सरगुजा क्षय उन्नमूलन कार्यक्रम के अन्तर्गत सघन टीबी खोज अभियान की समीक्षा

28
Share

अम्बिकापुर 02 अक्टूबर (घटती-घटना)। राष्ट्रीय क्षय उन्नमूलन कार्यक्रम के तहत् 10 सितम्बर 2021 से चल रहे घर-घर क्षय रोग खोज अभियान के निरीक्षण हेतु राज्य स्तरीय सर्वेक्षण दल के प्रतिनिधि निशांत मेश्राम द्वारा क्षेत्र भ्रमण व कार्यों की समीक्षा ली गयी। समीक्षा में संभावित क्षय मरीजों की जांच शत प्रतिशत करने व व्यापक प्रचार-प्रसार की आवश्यकता पर जोर दिया गया। क्षय रोग को पहचानने हेतु ट्रुनॉट मशीन द्वारा जांच व नियत समय तक नियमित दवाई खाने हेतु मरीज को काउन्सलिंग करने के लिये निर्देशित किया गया। क्षय रोग हवा से फैलने वाला संक्रामक बिमारी के साथ-साथ जानलेवा बिमारी भी साबित होता है। अतः ऐसा वर्ग विशेष जिसमें क्षय रोग होने की संभावना होती है। खाँसी होने पर बलगम जॉच टूनॉट मशीन से अवश्य कर लेना चाहिये। इन विशेष वर्ग में एचआईव्ही या एड्स संक्रमित मरीज धुम्रपान करने वाला मरीज, डायबिटीज से प्रभावित मरीज कोविड़ संक्रमण से प्रभावित मरीज. कीमोथेरेपी या कैंसर रोगी व कुपोषित या दुर्बल मरीज शामिल है।10 सितम्बर 2021 से चल रहे घर-घर क्षय रोग खोज अभियान में अभी तक कुल 524285 लोगो की स्कि्रनिंग की गई, जिसमे 918 संभावित टीबी के मरीज पाये गये।


Share