गरियाबंद @ प्रकृति की अनुपम छटा समेटे कांदा डोंगर को अब तक नहीं मिला ऐतिहासिक पर्यटन स्थल का दर्जा

Share


गरियाबंद ,14 अक्टूबर 2021 (ए)।सुप्रसिद्ध कांदा डोंगर अपने अपार प्रकृति के सौंदर्य से भरा है चारों तरफ खुदरत अनूपम छटा से भरपूर अपने अंदर अपार संभावनाएं को समेटे हुए क्षेत्र के आधार स्तंभ की भांति सदियों से विराजमान हैं तो वहीं दूसरी ओर कांदा डोंगर में सैलानियों के लिए पर्यटन दृष्टिकोण से अद्वितीय शानदार मनोरम दृश्य बरबस ही लोगों को अपनी ओर खींच लाता है।
इसके अलावा आध्यात्मिक दृष्टिकोण से भी कांदा डोंगर प्रख्यात है इलाके के सैकड़ो देवी देवताओं के गढ़ भी कहा जाता है कांदा डोंगर में न सिर्फ प्रकृति की सुंदर छवि है बल्कि इलाके के सभी देवी देवताओं के आध्यात्मिक केंद्र भी कांदा डोंगर को माना जाता है। कांदा डोंगर में इतिहास से जुड़ी रामायण काल से जुड़ी कुछ कहानियां भी बुजुर्गों की जुबानी से सुनने को मिलता है ऐसे महान प्रसिद्धि धारण लिए गरियाबंद जिले के मैनपुर विकासखंड अंतर्गत ग्राम गुढç¸यारी के समीप स्थित है विशाल कांदा डोंगर।
अमलीपदर गुढç¸यारी कांदाडोंगर चौरासी गढ़ गांव के पुजारी देवी देवता का विशाल मेला दशहरा के दिन लगता है।पुजारी सरपंच के द्वारा विसाल कांदाडोंगर मा कुलेश्वरी खमेश्वरी देवी एवम चौरासी गढ़ के सरपंच मुखिया पुजारी पटेल और क्षेत्र एंव ग्राम वासी उपस्थित रहते हैं।
कांदा डोगर की विशेष दशहरा त्यौहार की मान्यता है
कांदा डोंगर को पर्यटन के दृष्टिकोण से किस तरह से बदलाव किया जय पर्यटन स्थल की दर्जा मिल सके इस के लिए बिंद्रा नवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक का श्री डमरूधर पुजारी द्वारा सी जी टॉप छत्तीसगढ़ को बताया कि कांदा डोंगर इस इलाके की शान है और कांदा डोंगर में कई देवी-देवताओं का वास है और कांदा डोंगर पर आयोजित वार्षिक भव्य दसहरा को लाखों लोग राज्य और राज्य से बाहर के श्रद्धालुओं देखने आते हैं कांदा डोंगर की सुंदरता को शानदार भव्यता को और इसकी प्रसिद्धि आज देश और दुनिया में देखी जा रही है पर दुख इस बात की है कांदा डोंगर को अब तक पर्यटन का दर्जा नहीं मिल पा रहा है बस दिलासा ही दिया जा रहा है लेकिन जमीनी स्तर पर कार्य होता नजर नहीं आ रहा है हम अपनी ओर से पूरी कोशिश तैयारी कर रहे हैं ताकि कांदा डोंगर को इलाके में जो प्रसिद्धि है सरकारी तर्ज पर भी पर्यटन का दर्जा देकर इस प्रसिद्धि को विश्व प्रसिद्ध किया जा सकेगा।
खबर अनुसार आज कि विशेष कार्यक्रम में कांदा डोंगर स्थित है माँ कुलेश्वरी खमेश्वरी देवी देवताओं को लेकर चर्चा किया गया है।कांदा डोंगर को पर्यटन स्थल बनाने को लेकर पिछले कई सालों से शासन प्रशासन को अवगत करवाया जा रहा है अब तक कोई ठोस कदम उठता दिखाई नहीं दे रहा एक पर्यटन स्थल पर जो भी आवश्यकता के चीज़े होती है वो सब कांदा डोंगर में सदियों से मौजूद हैं।


Share

Check Also

बलौदा बाजार जिले में जैतखाम के अपमान व तोड़फोड़ मामले को लेकर आज जिला कांग्रेस कमेटी करेगी धरना प्रदर्शन

Share कोरबा,17 जून 2024 (घटती-घटना)। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी कोरबा शहर …

Leave a Reply

error: Content is protected !!