रायपुर@गर्भवती महिलाओं के लिए जारी रहेगी प्रसव पूर्व जांच

30
Share


रायपुर, 10 जनवरी 2022 (ए)। कोरोना की तीसरी लहर के बीच कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच (एएनसी)नियमित रूप से जारी रहेगी । साथ ही इस दौरान उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य केन्द्र पर एएनसी जांच के लिए मितानिन के माध्यम से केंद्र तक लाने की व्यवस्था भी की जाएगी जिसमें जननी एक्सप्रेस 104 की मदद भी ली जाएगी ।
इस बारे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मीरा बघेल ने बताया, ‘’सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर (प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र), सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं जिला चिकित्सालय स्तर पर सामान्य प्रसव सेवाएं उपलब्ध रहेंगी, सभी केंद्रों पर प्रसव पूर्व सेवाएं सामान्य प्रसव एवं आवश्यक नवजात शिशु सेवाएं उन सभी महिलाओं को प्रदान की जाएगी जिनकी कोरोना जांच नेगेटिव आई हो। साथ ही उन्होंने बताया, अगर कोई कोविड-19 पॉजिटिव या संभावित पॉजिटिव गर्भवती महिला है तो ऐसी स्थिति में उसे भी कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए प्रसव सेवाएं प्रदान की जाएंगी।इसके लिए सभी ब्लड बैंक अथवा ब्लड स्टोरेज यूनिट को क्रियाशील रखा जाएगा ताकि मांग अनुसार ब्लड की आवश्यकता को पूरा किया जा सकें। डॉ. बघेल ने ऐसे में अपील भी की है कि स्वैच्छिक रक्त दाता नियमित रूप से रक्तदान भी कर सकते हैं ताकि रक्त की आवश्यकता की परिस्थिति होने पर जच्चा और बच्चा की जान बचाई जा सके।डॉ.बघेल ने कहा, गर्भवती महिलाओं को खुशनुमा माहौल में रखें किसी भी तरह से उन्हें मानसिक दबाव में ना आने दे । खुशनुमा माहौल रहने से आने वाले शिशु का मानसिक स्वास्थ्य बेहतर रहता है ।
गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण के लिये किया जाएगा प्रेरित
गर्भवती महिलाओं के लिये कोविड टीकाकरण का कार्य लगातार चलाया जा रहा है। शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण के लिये प्रेरित भी किया जा रहा हैं। इसी क्रम में अब गर्भवती महिलाओं को भी प्रसव पूर्व जांच के दौरान कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा प्राप्त करने को कोविड टीकाकरण भी किया जा रहा है ।
उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं के लिये मितानिन का लिया जाएगा सहयोग
प्रत्येक गर्भवती महिला को गर्भधारण के साथ ही अपना अतिशीघ्र रजिस्ट्रेशन करवाने तथा सॉफ्टवेयर के माध्यम से लाईन लिस्टिंग सुनिश्चित की जाएगी। लाइन लिस्टिंग के अनुसार अधिक जोखिम वाली गर्भवती महिलाएं एवं सामान्य गर्भवती महिलाओं का वर्गीकरण किया जाएगा। अधिक जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को निकटवर्ती स्वास्थ्य केन्द्र पर एएनसी जांच के लिए मितानिन एवं 104 जननी एक्सप्रेस वाहन की मदद ली जाएगी।
एंबुलेंस की
होगी व्यवस्था
ऐसी गर्भवती महिला जो आने जाने में असमर्थ हो उनके लिए विशेष रूप से एंबुलेंस की व्यवस्था की जायेगी। इसके साथ ही टीकाकरण के दौरान एक एम्बुलेंस की व्यवस्था रहेगी। ताकि आवश्यकतानुसार गर्भवती महिला को उच्च स्वास्थ्य संस्थान में पहुंचाया जा सके।


Share