बैकुण्ठपुर@विधायक के पत्र के बाद क्या पुलिस पूर्णता बंद कराएगी अवैध कारोबार?

97
Share


अवैध कारोबार बंद नहीं होने पर क्या विधायक पुलिस पर करवा पाएगे कार्यवाही?
मामला मनेंद्रगढ़ढ़ विधायक द्वारा थाना प्रभारी चिरमिरी को लिखे गए अवैध कारोबार बंद कराने के पत्र का।
फि़लहाल विधायक ने अभी एक थाना प्रभारी को अवैध कारोबार बंद कराने को कहा है।
विधानसभा क्षेत्र के अन्य थाना प्रभारियों को कब कहेंगे अवैध कारोबार बंद कराने को विधायक?
विधायक के विधानसभा के अंतर्गत बाकी थाना क्षेत्र में भी अवैध कारोबार जारी।
-रवि सिंह-
बैकुण्ठपुर 25 मई 2022 (घटती-घटना)।
मनेंद्रगढ़ विधानसभा के विधायक विनय जायसवाल के द्वारा चिरमिरी क्षेत्र में चल रहे अवैध कार्यों पर अंकुश लगाने हेतु बीते दिवस स्वयं अपने समर्थकों के साथ थाने पहुंचकर एक ज्ञापन सौंपने का मामला इन दिनों काफी चर्चा का विषय बना हुआ है, आम जागरूक जनमानस काफी विचलित व स्तब्ध है कि पिछले 4 सालों से लगातार रात दिन दिनदहाड़े कबाड़ियों और कोयला माफियाओं का आतंक और बोलबाला था आखिर ऐसा अब क्या हो गया है कि थाना चिरमिरी में ही क्षेत्र के विधायक को स्वयं थाने में जाकर आवेदन देना पड़ रहा है और अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए कहना पड़ रहा है और अपनी ही सरकार साथ ही स्वयं सत्ता में रहते हुए थाना प्रभारी को ज्ञापन देना पड़ रहा है।
क्या इन साढ़े 3 वर्षो में प्रशासन निरंकुश हो गया है? या फिर पुलिस बेलगाम हो गई है? या फिर आगामी 1 वर्ष बाद चुनाव आने वाला है इसलिए केवल क्षेत्र की चिंता है ऐसा विधायक साढ़े 3 साल बाद जताना चाह रहे हैं? या फिर इन अवैध कारोबारियों के आड़ में कोई राजनीतिक बिसात बिछाई जा रही है? आखिर क्यों क्षेत्र के विधायक को चिरिमिरी थाने में जाकर अवैध कार्यों को बंद कराने के लिए गुहार लगानी पड़ रही है। इन सभी सवालों के बीच एक सवाल और उत्पन्न हो रहा है कि क्या मात्र चिरमिरी थाना क्षेत्र के अंतर्गत माफियाओं का राज चल रहा है? उल्लेखनीय रहे कि मनेंद्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र के दो चर्चित शहर चिरमिरी एवं मनेंद्रगढ़ के थानों को लिया जाए तो इनके अतिरिक्त पोंडी झगड़ाखण्ड एवं खंडगवा को जोड़ कर पूरे पांच थाने आते हैं, लेकिन विधायक विनय जयसवाल ने मात्र चिरमिरी थाने में ज्ञापन देकर चिरमिरी थाने को संवेदनशील बना दिया है,ऐसा प्रतीत होता है कि मात्र चिरमिरी थाना क्षेत्र अंतर्गत ही बड़े पैमाने में अवैध कार्य चल रहे हैं और विधानसभा के शेष चार थानों को क्लीन चिट दे दिया गया है,यदि हम पूरे विधानसभा क्षेत्र के थानों की बारीकी से पड़ताल करें तो सभी थानों में लगभग एक ही प्रकार के अवैध कार्य जारी हैं और एक तरह के ही अवैध कारोबार लगभग सभी थाना क्षेत्र में चल रहे हैं।
पोंड़ी थाना क्षेत्र का हाल बेहाल, अवैध कारोबारी मालामाल
चिरमिरी क्षेत्र के ही दूसरे थाने जिसे हम पोड़ी के नाम से जानते हैं, पिछले चार-पांच वर्ष पूर्व कोयला का उत्खनन किया हुआ पर्याप्त भंडार एक स्थान पर रखा गया था जिसे लगभग दो दर्जन ट्रैक्टरों के माध्यम से बड़े पैमाने में निकासी की जाती रही है विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीते 8 से 10 वर्ष पूर्व कोयला कंपनी द्वारा कोयला उत्खनन के दौरान अपनी खुली खदान में लीज एरिया की निर्धारित सीमा से बाहर जाकर लगभग 1 हजार डंफार कोयले की नियम विरुद्ध खुदाई कर दी थी वन विभाग के आला अधिकारियों द्वारा उक्त खदान को बंद करा कर उक्त कोयले को जप्त कर वहीं छोड़ दिया गया था, पर्याप्त भंडारित कोयले को प्रबंधन में कार्यरत श्रमिकों ने कोयला माफियाओं से मिलजुल कर खुद एवं अपने परिवार के लोगों को लगा कर पिछले 4 साल में पूरी खदान खाली कर दी गई है एक ट्रैक्टर से 1 महीने का ₹30 हजार एडवांस लेकर परिवहन करने की इंट्री दी जाती थी ऊपर से रेत एवम नीचे कोयला का खेल आज भी बदस्तूर जारी है, शाम होते ही अवैध कारोबारी