अम्बिकापुर@शराबी आरक्षक को बचाने में लगी पुलिस

358
Share


शराब के नशे में आरक्षक द्वारा युवती के साथ छेड़छाड़ का मामला

अम्बिकापुर 07 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। एक आरक्षक द्वारा शराब के नशे में बुधवार की रात करीब 11 बजे शहर के नामनाकला स्थित शनि मंदिर के समीप दो लड़कियों के साथ बदतमीजी कर रहा था। स्थानीय लोगों द्वारा इसका विरोध करने पर अपने पुलिस का हवाला देकर विवाद करना शुरू कर दिया। शराबी आरक्षक ने काफी देर तक हंगामा मचाया। स्थानीय लोगों ने आरक्षक की करतूत की जानकारी गांधीनगर पुलिस को दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंचकर शराबी आरक्षक को हिरासत में ले लिया। इसके बाद पुलिस ने मेडिकल कराया जहां शराब सेवन करने की बात सामने आई। इसके बावजूद भी पुलिस विभाग शराबी आरक्षक के खिलाफ करवाई करने के बजाए उसे बचाने में लगी है। जबकि इसकी जानकारी पुलिस की आला अधिकारियों तक को है। खैर सरगुजा पुलिस का यह कारनामा कोई नया नहीं है।
गौरतलब है कि शिव कुमार कुर्रे आरक्षक के पद पर लाइन में पदस्थ है। बुधवार की रात और शराब सेवन कर नशे की हालत में बाइक से शहर के नमनाकला स्थित शनि मंदिर के समीप आया था। यहां दो लड़कियों के साथ वह शराब के नशे में छेड़छाड़ करने लगा। स्थानीय लोगों द्वारा जब इसका विरोध किया गया तो वह पुलिस का भय दिखाते हुए विवाद शुरू कर दिया। वह शराब के नशे में स्थानीय लोगों से हुज्जतबाजी शुरू कर दिया। परेशान होकर स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी गांधीनगर पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंचकर शराबी आरक्षक को अपने साथ ले गई जहां भी उसने अपना रूतबा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ा तदुपरांत उसका रात्रि में ही मेडिकल कराया। जहां जांच में अत्यधिक शराब सेवन करने की बात सामने आई। इसके बावजूद भी पुलिस दोषी आरक्षक के खिलाफ करवाई करने के बजाए उसे बचाने में लगी है।

नहीं दर्ज किया गया एफआईआर

शराब के नशे में आरक्षक शिव कुमार कुर्रे द्वारा युवती के साथ छेड़छाड़ व स्थानीय लोगों के साथ बदतमीजी करने के बावजूद भी पुलिस उस पर अब तक एफआईआर दर्ज नहीं की है। जबकि पीडि़ता को गांधीनगर पुलिस द्वारा बुलाया गया था। देर रात तक बैठाने के बावजूद भी पीडि़ता का एफ आई आर दर्ज नहीं किया गया। वही इस मामले में एडिशनल एसपी विवेक शुक्ला का कहना है कि यह विभाग का मामला है जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।जो एक नए सवाल को जन्म देता है।


Share