16
Share


सीटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध कराने की घोषणा


रायपुर,03 अक्टूबर 2021 (ए)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बेमेतरा प्रवास के दूसरे दिन रविवार को जिले को चिकित्सा सुविधा की बड़ी सौगात दी। मुख्यमंत्री ने जिला अस्पताल परिसर में एक करोड़ एक लाख रूपए की लागत से स्थापित 500 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण करने के साथ ही वहां डायलिसिस सुविधा का भी शुभारंभ किया।
आज हुए लोकार्पण से बेमेतरा जिला चिकित्सालय में डायलिसिस सुविधा की पुरानी मांग पूरी हो गई है। अस्पताल में ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले गंभीर रोगियों को अब सहजता से ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकेगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जिला चिकित्सालय बेमेतरा में सीटी स्कैन मशीन भी लगाए जाने की घोषणा की। इस अवसर पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, बेमेतरा विधायक आशीष छाबड़ा सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
सीधे वार्डों में होगी ऑक्सीजन की आपूर्ति
बेमेतरा जिला चिकित्सालय में स्थापित इस ऑक्सीजन प्लांट से 500 लीटर प्रति मिनट की दर से शुध्द ऑक्सीजन की आपूर्ति सीधे वार्डों में किए जाने का सिस्टम तैयार किया गया है। इस ऑक्सीजन प्लांट में अत्याधुनिक वैक्यूम प्रेशर सीव एड्सॉरर्बशन मशीन लगाई गई है, जो हवा में मौजूद अवांछित गैसों को छान कर शुध्द ऑक्सीजन बनाता है। यहां 3000 लीटर तक भंडारण क्षमता का टैंक भी स्थापित किया गया है, जिससे ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित न हो। संयत्र के सुचारू संचालन व ऑक्सीजन संयंत्र में विघुत अवरोध की स्थिति में प्रबंधन के लिए ध्वनिरहित बिजली जेनरेटर भी लगाया गया है।
मरीजों को सुविधाएं उपलब्ध
मुख्यमंत्री ने जिला चिकित्सालय को डायलिसिस यूनिट प्रदान करने के लिए लायंस क्लब बेमेतरा की सराहना करते हुए कहा कि लायंस क्लब ने सेवा का उत्कृष्ठ उदाहारण पेश किया है। उन्होंने कहा कि एक समय डायलिसिस की सुविधा के लिए मरीजों को दिल्ली, मुम्बई जैसे बड़े शहरों में जाना पड़ता था, कई लोग इन सुविधाओं से वंचित रह जाते थे। मगर अब जिलों में डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध होने लगी है और गरीब से गरीब व्यक्ति भी इसका लाभ ले सकते है।
दूसरे प्रदेशों को भी छत्तीसगढ़ ने पहुंचाया ऑक्सीजन ष्टरू भूपेश
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि ऑक्सीजन प्लांट, डायलिसिस मशीन व सीटी स्कैन की सुविधा से अस्पताल में इलाज की व्यवस्था बेहतर होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान हमने ऑक्सीजन की महत्ता को और भी बेहतर तरीके से समझा है। वैश्विक महामारी कोविड-19 में छत्तीसगढ़ में जहां-जहां ऑक्सीजन की कमी हुई, वहां 19 हजार 500 ऑक्सीजन सिलेंडरों के माध्यम से त्वरित रूप से ऑक्सीजन पहुंचाने का काम किया गया।
वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ ने ऑक्सीजन की किल्लत झेल रहे मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र सहित पंजाब, राजस्थान और दक्षिण भारत के राज्यों को भी ऑक्सीजन की सप्लाई की। मुख्यमंत्री ने बेमेतरा जिले में कोरोना महामारी के नियत्रंण में डॉक्टरों सहित अन्य मेडिकल स्टाफ, समाजिक संगठन व नागरिकों के योगदान की सराहना की।


Share