मुख्यमंत्री भूपेश की दो टूक,बच्चियों से बर्बरता बर्दाश्त नहीं

82
Share


हॉस्टल का रैंडम चेकिंग करने कलेक्टर-एसपी को सख्त निर्देश


रायपुर,27 सितम्बर 2021 (ए)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जशपुर जिले के छात्रावास में घटी अप्रिय घटना पर कड़ा रुख अपनाते हुए सभी जिले के कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को अपने जिले के अंतर्गत समस्त छात्रावासों के समय-समय पर आकस्मिक निरीक्षण के निर्देश दिए हैं।
दरअसल,बीते दिनों जशपुर के समर्थ दिव्यांग छात्रावास में हुए अनाचार को लेकर प्रदेश में सियासत चरम पर है। वहीं सरकार ने भी घटना के बाद अधिकारी और कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई की है।
गौरतलब है कि 22 सितंबर को जशपुर के समर्थ दिव्यांग केंद्र का केयर टेकर राजेश राम और चौकीदार नरेंद्र भगत शराब के नशे में धुत थे। दोनों ने मूक-बधिर बच्चों से मारपीट और अश्लील हरकतें की थी। मामलें में चौकीदार नरेंद्र पर एक 15 साल की एक बच्ची से दुष्कर्म के आलावा पांच अन्य बच्चियों से यौन उत्पीड़न की बात भी सामने आई है। हालांकि इस मामलें में पुलिस जाँच कर रही है।


मुख्यमंत्री भूपेश ने जताई नाराजगी


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जशपुर की घटना से काफी खफा हैं। उन्होंने सभी जिला कलेक्टरों को शासकीय छात्रावासों के निरीक्षण के लिए जिला शिक्षा अधिकारी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास सहित अन्य वरिष्ठ जिला स्तरीय अधिकारियों की ड्यूटी लगाने के कड़े निर्देश दिए हैं। निरीक्षण के दौरान निरीक्षणकर्ता अधिकारी छात्रावास में रहने वाले बच्चों से बातचीत कर छात्रावास में संचालित गतिविधियों से संबंधित फीडबैक लेकर रिपोर्ट में प्रस्तुत करने भी कहा गया है।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने त्वरित कार्रवाई के दिया निर्देश


मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा कि निरीक्षण में यदि शासकीय छात्रावासों में कार्यरत किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को अपने कर्तव्यों के निर्वहन में लापरवाही करते हुए पाया जाता है या अनैतिक गतिविधियो में संलिप्तता पाई जाती है, तो सम्बन्धित अधिकारी या कर्मचारी के विरुद्ध निलंबन/एफआईआर आदि की त्वरित कार्रवाई की जानी जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने कर्तव्य निर्वहन में लापरवाही बरतने वाले या अनैतिक गतिविधियो में शामिल अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी कारवाई सुनिश्चित की जाए जिस से अप्रिय घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो।


Share