कवर्धा @ कवर्धा हिंसा मामले का पूरे छत्तीसगढ़ में हो रहा विरोध

15
Share


बिलासपुर में विहिप कार्यकर्ताओं को स्कूल में किया नजरबंद
कवर्धा ,12 अक्टूबर 2021 (ए)। छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में हुई घटना के बाद पूरे प्रदेश में विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गया है. इसको लेकर मंगलवार को विश्व हिंदू परिषद ने आक्रोश रैली निकालकर विरोध जताया. विहिप का आरोप है कि प्रशासन ने इस मामले में एक पक्षीय कार्रवाई की है. इसको लेकर विहिप कार्यकर्ता जगह-जगह विशाल हिंदू आक्रोश हुंकार रैली निकाल रहे हैं.
बड़ी संख्या में पुलिस बलों की है तैनाती
हालांकि किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल की शहर में तैनाती कर दी गई है. जगह-जगह बैरिकेडिंग लगा दी गई है. बता दें कि भारी पुलिस बल की मौजूदगी में भी बड़ी संख्या में भगवा झंडा लिये विश्व हिंदू परिषद के समर्थक सड़क पर उतरे.
इधर, बिलासपुर में भी कवर्धा हिंसा मामले के विरोध में विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता मंगलवार को रैली निकालने के लिए छत्तीसगढ़ स्कूल में जमा हुए. लेकिन विहिप कार्यकर्ताओं को प्रशासन ने स्कूल के गेट से बाहर ही नहीं निकलने दिया. प्रशासन ने सड़क के दोनों ओर बैरिकेडिंग लगाकर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं को स्कूल में ही नजरबंद कर लिया. हालांकि विहिप कार्यकर्ताओं के साथ भाजपा के कार्यकर्ता भी शामिल थे. कार्यकर्ताओं की मांग है कि वे इस मामले में कलेक्टर को ज्ञापन देंगे.
प्रशासन ने नहीं दी रैली निकालने की परमिशन
विहिप कार्यकर्ताओं को बिलासपुर के छत्तीसगढ़ स्कूल में विश्व हिंदू परिषद और भाजपा के कार्यकर्ताओं का जमा होकर वहां से रैली निकाल मुख्य मार्ग से होते हुए कलेक्टर कार्यालय जाना था, लेकिन जिला प्रशासन ने रैली निकालने की परमिशन नहीं दी और छत्तीसगढ़ स्कूल में ही जिला प्रशासन के दंडाधिकारी स्तर के अफसर को भेज कर मामले में ज्ञापन लिया. पूरे मामले में छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पूरा प्रकरण प्रशासन और राज्य सरकार की विफलता की वजह से भयावह रूप ले लिया है. पुलिस की एक पक्षीय कार्रवाई का विरोध भी धरमलाल कौशिक ने किया.
उन्होंने कहा कि पुलिस स्थानीय विधायक और प्रदेश के दूसरे नेताओं के इशारे पर पुलिस काम कर रही है. प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह खत्म हो गई है, जिसका जीता जागता सबूत कवर्धा में दो पक्षों में इतना बड़ा विवाद होना है. विवाद के दिन पुलिस मौन होकर पूरे मामले को देखती रही और कार्रवाई नहीं की.
रायपुर में भाजपा सांसद और प्रवक्ता भी दे रहे कार्यकर्ताओं का साथ
वहीं राजधानी रायपुर के बूढ़ा तालाब धरना स्थल पर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता कवर्धा हिंसा के विरोध में एक दिन का धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन में सैकड़ों विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता शामिल हैं. इतना ही नहीं विहिप कार्यकर्ताओं के साथ भाजपा सांसद सुनील सोनी और भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव सहित सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता भी मौजूद हैं.
कवर्धा दंगों के बाद पुलिस कार्रवाई पर भड़की आग
आंदोलन का ले रही रूप, विश्व हिंदू परिषद का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन
कवर्धा दंगो के बाद पुलिस कार्रवाई से भड़की आग अब आंदोलन का रूप लेती जा रही है। धमतरी में विश्व हिंदू परिषद ने एक दिवसीय धरना दिया। जिसमे सभी समाज के प्रमुखों ने मंच साझा किया और सभी ने एक ही स्वर में निर्दोष लोगों को निशर्त जेल से छोड़ने की मांग शासन से रखी।धरना स्थल पर धमतरी के उन 13 युवकों के परिजनों को अलग से स्थान दिया गया था। जिन युवकों को दंगे के आरोप में जेल भेज दिया गया है।विहिप के मंच से राज्य शासन को चेतावनी देते हुए कहा गया कि अगर इसी तरह अन्याय होता रहा तो और उग्र आंदोलन किया जाएगा, धरना स्थल गांधी मैदान पर जिले भर से लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए।


Share