कांग्रेस में आपसी गुटबाजी चरम पर,एक दूसरे को पछाड़ने का अभियान जारी

285
Share


क्षेत्रीय नेताओं की उन्ही के क्षेत्र में की जा रही है अवहेलना,मामला जनपद सदस्य और कांग्रेस के जिला पदाधिकारी को कार्यक्रम से दूर रखने का

रवि सिंह –


बैकु΄ठपुर 23 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। विधानसभा बैकुंठपुर में कांग्रेस की राजनीति विपक्ष के खिलाफ न चलकर अपने ही दल के जनप्रतिनिधियों को हाशिये पर डालने वाली चल रही है वहीं अब तो हालात यहां तक बन चुके हैं कि कांग्रेस के ही नेताओं को उनके ही क्षेत्र में मात देने का खेल जारी हो गया है। ताजा मामला 22 सितंबर 2021 का है जिसमें पटना क्षेत्र के ग्राम करहियाखांड में कबड्डी प्रतियोगिता का समापन कार्यक्रम आयोजित था और करहियाखांड से बिल्कुल लगे हुए ग्राम पंचायत के रहने वाले कांग्रेस के जिला महामंत्री बिहारी लाल राजवाड़े को समापन कार्यक्रम में नहीं बुलाया गया वहीं बताया जा रहा है इसके लिए बाकायदा आयोजन समिति को मना भी किया गया था कि बिहारी लाल राजवाड़े की उपस्थिति तय ना होने पाए।
बिहारी लाल राजवाड़े क्षेत्र के कद्दावर नेता हैं वहीं वह जनपद बैकुंठपुर के निर्वाचित सदस्य के नाते जनाधार रखने वाले भी नेता हैं ऐसे में उनको उनकी ही पार्टी की विधायक की उपस्थिति वाले कार्यक्रम से दूर रखने को लेकर अब चर्चाओं का बाजार गर्म है वहीं खुद बिहारी लाल राजवाड़े भी पूरे मामले को लेकर व्यथित हैं जो उनकी सोसल मिडीया पोस्ट से भी समझ मे आ रहा है। पटना क्षेत्र में बिहारी लाल राजवाड़े वैसे भी बड़े जनाधार के नेता माने जाते हैं वहीं उनकी क्षेत्र में हर किसी के सुख दुख में उपस्थिति से भी क्षेत्र की जनता से उनका बेहतर लगाव बना रहता है, क्षेत्र की जनता भी बिहारीलाल राजवाड़े को अपने बीच आयोजित होने वाले हर सार्वजनिक व पारिवारिक कार्यक्रमों में आमंत्रित करती है वहीं उनकी उपस्थिति अपने बीच पाकर जनता उनसे अपनापन भी महसूस करती है, ऐसे में उन्ही के गृहग्राम क्षेत्र में आयोजित कार्यक्रम में उनको आमंत्रित नहीं किये जाने का विषय अब क्षेत्र की जनता और उनके चाहने वालों को भी नागवार गुजर रही है और इस पूरे मामले को लेकर आमजनों की नाराजगी भी सामने आ रही है।

जनपद सदस्य की उन्ही के जनपद क्षेत्र में अनदेखी

बैकुंठपुर जनपद पंचायत क्षेत्र क्रमांक 20 जिसके सदस्य के रूप में बिहारीलाल राजवाड़े निर्वाचित हैं में बरदिया,कटोरा,करहियाखांड, सावारावां ग्राम शामिल हैं,कबड्डी समापन कार्यक्रम में करहियाखांड ग्राम में ही क्षेत्रीय विधायक की उपस्थिति में आयोजन किया गया, जनपद सदस्य साथ ही कांग्रेस के जिला महामंत्री बिहारीलाल राजवाड़े का गृहनिवास भी कार्यक्रम स्थल से चंद कदम ही दूर था ऐसे में उन्हें कार्यक्रम में आमंत्रित नहीं किये जाने को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं, बताया जा रहा उनकी कार्यक्रम से दूरी बनाए रखने सख्त निर्देश आयोजकों को प्राप्त था इसलिए आयोजक चाहकर भी उन्हें आमंत्रित करने से परहेज करते दिखे वहीं आयोजकों को खुद यह बात सही नहीं लगी लेकिन ऊपर के निर्देश के कारण उन्हें ऐसा करना पड़ा।

अनदेखी…नुकसान का कारण भी बन सकती है


बिहारीलाल राजवाड़े जनाधार वाले नेता हैं, वह अपने क्षेत्र सहित बैकुंठपुर विधानसभा क्षेत्र में भी परिचय के मोहताज नहीं, उनकी सामाजिक साथ ही सभी वर्गों के आमजनों से जुड़ाव को नजरअंदाज करना कांग्रेस को भविष्य में भारी नुकसान पहुंचा सकता है। कांग्रेस में जिला महामंत्री का दायित्व साथ ही क्षेत्र से निर्वाचित जनप्रतिधि की अनदेखी कहीं न कहीं भले ही उनके जनाधार को कमजोर करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है लेकिन पार्टी में ही शामिल बिहारिलाल राजवाड़े ऐसा भी नहीं है कि इतनी जल्द किनारे लग जाएं। वह सदैव शुरू से जुझारू रहें हैं और एक आम कृषक व सामान्य जीवनचर्या से जुड़े होने की वजह से जनाधार शून्य की स्थिति में नहीं जा सकते।

समर्थकों में भी निराशा और आक्रोश

बिहारिलाल राजवाड़े को किनारे लगाने की जुगत को भांपकर अब उनके समर्थक आक्रोशित भी है और उनके मन मे निराशा भी है, समर्थकों का कहना है कि हम अपने क्षेत्र के जनप्रतिधि अपने नेता का साथ नहीं छोड़ सकते भले ही हमे किसी तरह का लालच दिया जाय। हम बिहारिलाल राजवाड़े के साथ हैं और रहेंगे। समर्थकों का यह भी कहना है कि बिहारिलाल राजवाड़े को किनारे लगाने की सोचने वालों को क्षेत्र की जनता किनारे लगाएगी और यह अब वक्त तय करेगा कि कौन किनारे लगता है।


Share