गेवरा कोल माइंस में एक बार फिर बड़ा हादसा

57
Share


धू-धूकर जलने लगा 240 टन का डंपर

राजा मुखर्जी-

कोरबा 24 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। कोल इंडिया के अधीन नवरत्न कंपनी में शुमार एसईसीएल की गेवरा कोल माइंस में एक बार फिर बड़ा हादसा हुआ शुक्रवार देर रात खदान में कोयला खनन में लगे 240 टन क्षमता वाले डंपर क्रमांक 1085 में भीषण आग लग गई. डंपर में आग लगने के कारणों का अब तक पता नहीं चल पाया है, लेकिन माना जा रहा है कि इस अगलगी से एसईसीएल को करोड़ों का नुकसान हुआ होगा. इस घटना ने एक बार फिर से खदान के भीतर सुरक्षा उपायों की पोल खोल कर रख दी . जिस डंपर में भीषण आग लगी , वह कैटरपिलर नाम की निजी कंपनी की है. घटना के वक्त डंपर ऑपरेटर केके श्रीवास इसे अपनी शिफ्ट में ऑपरेट कर रहे थे. जिस समय यह घटना हुई, उस समय डंपर में कोयला लोड था. यह कोयला डंपिंग यार्ड की ओर जा रहा था. इसी दौरान डंपर के इंजन से एक चिंगारी फूटी और देखते ही देखते डंपर में भीषण आग लग गई. जबकि ऑपरेटर ने किसी तरह आनन-फानन में नीचे कूदकर अपनी जान बचाई. घटना की सूचना मिलने के बाद खदान के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. फिर पानी टैंकर के जरिये आग पर काबू पाया गया.आग लगने की आशंका शॉर्ट सर्किट से जताई जा रही है कि डंपर में शॉर्ट सर्किट से आग लगी होगी. डंपर की नियमित तौर पर जांच होने के बाद भी
आगलगी सुरक्षा के इंतजामों में चूक की तरह देखा जा रहा है. घटना के वक्त डंपर में लगे अग्निशमन यंत्र भी काम नहीं कर रहे थे. 240 टन क्षमता के डंपर बड़े पैमाने पर खदान के भीतर कोयला उत्खनन का काम लिया जाता है जिस की कीमत करोड़ों में होती है.


Share