अम्बिकापुर@शिविर अनुशासित जीवन जीने की सिखाती है कला

147
Share


राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा ग्राम बकिरमा में लगाये गये विशेष सात दिवसीय शिविर का समापन

अम्बिकापुर ०3 जनवरी 2022 (घटती-घटना)। साई बाबा आदर्श स्नातकोत्तर महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा ग्राम बकिरमा में लगाये गये विशेष सात दिवसीय शिविर का समापन ग्राम के प्रतिष्ठित नागरिक नईहर साय टेकाम के आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रेरणा पुरूष स्वामी विवेकानंद के पूजन एवं दीप प्रज्ज्वलन के पश्चात लक्ष्य गीत गायन किया गया। शिविरार्थियों केा सम्बोधित करते हुए अतिथि नईहर साय टेकाम ने कहा कि शिविर अनुशासित जीवन जीने की कला सिखाती है साथ ही नेतृत्व क्षमता विकसित करती है आप भाग्यशाली है कि आपको शिविर में आने का अवसर प्राप्त हुआ। उन्होने कहा कि सात दिवसीय इस शिविर में विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से गांव मे स्वच्छता एवं ग्राम विकास का कार्य स्वयंसेवकों द्वारा किया गया वह सराहनीय है। इन सात दिनों में स्वयंसेवकों ने बहुत ईमानदारी और निष्ठपूर्वक अनुशासन मे रहकर कार्य किया है। यहां के बच्चों ने आप से बहुत कुछ सीखा है। उन्होने राष्ट्रीय सेवा योजना विशेष सात दिवसीय शिविर चयन किये जाने के लिए श्री साई बाबा आदर्श महाविद्यालय के रासेयो का विशेष रूप से आभार प्रकट करते हुए अगले वर्ष भी शिविर लगाने का आग्रह किया। इससे पूर्व स्वागत उद्बोधन में कार्यक्रम अधिकारी देवेन्द्र दास सोनवानी ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना, युवाओं के लिए सबसे श्रेष्ठ योजना है। शिविर मे सीखे गए अनुशासन को जीवन भर याद रखते हुए मेहनत और लगन के बल से आगे बढ़े और परिवार, समाज और अपने देश का नाम ऊंचा करें। वरिष्ठ स्वयं सेवक सुमन मिंज ने शिविर प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। प्रथम वर्ष के कु. दामिनी रजोरिया, छाया राजवाड़े, नेमतुल्ला, मोनिका बघेल ने सात दिवसीय विशेष शिविर का शिविर अनुभव बताया। कार्यक्रम के अंत मे सभी शिवरार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया तथा ध्वज अवतरण कर समापन हुआ।
शिविर के संबंध में जानकारी देते हुए कार्यक्रम अधिकारी श्री देवेन्द्र दास सेानवानी ने बताया कि सात दिवसीय विशेष शिविर में परियोजना कार्य के अंतर्गत गांव के सभी हेन्ड पंपों के आसपास नाली निर्माण एवं सफाई, विद्यालय परिसरों की सफाई, सोखता गढ्ढों का निर्माण तथा स्नानागारों की सफाई एंव पुताई का कार्य किया गया। स्वास्थ्य विभाग एवं महाविद्यालय की रेडक्रास इकाई के सहयोग से दिनांक 30 दिसम्बर 2021 को आयोजित स्वास्थ्य शिविर में मरीजों का चिकित्सकीय परीक्षण कर उन्हें निःशुल्क दवाईयॉ वितरित की गई। जिसमें डॉ निखिल रेलवानी ,डॉ नेहा सिंह परिहार , डॉ निकिता गुप्ता ,डॉ कुरैशी के द्वारा ग्रामीणजनों का निःशुल्क इलाज कर दवाई वितरण किया