प्रशासन क्यों मेहरबान है भू-माफियाओ पर?

135
Share

राजेन्द्र शर्मा-


खड़गवां 22 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। विकास खण्ड खडगवा के आसपास के ग्राम पंचायतों में भू-माफियाओं की सक्रियता दिनो दिन बढ़ती जा रही जिसके कारण आम लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है कटकोना ग्राम पंचायत में भू-माफिया सरकारी जमीनों को भी नहीं छोड रहे हैं सडक के किनारे कि जमीनों पर अतिक्रमण कर सरकारी जमीन कि खरीदी बिक्री कि जा रही है और राजस्व का प्रशासनिक अमला इनके खिलाफ कोई कार्यवाही करने की जरूरत ही नहीं समझता है या कार्यवाही करना ही नहीं चाहता है इससे इन भू-माफियाओं मनोबल और बढ़ता जा रहा है। इनके द्रारा सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने के बाद उस जमीन का पट्टा भी बन जा रहा है और सरकारी जमीन को अतिक्रमण के बाद दूसरे को पट्टा होने का हवाला देकर जमीन को बेचा जा रहा है जी हां, क्षेत्र में बिना रजिस्ट्रेशन के जमीनों को खरीदने वाले भू-माफियाओं की। इनकी वजह से जमीन के दाम आसमान छूने लगे हैं। इसकी वजह से गरीब तबके के लोग जमीन खरीदना तो दूर जमीन खरीदने के बारे में सोच नहीं सकते। यह भू माफिया इतने सक्रिय है कि जमीन विक्रेताओं के पास पहुंच जाते हैं और रेट पूछने के बाद उसको खरीद लेते हैं। कभी-कभी तो ये भू-माफिया जमीन विक्रेताओं को भूमि बेंच देने के लिए विवश करते हैं। उसमें वे मनमाना कमीशन भी ऐंठते हैं। आश्चर्यजनक तो यह है कि यह भू माफिया अपने काम को खुलेआम अंजाम दे रहें हैं। प्रशासनिक अधिकारी उनके समस्त क्रिया कलापों के जानने के बाद भी इनके खिलाफ कोई कार्यवाही न करके चुप्पी साधे हुए हैं। इससे इनका मनोबल और बढ़ता जा रहा है और साधारण सी जमीन का दाम सोने के मूल्य के बराबर हो गया है। इस संबंध में ग्राम पंचायत के सरपंच से जानकारी चाही तो उन्होंने ने कहा कि मुझे भी इसकी जानकारी है मैंने ये चर्चा गांव से सुनी है। इस संबंध में हल्का पटवारी से जानकारी चाही तो उन्होंने कहा कि बात सुनने में आ रही है वैसे अतिक्रमण धारीओ ने उच्च अधिकारियों से दो दिन का समय मांगा है।


Share