कोरिया बचाओ मंच के धरने को 30 दिवस हुए पूरे,अब तक नतीजा शून्य

148
Share

बैकु΄ठपुर 23 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। कोरिया जिले के लिए 15 अगस्त 2021 हमेशा यादगार रहने वाला है, यह दिन सिर्फ इसलिए याद रखा जाएगा क्योंकि इस दिन कोरिया जिले को विभाजन की पीड़ा घोषणा बतौर दी गई, जिसके बाद से जिले का विभाजन ना हो और यदि हो तो परिसीमन सही तरीके से किया जाए परिसीमन में पक्षपात ना हो इसे लेकर कोरिया बचाओ मंच लगातार क्रमिक धरना प्रदर्शन कर रहा है। जहां कोरिया बचाओ मंच विभाजन को लेकर और परिसीमन सही तरीके से हो इस बात पर पड़ा हुआ है वही चिरमिरी में भी इस बात के लिए लोग धरने पर बैठे हैं कि मुख्यालय चिरमिरी में बने कोरिया जिले का विभाजन एक तरह से पूरे जिले के लिए मुश्किल का सबब बनता दिखाई देने लगा है जिधर देखो उधर विरोध है जिले के विभाजन से चंद लोग ही खुश हैं बाकी पूरा जिला अपनी अपनी अलग अलग मांग लेकर आंदोलनरत ही नजर आ रहा है, इस विभाजन को लेकर मनेंद्रगढ़ शहर क्षेत्र में उत्साह जरूर दिख रहा है लेकिन मुख्यालय के कार्यालय यदि बांटे गए या मनेंद्रगढ़ से इतर कहीं स्थापित किये गए मनेंद्रगढ़ भी आंदोलन से परहेज नहीं करेगा यह भी तय है, मनेंद्रगढ़ ने वैसे भी 7 किमी के भीतर जिला मुख्यालय की अपनी बात नगरपालिका प्रस्ताव के साथ कलेक्टर कोरिया को भेज दी है। वहीं कोरिया बचाव मंच के बैनर तले धरने के 30 दिन हो चुके हैं और आज के दिन शैलेंद्र सिंह, मुकुल चंद्र गुप्ता, सुरेंद्र गुप्ता, रमेश चंद गुप्ता, राजेंद्र गुप्ता, भूपेश गुप्ता, संतोष गुप्ता, रमेश सोनी, अनिल चौहान, प्रहलाद जयसवाल, जुगुल किशोर शिवहरे, राजेश गुप्ता धरने पर बैठे रहे।

सहमति के आधार पर क्षेत्र विभाजन तय किया जाय

कोरिया जिला बचाव मंच का नेतृत्व कर रहे पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष बैकुंठपुर शैलेश शिवहरे का कहना है कि शासन ने सभी नगरीय निकायों साथ ही जनपद पंचायतों व ग्राम पंचायतों से वे कहां शामिल होना चाहते हैं इस आशय का सहमति पत्र प्राप्त किया है, अब जब खड़गवां का सम्पूर्ण समर्थन बैकुंठपुर या कोरिया जिले की तरफ है ऐसे में शासन व प्रशासन को जनभावना का ध्यान रखते हुए और अपनी ही बनाई सहमति की व्यवस्था का मान रखते हुए जो क्षेत्र जहां शामिल होना चाहता है उसे उसी जिले में शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि खड़गवां विकासखण्ड का ज्यादातर क्षेत्र बैकुंठपुर जिला मुख्यालय के करीब है और उन्हें बैकुंठपुर मुख्यालय से ही सुविधा हो सकेगी।
कोरिया जिले में सोनहत व खड़गवां सहित बैकुंठपुर विकासखण्ड को शामिल करने की है मांग
कोरिया बचाव मंच जिले के विभाजन की घोषणा के बाद केवल एक मांग को लेकर धरना जारी रखे हुए हूं औऱ वह मांग है कोरिया जिले में बैकुंठपुर सोनहत और खड़गवां विकासखण्ड को शामिल रहने दिया जाय। कोरिया जिला बचाव मंच तीनों विकासखण्ड के साथ जिले की सीमाओं का परिशिमन चाहता है।

खड़गवां क्षेत्र कोरिया जिले में ही शामिल रहने सहमत

खड़गवां विकासखण्ड के अधिकांश क्षेत्र कोरिया जिले के साथ ही शामिल रहकर बैकुंठपुर जिला मुख्यालय के साथ ही अपना जिला पूर्व की तरह रहने देना चाहते हैं।खड़गवां के ज्यादातर ग्राम पंचायतों ने कोरिया जिले के साथ ही बने रहने के लिए ग्राम सभा का प्रस्ताव भी पारित कर कलेक्टर कोरिया को भेज दिया है वहीं जनपद पंचायत खड़गवां के सभी सदस्यों ने भी जनपद खड़गवां में अपना समर्थन कोरिया जिला और बैकुंठपुर मुख्यालय के लिए प्रदान कर दिया है।


Share