रायपुर @ ममता बनर्जी की नजर अब छत्तीसगढ़ पर भी

37
Share

रायपुर, 25 नवम्बर 2021 (ए)। पिछले 3 माह से पूरे देश में अपनी ताकत बढ़ाने में लगी तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नजर अब छत्तीसगढ़ पर भी है। 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले ममता खुद को तीसरे मोर्चे की ताकतवर नेता प्रोजेक्ट करने की कोशिश में हैं। वे बंगाल से बाहर के प्रदेशों, वहां के नेताओं को टीएमसी में लाने और संगठन बनाने के प्लान में लगी हुई हैं।
एक दिन पहले ही मेघालय में पूर्व मुख्यमंत्री सहित 12 विधायकों को टीएमसी में लाकर धमाका कर चुकी हैं। अब ममता के प्रमुख सलाहकार प्रशांत किशोर की टीम छत्तीसगढ़ में भी सक्रिय है। यह टीम छत्तीसगढ़ में कांग्रेस-भाजपा और क्षेत्रीय पार्टी के नेताओं की पड़ताल कर रही है। इसके साथ ही प्रदेश के सियासी हालात पर टीएमसी के राजनीतिक सलाहकार पैनी नजर रखे हुए हैं।
राजनीतिक रणनीति बनाने में माहिर प्रशांत किशोर इस समय भ्रूष्ट के लिए पूरे देश में ग्रोथ प्लान बना रहे हैं। उनकी टीम के कुछ सदस्य लगातार छत्तीसगढ़ दौरे पर हैं। प्रशांत किशोर खुद भी यहां के कांग्रेस-भाजपा और दूसरी क्षेत्रीय पार्टिंयों के कुछ नेताओं के संपर्क में हैं।
जेसीसीजे के प्रमुख अमित जोगी स्वीकार करते हैं कि दिल्ली में उनकी प्रशांत किशोर से मुलाकात हुई थी। उनकी ममता बनर्जी से भी लगातार बात होती है। अमित के मुताबिक इस समय देश में प्रधानमंत्री पद की सबसे सशक्त दावेदार ममता बनर्जी ही हैं। जिस तरह देश के दूसरे राज्यों में टीएमसी को नेता, जनता स्वीकार कर रहे हैं, उससे आश्चर्य नहीं कि 2024 के आम चुनाव से पहले ममता बनर्जी थर्ड फ्रंट की नेता घोषित हो जाएं।
जेसीसीजी और टीएमसी के बीच छत्तीसगढ़ में किसी तरह के गठबंधन पर अमित जोगी का कहना है कि विधानसभा चुनाव से पहले इस संबंध में विचार किया जाएगा। छत्तीसगढ़ में जोगी कांग्रेस के कमिटेड वोट हैं। ऐसे में किसी नेशनल पार्टी से गठबंधन होने से लाभ मिलेगा या नहीं इसका एनालिसिस कर निर्णय लेंगे।


Share