इस बार भी नवरात्रि में बाहर से होंगे देवी के दर्शन

189
Share


दुर्गा पंडालों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का नहीं होगा आयोजन,शांति समिति की बैठक सम्पन्न

अम्बिकापुर 03 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। कोरोना संक्रमण से बचाव को दृष्टिगत रखते हुए इस वर्ष भी नवरात्रि में मंदिरों में देवी दर्शन एवं ज्योत दर्शन बाहर से और ऑनलाइन होगी। भक्तों को गर्भ गृह में जाने की इजाजत नहीं होगी। मंदिरों एवं पंडालों में भंडारा और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन नही होगा। यह निर्णय रविवार को कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा की अध्यक्षता में आयोजित शांति समिति की बैठक में एकमत से ली गई। बैठक में ईद-मिलाद-उन्नवी त्यौहार शांति पूर्वक एवं कोविड गॉइडलाइन का पालन करते हुए मनाने का निर्णय लिया गया।
कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने कहा कि वर्तमान में जिले में कोविड का संक्रमण थमा है लेकिन समाप्त नही हुआ है। इसे देखते हुए नवरात्रि, दशहरा और मिलाद-उन्ननवी का त्यौहार में सभी धर्मावलंबियों, जनप्रतिनिधियों और गणमान्य नागरिकां के सुझाव के अनुसार प्रशासन सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार थोड़ी ढील रहेगी लेकिन नियंत्रण भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि मंदिरों और पंडालों में में सैनिटाइजर और मास्क का उपयोग जरूरी रखें। मंदिर एवं पण्डाल में एक पात्र में सिन्दूर रहेगा उससे टीका श्रद्धालु स्वयं लगाएंगे। रक्षासूत्र पुजारी के द्वारा बंधवा सकते हैं। प्रसाद दोना या पैकेट में वितरण कर सकेंगे। कलेक्टर ने कहा कि यदि किसी स्थान पर कोविड केस मिलते है और कंटेन्मेंट जोन बनाने की स्थिति आती है तो उस क्षेत्र में कार्यक्रम को सीमित करना होगा। पुलिस अधीक्षक श्री अमित तुकाराम काम्बले ने कहा कि सभी मंदिर एवं पंडाल समितियो सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में अपनी जरूरतें बतायेगे उसकी अनुसार माइक्रो प्लानिंग कर व्यवस्था दुरुस्त किया जयेगा। उन्होंने सडीएम, नगर निगम आयुक्त एवं सभी समिति के सदस्यों की एक बैठक आयोजित करने कहा ।

डीजे बजाने पर होगी कार्यवाही

बैठक में शहर में तेज आवाज से डीजे बजाने को गंभीरता से लिया गया तथा इस पर सख्त कार्यवाही के लिए अब सीधे जब्ती की कार्यवाही करने करने एसडीएम को निर्देशित किया गया। इसी प्रकार मोटरसाईकल में तेज आवाज वाले साइलेंसर पर भी कार्यवाही की जाएगी।

सफाई के लिए तैनात रहेगी विशेष टीम

मंदिरों एवं दुर्गा पंडालों में सफाई की विशेष व्यवस्था के लिए इस बार नगर निगम अलग से विशेष सफाई टीम तैनात करेगी। ये टीम 4 शिफ्ट में काम करेगी। प्रत्येक मंदिर और पंडाल में इसकी तैनाती रहेगी। मंदिर और पंडाल में डस्ट बीन रखना होगा ताकि कूड़े न बिखरे।

रावण दहन कलाकेंद्र मैदान में होगी

इस बार सीमित रूप में रावण दहन का कार्यक्रम कला केंद्र मैदान में होगा। समिति के सभी सदस्यों ने इस पर भी सहमति जताई। इसके लिए नगर निगम को स्थान आरक्षित कर साफ सफाई की जिम्मेदारी दी गई। मूर्ति विसर्जन में लिए रूट और स्थान होगा निर्धारित बैठक में दुर्गा प्रतिमा की व्यवस्थित विसर्जन के लिए रूट एवं तालाब का निर्धारण करने पर भी चर्चा की गई। इसके लिए नगर निगम को एक निश्चित रूट और विसर्जन कुंड चिन्हांकित करने की जिम्मेदारी दी गई।
बैठक में महामाया मंदिर समिति, दुर्गा मंदिर समिति काली मंदिर समिति ,समलाया मंदिर समिति तथा विभिन्न पंडाल समिति के सदस्यों ने अपनी बातें रखी। अंजुमन कमेटी के सचिव श्री इरफान सिद्दीकी ने बताया कि 18 अक्टूबर को ईद मिलाद उन्नवी का त्योहार मनाया जाएगा। इस बार कोविड सुरक्षा का पालन करते हुए कोई जुलूस नही निकली जाएगी।
बैठक में बीस सूत्रीय कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष श्री अजय अग्रवाल, पार्षद द्वितेन्द्र मिश्रा, आलोक दुबे, दीपक मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री एएल धु्रव, श्रीमती तनुजा सलाम, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विवेक शुक्ला, सीएसपी श्री पुष्कर शर्मा, एसडीएम श्री प्रदीप साहू, नगर निगम आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय, अनुराग सिंहदेव, रामचन्द्र स्वर्णकार, कर्ताराम, कैलाश मिश्रा सहित अन्य गणमान्य नागरिक एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


Share