अंबिकापुर@सुरगुजा पुलिस की नशे के खिलाफ बड़ी कार्रवाई नगर सैनिक अपने साथी के साथ गिरफ्तार

43
Share

काफी मात्रा में नशीला इंजेक्शन व दवा बरामद,गांधीनगर पुलिस की कार्रवाई

अंबिकापुर 14 जनवरी 2022 (घटती-घटना)। नवा बिहान अभियान के तहत सरगुजा पुलिस को लगातार सफलता है मिल रही है। इसी अभियान के तहत गांधीनगर पुलिस ने एक नगर सैनिक व उसके साथी को नशीले इंजेक्शन व टेबलेट के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस के तहत कार्रवाई कर जेल दाखिल कर दिया है।
मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक अमित तुकाराम कामले ने गांधीनगर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की थाना क्षेत्र के सुभाषनगर मनेन्द्रगढ़ रोड से साई मंदिर जाने वाले तिराहे के पास दो व्यक्ति नशीली दवा व इंजेक्शन बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे हैं। गांधीनगर टीआई अलरिक लकड़ा ने इसकी जानकारी अधिकारियों को दी। अधिकारियों के निर्देश पर टीम गठित कर पुलिस ने उक्त स्थान पर पहुंच कर घेराबंदी कर विवेक कुमार गुप्ता पिता नारायण प्रसाद उम्र 21 वर्ष निवासी मटर नंबर बी 163 शक्तिनगर जरही थाना भटगांव हालमुकाम हुआपारा नावापारा थाना गांधीनगर के पास रखे भूरे रंग के ट्राली बैग से 9 सौ नग नशीली इंजेक्शन किमत 20340 रुपए तथा आरोपी श्रवण कुमार कुशवाहा उर्फ सरमन पिता राम गुलाब कुशवाहा उम्र 35 वर्ष निवासी सिरसी भैयाथान थाना झिलमिली हालमुकाम साई मंदिर रोड राव रेसीडेंसी के पास थाना गांधीनगर सफेद रंग का डिस्पोजल कपडे का थैले में रखा 113 नग नशीली इंजेक्शन व 1725 नग नशीली दवा जिसकी किमत 3680 रुपए जब्त किया गया। पुलिस ने दोनों आरोंपियों के खिलाफ धारा 22 सी एनडीपीएस के तहत कार्रवाई कर जेल दाखिल कर दिया है। प्रेस वार्ता के दौरान एएसपी विवेक शुक्ला व सीएसपी अखिलेश कौशिक शामिल रहे। वहीं कार्रवाई में मुख्य रूप से निरीक्षक आशा तिर्की, उप निरी ओपी यादव, सउनि रविन्द्र प्रताप सिंह, सरफराज फिरदौसी, विनय सिंह, प्रमोद दूबे, संतोष तिवारी, आरक्षक अमृत सिंह, सतेन्द्र दुबे, समिनूल फिरदौसी, बृजेश राय, शाहबाज, मंदु लाल गुप्ता, अनिल सिंह, कृष्णा खेस, श्याम लाल, मान सिंह, जोधन पैकरा, अमित विश्वकर्मा, रंजित लकड़ा, सैनिक अनिल साहु सक्रिय रहे।

1 इंजेक्शन बेचते हैं 12 से 15 सौ रुपए में

पूछताछ के दौरान दोनों तस्करों ने पुलिस को बताया कि ये नशीली दवा व इंजेक्शन झारखंड से लाकर अंबिकापुर के आस पास के क्षेत्रों में बेचने का काम करते हैं। हालांकि तस्करों द्वारा 1 इंजेक्शन को 1200 से 1500 रुपए में बेचते हैं। और नशे के आदि लोग इसे ऊंचे दामों पर खरीदकर सेवन करते हैं। जब्त नशीली दवा व इंजेक्शन का बाजार किमत लगभग 12 लाख से ज्यादा बताया जा रहा है। एसपी अमित तुकाराम कांबले ने बताया कि अंबिकापुर व आस पास के क्षेत्रों में शराब, गांजा सेवन करने से ज्यादा नशीली इंजेक्शन व दवा का सेवन करने वाले हैं। ऐसे लोग काफी आदतन होते हैं। ऐसे लोगों को समय पर इंजेक्शन व नशीली दवा नहीं मिला तो कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। पैसों के अभाव में चोरी तक कर के नशे की लत को मिटाते हैं। अगर नशा खत्म हो जाए तो जिले में आधे से अधिक चोरियों बंद हो जाएगी।

आरोपी विवेक गुप्ता पूर्व में भी जा चुका है जेल

नशे के अवैध करोबार में पकड़ा गया श्रवण कुशवाहा नगर सैनिक के पद पर कार्यरत है। वहीं विवेक गुप्ता काफी आदतन है। वह पूर्व में जनवरी 2021 में एनडीपीएस के मामले में जेल जा चुका है। अक्टूबर महीने में जेल से छूटा था। इसके बाद पुन: इस कारोबार में संलिप्त हो गया था।


Share