बैकु΄ठपुर @फायनेंस में रहते हुये वाहन को मालिक ने फर्जी एनओसी तैयार कर दूसरे राज्य में बेचने का किया कारनामा

268
Share

आरटीओ अधिकारी पर भी उठ¸े सवाल,ओरिजनल एनओसी के बिना कैसे हुआ स्थानांतरण

रवि सिंह –

बैकु΄ठपुर 11 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। कोरिया जिले में अपने आप में एक अलग मामला सामने आया जहां फायनेंस में वाहन होते हुये फर्जी तरीके से वाहन का एनओसी तैयार कर उस वाहन को अन्य राज्य में बेच दिया गया और कोरिया जिले के फायनेंस कम्पनी में अब तक वाहन के ऋण राशि की देनदारी बाकी है। फायनेंस कम्पनी ने ऋण धारके के खिलाफ पुलिस अधीक्षक कोरिया को पत्र लिख कम्पनी के साथ धोखाधड़ी करने वाले के खिलाफ शिकायत की है। फायनेंस कम्पनी चोला मण्डलम इनवेस्टमेंट फायनेंस कम्पनी लि. शाखा मनेन्द्रगढ़ के शाखा संग्रह प्रबंधक शांति स्वरूप शर्मा के पत्र के अनुसार जगदीश चन्द्र खन्ना मनेन्द्रगढ़ निवासी का ट्रक क्रमांक सीजी 16 ए 2489 है जिस पर 1225000 का वाहन लोन था जिसकी अंतिम किस्त 10.11.2018 कि थी। दो वर्ष के उपरांत उपरोक्त वाहन को ऋण दाता जगदीश चन्द्र खन्ना द्वारा अपने पुत्र रिंकेश खन्ना व रश्मि खन्ना के नाम पर करने हेतु 10.05.2017 को अनुमति प्राप्त कर रिफायनेंस लेकर उपरोक्त ऋण को आंतरित कर नवीन ऋण खाता खोलवा कर जिला परिवहन कार्यालय बैकुण्ठपुर में आवेदन प्रस्तुत करते हुये नीवन दस्तावेज प्राप्त कर वाहन को रिंकेश खन्ना व जमानतदार रश्मि खन्ना के नाम रजिस्ट्रेशन करवाया। इस नवीन ऋण की अवधि 28.05.2017 से 28.01.2020 तक 33 महिने के लिये दी गयी थी। उपरोक्त वाहन पर रिंकेश खन्ना व रश्मि खन्ना का स्वामित्व होगा। पर वर्ष 2018 में रिंकेश खन्ना, जगदीश खन्ना व रश्मि खन्ना एक राय होकर वाहन क्रमांग सीजी 16 ए 2489 की कुटरचित तरीके से 04.09.2018 को वाहन का ऋण 17 किस्त बाकी होने पर भी कम्पनी द्वारा पूर्व जारी दस्तावेज में कूटरचना कर जिला परिवहन कार्यालय बैकुण्ठपुर के समक्ष झूठा शपथ पत्र देकर वाहन के रजिस्ट्रेशन में अनुबंध हटाने व कम्पनी के फर्जी सील, मोहर व उच्च अधिकारीयों के फर्जी हस्ताक्षर करते हुये उक्त वाहन को ब्रिजेश यादव आत्मज शत्रु यादव को विक्रय कर वाहन के मूल राशि का उपयोग कर कम्पनी के साथ सोची-समझी साजिश व धोखाधड़ी की गयी है। जिसके लिये फायनेंस कम्पनी ने कोरिया पुलिस अधीक्षक को शिकायत करते हुये उचित जांच कर कार्यवाही की मांग की है। वही फाइनेंस कम्पनी के पदाधिकारियों के अनुसार अभी भी रिंकेश खन्ना जमानतदार रश्मीखन्ना पर अन्य वाहनों के लगभग 42 लाख रुपए चोलामंडलम फाइनेंस को लेना शेष है जिसकी लिए कम्पनी ने लीगल क्रायवाही कर रखी है

शिकायत मिली है कि फायनेंस कम्पनी ने एनओसी जारी नहीं किया गया है यह जांच का विषय है जिसकी जांच की जायेगी यदि वाहन मालिक ने गलत किया है तो उस पर कार्यवाही की जायेगी।


अनिल भगत
जिला परिवहन अधिकारी


Share