बैकुण्ठपुर@कोरिया जिला कांग्रेस कमेटी जिलाध्यक्ष के विरोध में उतरे मुस्लिम समुदाय के लोग

369
Share

बैकुंठपुर डबरीपारा के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जिलाध्यक्ष का किया खुलकर विरोध

बैकुण्ठपुर 03 जनवरी 2022 (घटती-घटना)। कोरिया जिला कांग्रेस कमेटी जिलाध्यक्ष के विरोध में उतरे मुस्लिम समुदाय के लोग। बैकुंठपुर डबरीपारा के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जिलाध्यक्ष का किया खुलकर विरोध। मुस्लिम समुदाय ने कहा जिलाध्यक्ष हटाओ तभी कांग्रेस को रहेगा उनका समर्थन। मुस्लिम समुदाय से ही आते हैं कांग्रेस कमेटी कोरिया के जिलाध्यक्ष। बैकुंठपुर नगरपालिका में मुस्लिम महिला पार्षद की अध्यक्ष पद की उम्मीदवारी को लेकर है नाराजगी। मुस्लिम महिला पार्षद को अध्यक्ष का उम्मीदवार कांग्रेस ने नहीं किया था घोषित। एक ही परिवार के दो मुस्लिम समुदाय से आने वाले पार्षदों ने नगरपालिका में जीत की थी दर्ज। अध्यक्ष पद की उम्मीदवारी भी बनती थी मुस्लिम महिला पार्षद की। मुस्लिम महिला पार्षद के पति कांग्रेस के समर्पित कार्यकर्ता भी रह चुके हैं।
कोरिया जिला कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष के विरुद्घ बैकुंठपुर डबरीपारा के मुस्लिम समुदाय के लोग खुलकर सामने आकर विरोध में उतर गए हैं और मुस्लिम समुदाय के इस विरोध में अब जिलेभर से भी मुस्लिम समुदाय के लोगों की नाराजगी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष के विरुद्ध सामने आ रही है जो खुलकर सामने से विरोध करते देखे सुने जा सकते हैं। कोरिया जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष का विरोध तो पहले से ही जारी था और सत्ता के साथ गठबंधन कर कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का उनपर पहले भी आरोप लगता रहा है,लेकिन इसबार यह विरोध खुलकर सामने आया है और खुद मुस्लिम समुदाय से होने के बावजूद उनका विरोध मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा ही किया जा रहा है और सामने आकर किया जा रहा है।

अध्यक्ष पद प्रत्यासी बतौर मुस्लिम महिला पार्षद की अनदेखी से शुरू हुआ विरोध

बैकुंठपुर नगरपालिका के मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा कांग्रेस जिलाध्यक्ष नजीर अजहर का विरोध बैकुंठपुर नगरपालिका में अध्यक्ष पद के लिए मुस्लिम महिला पार्षद का नाम आगे नहीं करने की वजह से शुरू हुआ विरोध है। बैकुंठपुर शहर के मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि जिलाध्यक्ष ने समुदाय हित मे जरा भी प्रयास नहीं किया और एकबार भी समुदाय की महिला पार्षद का नाम अध्यक्ष के लिए आगे नहीं किया और इसी वजह से वह जिलाध्यक्ष का विरोध कर रहें हैं।

मुस्लिम महिला पार्षद की अध्यक्ष पद की उम्मीदवारी थी मजबूत

बैकुंठपुर नगरपालिका में कांग्रेस के जीतकर आये हुए वार्ड पार्षदों में मुस्लिम महिला पार्षद की उम्मीदवारी सबसे मजबूत थी यह सभी कांग्रेसी भी मानते हैं। मुस्लिम महिला पार्षद के साथ उनका भतीजा भी एक वार्ड से जीत दर्ज कर पार्षद बना था और इस तरह उनके साथ परिवार के ही दो वोट थे इस हिसाब से भी महिला पार्षद की उम्मीदवारी मजबूत थी,लेकिन महिला मुस्लिम पार्षद की उम्मीदवारी कांग्रेस जिला कमेटी ने स्वीकार नहीं कि।

मुस्लिम महिला पार्षद के पति दो बार के रह चुके हैं कांग्रेसी पार्षद

बैकुंठपुर की मुस्लिम महिला पार्षद जिसकी दावेदारी कांग्रेस द्वारा अध्यक्ष हेतु स्वीकार नहीं किये जाने के कारण बैकुंठपुर के मुस्लिम समुदाय के लोग कांग्रेस के जिलाध्यक्ष से नाराज हैं के पति खुद लगातार दो बार से वार्ड पार्षद का चुनाव जीतकर आते रहें हैं और वह बहु कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में। इसबार उन्होंने खुद अपने दम पर दो वार्डो में कांग्रेस को जीत दिलाई और दोनों ही पार्षद उनके ही घर के हैं एक उनकी धर्मपत्नी और एक उनका भतीजा। मुस्लिम महिला पार्षद के पति कांग्रेस के जमाने से कर्मठ और ईमानदार कार्यकर्ता भी बनकर काम करते चले आ रहे थे और उनकी निष्ठा पर भी कोई प्रश्न आज तक नहीं उठा। इस हिसाब से भी मुस्लिम महिला पार्षद की अध्यक्ष पद की दावेदारी मजबूत थी जिसे कांग्रेस ने स्वीकार नहीं किया जिला स्तर पर और इसीलिए मुस्लिम समुदाय जिलाध्यक्ष से नाराज है।

जिलेभर से मुस्लिम समुदाय की नाराजगी आ रही सामने

सभी योग्यताओं और कांग्रेस के समर्पित कार्यकर्ता की धमर्पत्नी होने के बावजूद बैकुंठपुर नगरपालिका में मुस्लिम महिला पार्षद को अध्यक्ष पद का उम्मीदवार नहीं बनाये जाने को लेकर अब जिलेभर से मुस्लिम समुदाय के लोगों की नाराजगी जिलाध्यक्ष के प्रति सामने आ रही है और उनका कहना है कि कोरिया जिला कांग्रेस कमेटी के वर्तमान जिलाध्यक्ष के रहते वह कांग्रेस के साथ आगे नहीं चल सकते इसलिए उनको बदला जाए।


Share