रामानुजगंज@अतिथि शिक्षकों ने अपने मानदेय को लेकर बलरामपुर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

23
???????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????
Share

रामानुजगंज 26 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। बलरामपुर रामानुजगंज जिले के हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी विद्यालय में शिक्षकीय कार्य कर रहे 270 अतिथि शिक्षकों ने अपनी मांग को लेकर बलरामपुर कलेक्टर अब जिला शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपते हुए अपनी मांग पूरी करने की आगरा की गई। सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया हैं कि पिछले 2 शिक्षा सत्र में कोविड-19 के वजह से हम लोगों को कार्य पर उपस्थित ना मानते हुए छत्तीसगढ़ शासन ने मानदेय नहीं दिया पर विगत 16 फरवरी 2021 से विद्यालय शुरू होते हैं शिक्षा कार्य हेतु हम सबो ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए अपनी सेवाएं दे रहे हैं किंतु 16 फरवरी से 31 मार्च तक ही का वेतन दिया गया है। वही नए सत्र में माह अप्रैल से माह अक्टूबर का तक का वेतन और प्राप्त है जिसके कारण कई आर्थिक संकटों का सामना करना पड़ रहा है साथ ही तीज त्योहारों में खुशी के जगह मायूसी छाई हुई है।

क्या कहा जिला शिक्षा अधिकारी ने

ज्ञापन सौंपने गए अतिथि शिक्षकों से ज्ञापन लेने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी बी.एक्का ने कहा कि जब तक डीपीआई कार्यालय रायपुर से बिना दिशा-निर्देश के किसी प्रकार का कोई मानदेय नहीं दिया जाएगा।

प्रदेश के कांग्रेस सरकार ने आशा फेरा पानी

अतिथि शिक्षकों ने बताया की छत्तीसगढ़ की वर्तमान कांग्रेस सरकार ने शासन में आने के पूर्व अपने जन घोषणा में शामिल करते हुए कहा था कि हमारी सरकार आने पर हम आप सबो को प्राथमिकता देते हुए नियमितीकरण करेंगे परंतु आज सरकार को बने ढाई वर्ष बीत चुके हैं फिर भी नियमितीकरण की बात तो दूर कार्य करते समय वेतन भी नसीब नहीं हो रहे हैं क्या हम छत्तीसगढ़ के नागरिक नहीं हैं जो हमें कार्य पर उपस्थित रहने पर भी वेतन के संबंध में कोई चर्चा भी नहीं हो रही है हम तो इस शासन से आस लगाकर बैठे हुए हैं कि हमें नियमितीकरण की सौगात जरूर मिलेगी। लेकिन कब मिलेगी प्रदेश के कांग्रेस सरकार ने आशा पर पानी फेर दिया हैं।


Share