नई दिल्ली @ भाजपा में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा की गयी

38
Share


्र चुनावी राज्यों में लिया विजय का संकल्प
्रपीएम केंद्रित राजनीतिक प्रस्ताव में केंद्र सरकार के कामकाज को सराहा
्रविपक्ष पर लगाया नकारात्मक राजनीति का आरोप
्रअनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद जम्मू-कश्मीर में शांति का किया दावा


नई दिल्ली ,07 नवंबर 2021 (ए)। लोकसभा चुनाव के दो साल बाद हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भाजपा ने उत्तर प्रदेश सहित पांच चुनावी राज्यों में जीत का संकल्प लिया है। इस दौरान पेश किए गए राजनीतिक प्रस्ताव में मोदी सरकार के कामकाज की सराहना करते हुए विपक्ष पर अवसरवादिता की राजनीति करने का आरोप लगाया गया। प्रस्ताव में जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद आतंकवाद में कमी और विकास कार्यों में तेजी आने का दावा किया गया है। प्रस्ताव में विभिन्न केंद्रीय योजनाओं और कोरोना महामारी से निपटने के मामले में पीएम की तारीफ की गई है।
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की ओर से पेश किए गए प्रस्ताव में सफल टीकाकरण, रोम में हुए जी-20 सम्मेलन में पीएम के वन अर्थ वन हैल्थ के संदेश, कोरोना काल में चलाई गई गरीब कल्याण योजना, किसान सम्मान निधि योजना, गरीबों-किसानों को राहत देने के लिए चलाई जा रही कई योजनाओं, आयुष्मान भारत योजना, स्वस्थ भारत मिशन, भ्रष्टाचारमुक्त दूरदर्शी और गरीब हितैषी दृष्टि अपनाने केलिए पीएम की तारीफ की गई है।
जम्मू-कश्मीर में शांति के साथ विकास
प्रस्ताव में अनुच्छेद 370 के खात्मे के बाद राज्य में आतंकवाद में कमी आने और विकास कार्यों में तेजी लाने के लिए भी मोदी सरकार की तारीफ की गई है। प्रस्ताव में कहा गया है कि अनुच्छेद 370 के हटने केबाद आतंकी घटनाओं में व्यापक कमी आई है। वर्ष 2004 से 2014 तक जहां आतंकी घटनाओं में 2081 लोगों की मौत हुई, वहीं केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद बीते करीब सात सालों में महज 239 लोगों की जान गई है। बीते महज दो सालों में राज्य में करीब 56 हजार करोड़ की लागत से 54 अहम योजनाओं की शुरुआत हुई है।
सामाजिक न्याय के लिए भी थपथपाई पीठ
राजनीतिक प्रस्ताव में सामाजिक न्याय की दिशा में पीएम मोदी की पहल की भी तारीफ की गई है। नीट में ओबीसी कोटा लागू करने, सामान्य वर्ग के गरीबों को दस फीसदी आरक्षण की व्यवस्था करने, राज्यों को ओबीसी सूची बनाने का अधिकार देने, ओबीसी आयोग को संवैधानिक मान्तया देने, आकांक्षी जिलों में विकास की नई इबारत लिखने के लिए पीएम के नेतृत्व की जम कर तारीफ की गई है। प्रस्ताव में कहा गया है कि मोदी सरकार ने सबका साथ सबका विकास के मूल मंत्र को वास्तविक स्वरूप में जमीन पर उतारा है।
विपक्ष पर अवसरवादी राजनीति का आरोप
प्रस्ताव में विपक्ष पर विभिन्न मुद्दों पर अवसरवादी राजनीति करने का आरोप लगाते हुए इस रवैये की कड़ी निंदा की गई। खासतौर पर कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में विपक्ष पर लोगों में भ्रम फैलाने का आरोप लगाया गया है। प्रस्ताव में कहा गया है कि विपक्ष ने कोरोना ही नहीं अन्य मुद्दों पर नकारात्मक राजनीति करते हुए असीम नफरत की मानसिकता से काम किया। कोरोना रोधी टीकों के संदर्भ में दुष्प्रचार किया। टीकाकरण अभियान को पटरी से उतारने केलिए साजिश की।
चुनावी राज्यों में जीत का संकल्प
बैठक में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा सहित पांच राज्यों में जीत का संकल्प लिया गया। प्रस्ताव में कहा गया है केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के केंद्र में देश के सामान्य वर्ग हैं। भाजपा की दोनों ही स्तर की सरकारों ने सामान्य लोगों के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए कई अहम प्रयास किए हैं। प्रस्ताव में सेवा से जुड़े इन कार्यों को जारी रखते हुए विधानसभा चुनाव में जीत का संकल्प लिया गया।


Share