार्यवाही करने से एसईसीएल प्रबंधन भी कतरा रहा है डर रहा है और उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे श्रमिक नेताओं के विरुद्ध कार्यवाही होने तक वह शांत भी बैठने वाले नहीं वह शिकायत करते ही रहेंगे।

रिश्तेदारों की गाडि़यों से भी अवैध परिवहन का मामला है जांच के दायरे में

आरटीआई एक्टिविस्ट सत्यपूजन मिश्रा ने कहा कि चिरिमिरी क्षेत्र के श्रमिक नेता के रिश्तेदार की गाçड़यों से अवैध कोयले के परिवहन का मामला भी सामने आया था जिसकी जांच सीबीआई करे यह भी शिकायत और मांग की गई है जिसको लेकर आगे और तेजी से कार्यवाही की मांग उनकी तरफ से की जाएगी।

केवल वेतन उठाने हैं श्रमिक,श्रमिक मेहनत से प्रबंधन को पहुंचा रहे लाभ

आरटीआई एक्टिविस्ट सत्यपूजन मिश्रा ने कहा है कि एसईसीएल चिरिमिरी क्षेत्र के श्रमिक नेता नाम मात्र के श्रमिक हैं वह केवल वेतन लेना जानते हैं काम से प्रबंधन के फायदे से उनका कोई लेना देना नहीं है वह अपनी नेतागिरी केवल श्रमिकों के नाम पर चमका रहें हैं जबकि जिनके नाम से यह श्रमिक नेता का ओहदा रखते हैं उन श्रमिकों को भी यह धता बताने से बाज नहीं आ रहे हैं,एक तरफ मेहनतकश श्रमिक मेहनत से प्रबंधन को लाभ पहुंचा रहा है और एकतरफ ऐसे श्रमिक नेता बैठे बैठे तनख्वाह उठा रहें हैं।

कार्यवाही करे एसईसीएल प्रबंधन

आरटीआई एक्टिविस्ट सत्यपूजन मिश्रा ने कहा है कि एसईसीएल प्रबंधन ऐसे श्रमिक नेताओं पर कार्यवाही करे जरूरत पड़ने पर सभी साक्ष्य भी प्रस्तुत किये जायेंगे।


Share