एक पेट्रोल पंप एवं उसके समीप पडने वाले होटल में एकत्र हो जाते हैं और फिर रात भर कोयला परिवहन का काम जोर शोर से किया जाता है बंद हो चुकी खदाने काफी वर्षों से बंद पड़ी है एक पार्षद पति के संरक्षण में इन्हीं दो दर्जन ट्रैक्टरों के माध्यम से हजारों टन लोहा सडक़ दफाई स्थित एक चर्चित कबाड़ी के यहां खपाया जा चुका है, जहां पर बड़ी बड़ी क्रेन मशीन से लोड अन लोड करके रायपुर की तरफ भेजा जा रहा है पिछले 4 वर्षों में पूरी से लगभग 200 ट्रक लोहे की निकासी की जा चुकी है, ब्राउन शुगर, गांजा, अभी भी कई चर्चित स्थानों पर बड़ी आसानी से उपलब्ध है।
मनेंद्रगढ़ शहर की पड़ताल
मनेंद्रगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्राज्यीय जुआ का अड्डा बन चुका है टीवी टावर रोड स्थित एक ठेकेदार के गोदाम के सामने दर्जनों कारें रात भर मोहल्ले की शोभा बढ़ाती रहती है बताया जाता है कि शहर के नामी-गिरामी और सफेद पोस लोगों के लिए जुआ खेलने के लिए यह सबसे सुरक्षित जगह मानी जाती है, प्रतिदिन रात 8 बजे से ये महफिल सजने लगती है और फिर आ रात भर 52 परियों का खेल खेला जाता है अनूपपुर, कोतमा, राजनगर, रामनगर, बिजुरी, मनेन्द्रगढ़ के हाईप्रोफाइल लोगों के जमावड़े वाले इस अड्डे पर जिम्मेदार पुलिस प्रशासन कार्रवाई करने से क्यों कतराता है। वही कबाड़ के लिए बिजुरी रोड पर के रेंजर ऑफिस के पास एनएच के समीप एक नामी-गिरामी कबाड़ी का बड़ा जलवा देखने को मिल रहा है, दो सगे भाइयों ने मिलकर मनेंद्रगढ़ शहर को अपना सेंटर हब बना कर प्रतिदिन दो से तीन ट्रक लोहा रायपुर की तरफ भेजा जाता है, एसईसीएल की कोतमा, बिजुरी, राजनगर, रामनगर, आमाडांड, चिरमिरी, बैकुंठपुर से दर्जनों पिकअप के माध्यम से कोयला कंपनी से चुरा कर लाया जा रहा है, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हर महीने एडवांस के तौर पर लगभग लाखों रुपए इस कबाड़ी द्वारा दिया जाता है ये कबाड़ी के शहर में पैर जमाने से पुराने और नामी-गिरामी कबाड़ी अपनी दुकान बंद कर वापस चिरमिरी चले गए हैं, इसी कबाड़ी का बीते दिवस एक ट्रक नागपुर चौकी में जप्त किया गया था, पिछले ढाई 3 वर्ष पूर्व से ही इस कबाड़ी ने अपने पैर शहर में जमाने शुरू कर दिए थे क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों और जिम्मेदार अधिकारियों का विशेष संरक्षण मिलने से आज इस कबाड़ी ने आसपास इलाके में अपना गजब का दबदबा बनाया हुआ है यही वजह है कि मनेद्रगढ़ को अपना मेन सेंटर गोदाम बना कर प्रतिदिन लाखों रुपए का वारा न्यारा कर रहा है।
शराब की तस्करी
सूत्रों के अनुसार मध्य प्रदेश की सभी ब्रांड की शराब मनेंद्रगढ़ के कई चर्चित स्थानों में उपलब्ध है सीमावर्ती जिला होने के नाते शराब यहां आसानी से पहुंच जाती है ब्रांडेड शराब एवं सस्ती होने के कारण लोग मध्य प्रदेश की शराब का सेवन करना ज्यादा उत्तम समझते हैं इस नाते शहर के कई हाईवे के होटलों में शराब खुले तौर पर परोसी जा रही है, अंग्रेजी शराब दुकान के बगल की होटल से लेकर राज मोटर्स के बगल की होटल, सामने की होटल एवं अन्ना टायर के बगल का अघोषित बीयर बार में राते रंगीन रहती है वही टॉकीज के सामने और बगल में भी कुछ होटलें ऐसी है जिनमें खुले तौर पर शराब पिलाया जाता है इन सब खुले कारोबार के बाद क्षेत्र के सम्मानित जनप्रतिनिधि इन को बंद कराने के लिए मनेंद्रगढ़ थाने में आवेदन नहीं दे रहे हैं, शहर में कई कोयला माफिया भी सक्रिय हैं जो आसपास के क्षेत्रों में कोयले का बड़ा कारोबार कर रहे हैं और दिन भर पक्ष विपक्ष से मिलकर एक पक्ष में सक्रिय होकर अपने पाक साफ होने का परिचय देते रहते हैं। विधायक पूरे विधानसभा के थाना को लेकर कब दिखाएगे अवैध कारोबार को लेकर सक्रियता का रहेगा इंतजार विधायक अपने पूरे विधानसभा के थाना क्षेत्रों को लेकर कब सक्रिय होते हैं और कब वह पूरे विधानसभा में अवैध कारोबार को लेकर सभी पुलिस थानों में ज्ञापन देते हैं इसका अब सभी को इंतजार है।


Share