नई दिल्ली @ आज से लगेगी 15-18 साल के बच्चों को वैक्सीन

29
Share


अब तक साढ़े 5.75 लाख से ज्यादा युवाओं ने कराया पंजीकरण


नई दिल्ली ,02 जनवरी 2022 (ए)। देश में बढ़ते कोरोना के मामलों ने लोगों की चिंता और खतरे को टालने के लिए सरकार की तरफ से तीन जनवरी से 15-18 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत करना एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है। इस बीच बच्चों को वैक्सीन लगाने के लिए शनिवार से कोविन पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया के तहत रविवार शाम पांच बजे तक 5.75 लाख से ज्यादा युवाओं ने अपना पंजीकरण करा ल लिया है। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने तीन जनवरी यानि सोमवार से बच्चों के लिए वैक्सीन की डोज लगाने के लिए दिशानिर्देश भी जारी कर दी है।
कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन शुरू
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बच्चे सुरक्षित हैं, देश का भविष्य सुरक्षित है! नए साल के अवसर पर, 15 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के टीकाकरण के लिए कोविन पोर्टल पर पंजीकरण शुरू किया जा रहा है। कोविन डाटा के अनुसार रविवार शाम पांच बजे तक 15-18 साल के 5.75 लाख से ज्यादा बच्चों ने पंजीकरण करा लिए हैं जिन्हें कल यानी सोमवार से टीका लगना शुरू हो जाएगा। केंद्र सरकार के आधिकारिक अनुमानों के अनुसार, 15-18 आयु वर्ग के अनुमानित 10 करोड़ बच्चे टीकाकरण के योग्य हैं।
बच्चों को लगेगी सिर्फ कोवाक्सिन की डोज
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को जानकारी दी है कि 15-18 आयु वर्ग के बच्चों को वर्तमान में केवल भारत बायोटेक कंपनी द्वारा तैयार की गई कोवाक्सिन की खुराक दी जाएगी। सभी टीकाकरण योग्य बच्चों को 1 जनवरी, 2022 से कोविन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना होगा। इसके लिए सभी टीकाकरण योग्य बच्चों को 1 जनवरी, 2022 से कोविन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना होगा। इसके अलावा 3 जनवरी 2022 से सीधे वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर भी पंजीकरण(रजिस्ट्रेशन) करा सकते हैं।
साल 2007 या उससे पहले पैदा हुए बच्चों को ही लगेगी वैक्सीन
सरकार की ओर से उम्र को लेकर जानकारी दी गई है कि साल 2007 या उससे पहले पैदा हुए बच्चों को ही फिलहाल कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। यह टीका 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को नहीं लगाया जाएगा। भारत बायोटेक की कोवाक्सिन बच्चों को दी जाएगी और दो खुराकों के बीच केवल 28 दिनों का अंतराल रहेगा। हालांकि कोवाक्सिन की दूसरी डोज व्यस्कों को भी 28 दिनों के बाद ही दी जा रही है।
बच्चों को आधे घंटे तक निगरानी में रखा जाएगा
केंद्र सरकार की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार 15-18 आयु वर्ग के वैक्सीनेशन के लिए निर्धारित सभी नियमों का पालन करना होगा। टीकाकरण के प्रभाव को देखने के लिए बच्चों को आधे घंटे तक निगरानी में रखा जाएगा।


Share