डॉयल 112 के आरक्षक पर 8 लोगों ने किया हमला,7 गिरफ्तार,एक फरार

45
Share

अम्बिकापुर 29 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। थाना दरिमा के अंतर्गत ग्राम करजी में बीती रात लगभग 9:00 बजे मारपीट की एक घटना के दौरान मौके पर पहुंचे डायल 112 के आरक्षक पर 8 लोगों द्वारा हमला कर देना के मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सात आरोपियों को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेज दिया है। एक अन्य आरोपी की सरगर्मी से पुलिस तलाश कर रही है। पूरी कार्रवाई पुलिस अधीक्षक सरगुजा के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरगुजा विवेक शुक्ला के नेतृत्व में की गई है।
जानकारी के अनुसार दुर्गेश राजवाडे पिता प्रीतम राजवाडे उम्र 31 साल थाना दरिमा ने रिपोर्ट दर्ज कराया था कि उसकी 27 सितंबर को रात्रि 9 बजे से दिनांक 28 सितंबर के प्रातः 8 बजे तक डायल 112 में डयूटी थी। रात्री करीब 1.56 बजे ग्राम महुआ टिकरा में झगड़ा विवाद का इवेंट आया। तब वह वाहन चालक ओम प्रकाश दुबे के साथ वाहन 112 से ग्राम महुआटिकरा पहुंचा। सरपंच के घर पास कुछ लड़के थे जो करजी निवासी अंकुश को मारपीट कर रहे थे। डायल 112 के आरक्षक द्वारा क्यों मारपीठ कर रहे हो कोई बात हो तो थाना रिपोर्ट करो कहकर मारपीट करने से मना किया गया। क्या कहते हैं आक्रोशित युवक तुम कौन होते हो छुडाने वाले कहकर एक राय होकर गाली गलौच करते जान से मारने की धमकी देकर गाडी से खींचकर उतार लिए एवं हाथ मुक्का लात से मारपीट की। मामले में पुलिस ने धारा 29,4 506 ,147, 149 ,186, 353 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी नितिश पिता अधीश सिंह उम्र 21 साल, नरेश पिता मीन प्रसाद सिंह उम्र 20 वर्ष, अशीष कुमार सिंह पिता अधीश उम्र 25 साल, तीनों निवासी महुआटिकरा, बासु पिता नली सिंह उम्र 25 साल सा कुम्हरता, अमित सिंह पिता उनउ धारी सिंह उम्र 19 साल , सुदर्शन पिता टकेश्वर सिंह उम्र 20 साल, अर्जून पिता अनिल प्रसाद उम्र 24 साल तीनो निवासी महुआटिकरा थाना दरिमा को तलाश कर आरोपीयों के विरुद्ध अपराध सिद्ध पाये जाने से 28 सितंबर को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। जिन्हें न्यायालय के आदेश पर जेल दाखिल किया है। प्रकरण के एक आरोपी फरार है। जिसका सरगर्मी से तलाश किया जा रहा है। उक्त कार्यवाही में उप निरी रामनगीना यादव, सउनि अनिल पाण्डेय, आरक्षक दिनेश मिज, नीरज पाण्डेय, डॉक्टर सिह सिदार, दिलीप मिज सहित थाना स्टाप की अहम भूमिका रही।


Share