अम्बिकापुर@नवरात्रि के पहले दिन देवी मंदिरों में जगमगा उठे मनोकामना ज्योति कलश,श्रद्धालुओं का लगा तांता

48
Share


कैबिनेट मंत्री टीएस सिंह देव ने भी नवरात्र के पहले दिन कुलदेवी मां महामाया का किये दर्शन

??????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????

अम्बिकापुर 07 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। शारदीय नवरात्रि की शुरूआत गुरुवार को विधिवत पूजा-अर्चना के साथ हुई। इसके साथ ही मंदिरों में ज्योति प्रज्जवलित करने और माता की आराधना के लिए भक्तों के आने का सिलसिला शुरू हो गया। जगत जननी मां दुर्गा की आराधना अभिजीत मुहूर्त में घट स्थापना के साथ प्रारंभ हुई। हालांकि कोरोना संक्रमण से बचाव को दृष्टिगत रखते हुए इस वर्ष भी नवरात्रि में कुछ पाबंदियां नजर आई। जिला प्रशासन द्वारा मंदिरों में देवी दर्शन एवं ज्योत दर्शन बाहर से ही करने का निर्देश दिया गया था। भक्तों को गर्भ गृह में जाने की इजाजत नहीं थी। लोगों ने मंदिर परिसर के अंदर से ही पूजा अर्चना की और मां का दर्शन दूर से ही किया। इस दौरान माता की एक झलक पाने के लिए सभी श्रद्धालु लालायित नजर आए। शहर के गांधी चौक स्थित दुर्गा मंदिर सहित कई मंदिरों में ज्योति कलश प्रज्ज्वलित हुए। मंदिरों के साथ घर-घर नवरात्र के प्रथम दिवस पर मां की पूजा अर्चना आरती हवन किया गया। अब पूरे नौ दिनों तक लोग मां की आराधना में लीन रहेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री ने कुलदेवीमां महामाया का किया दर्शन

छत्तीसगढ़ के राजनैतिक उथल-पुथल के बीच स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव बुधवार को एक दिवसीय प्रवास पर अपने गृह क्षेत्र अंबिकापुर पहुंचे थे। मंत्री सिंहदेव ने नवरात्र पर्व के पहले दिन गुरुवार को मां महामाया मंदिर पहुंच कर देवी के दर्शन किये। साथ ही उन्होंने हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी विधि वधान से माँ महामाया की पूजा अर्चना की। गौरतलब है कि मां महामाया राज परिवार की कुलदेवी के रूप में अंबिकापुर में बृजमान हैं। इस दौरान मंत्री सिंहदेव ने प्रदेश के खुशहाल के लिए प्रार्थना की। विगत 19 सालों से टीएस सिंहदेव नवरात्र में मां महामाया मंदिर पहुंचकर पूजा पाठ करते रहे हैं। वही पूजा करने पहुंचा श्रद्धालुओं का हुजूम मंत्री सिंहदेव के साथ सेल्फी लेते नज़र आया। इस दौरान लुंड्रा क्षेत्र के विधायक डॉ प्रीतम राम भी स्वास्थ्य मंत्री के साथ मंदिर में पूजा अर्चना करने पहुंचे थे।

लंबे अरसे बाद दिखी मंदिरों में भीड़

कोरोना संक्रमण काल के कारण पिछले कई वर्षों से मंदिर बंद पड़े हुए हैं। पिछले वर्ष भी शारदीय नवरात्र पर कोरोना संक्रमण के खतरे के कारण मंदिरों में प्रवेश वर्जित रखा गया था। यही स्थिति चैत्र नवरात्र में भी बनी हुई थी। इस वर्ष थोड़ी देर के साथ श्रद्धालुओं को छूट दी गई है। इस कारण डेढ़ वर्ष बाद भारी संख्या में श्रद्धालु मां महामाया के दर्शन करने नवरात्रि के पहले दिन पहुंचे हुए थे।


Share