गया। साथ ही श्रीमती मोहिनी कश्यप के द्वारा तकरीबन 20 लोगों को वैक्सीन लगाया गया । बौद्विक परिचर्चा कार्यक्रम के दौरान डॉ एस एन पांडे जिला संगठक राष्ट्रीय सेवा योजना, विनितेष गुप्त कार्यक्रम अधिकारी राष्ट्रीय सेवा योजना के आर टेक्निकल कॉलेज अंबिकापुर , आकाशवाणी से सरिता अग्निहोत्री एवं घनश्याम मैत्री सहायक प्राध्यापक के आर टेक्निकल कॉलेज अंबिकापुर उपस्थित रहे जिसमें एस एन पांडेय सर द्वारा महिला सशक्तिकरण के बारे मे बताया गया साथ ही कोरोना के नए वेरिएंट से अवगत कराया गया। विनितेष गुप्त द्वारा राष्ट्रीय सेवा योजना के अभिलेख संधारण के बारे में जानकारी दी गई तथा स्वरचित कविताओं से सभी स्वयं सेवकों का उत्साहवर्धन किया गया । जन षिक्षण संस्थान के निदेशक एमऽसिद्दीकी ,सहायक विकास खण्ड षिक्षा अधिकारी अशोक कुमार सिंह द्वारा मतदाता जागरूकता और साक्षरता संबंधी जानकारियां तथा स्कैम कॉल और डिजिटल साक्षरता की जानकारी दी गई । बौद्विक परिचर्चा में ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरगुजा, विवेक शुक्ला , मंगल पाण्डेय वरिष्ठ समाजसेवी निदेशक चिराग सोशल वेलफेयर सोसायटी अंबिकापुरवि अनिल कुमार मिश्रा मुख्यकार्यकारी छत्तीसगढ़ प्रचार एवं विकास संस्थान उपस्थित रहे जिसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा जीवन में लक्ष्य के महत्व को बताया गया , मंगल पाण्डेय तथा अनिल कुमार मिश्रा के द्वारा सामाजिक ज्ञान के महत्व को बताया गर्या ।
शिविर के दौरान तीसरे दिवस से प्रतिदिन सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गयी। जिसके अंतर्गत बाल विवाह, नशे के दुष्प्रभाव, शिक्षा का महत्व विषयों पर नाटिका, लोक गीत, लोक नृत्य इत्यादि की रंगारंग प्रस्तुतियां दी गयी। समापनपूर्व रात्रि में कैम्प फायर का आयोजन किया गया जिसमें स्वयंसेवकों एवं ग्रामवासियों ने मिल कर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। इस सात दिवसीय विशेष शिविर के दौरान महाविद्यालय शासी निकाय के अध्यक्ष श्री विजय कुमार इंगोले, महाविद्यालय के सचिव श्री अजय कुमार इंगोले, डॉ. सुमित कुमार डे, राकेष सेन, डॉ. जसप्रीत कौर ने उपस्थित होकर स्वयंसेवकों को प्रोत्साहित किया। क्रीड़ा अधिकारी ब्रम्हेश श्रीवास्तव, सहायक प्राध्यापक अजीत मिश्रा रहे। आयोजन में प्राध्यापक देवेन्द्र दास सोनवानी, ग्राम के सरपंच फुलेष्वरी टेकाम, पूर्व माध्यमिक शाला के षिक्षक चक्रधारी सिंह, प्राइमरी के प्रधान पाठक शैलेन्द्र कुमार वर्मा, स्वयंसेवक मोनिका बघेल, दामिनी राजौरिया, रीना प्रजापति, मो. अयान खान, नेमातुल्ला, अरविंद कुमार यादव, गोवर्धन राम, अमन गुप्ता, छाया, आंचल मिश्रा, लक्ष्मी विष्वास, दुर्गा, राहुल कुमार मैटी, राहुल सिंह में वरिष्ठ स्वयं सेवक सुमन मिंज, राहुल यादव, राधिका, सौरभ तिवारी, साकेत केडिया, प्रिंस सिंह, सुमांषु मिश्रा, सोफिया खातुन, रमेष साहू, आकाष केषरी, अमर लाल, हंसलाल, प्रकाष का सराहनीय योगदान रहा।


Share