बैकुण्ठपुर@पार्षदों को किसी तरह के कैमरा युक्त यंत्रों के मतदान कक्ष में ले जाने की हो मनाहीःशैलेष शिवहरे

138
Share

पूर्व नपा अध्यक्ष शिवहरे ने अध्यक्ष ने कलेक्टर को लिखा पत्र

बैकुण्ठपुर 25 दिसम्बर 2021 (घटती-घटना)। बैकुंठपुर नगरपालिका चुनाव में कांग्रेस को मिले बहुमत के पश्चात और कांग्रेस में ही अध्यक्ष पद को लेकर जारी अंतर्द्वंद की स्थिति के बाद शहर में चर्चा है बैकुंठपुर विधायक ने बैकुंठपुर नगरपालिका में कांग्रेस से वार्डो में चुनाव जीतकर आये पार्षदों को सीधा फरमान जारी किया है कि पार्षद अध्यक्ष पद के मतदान के दौरान किसे मतदान किया उसकी फोटो अपने मोबाइल पर खींचकर लाकर विधायक को दिखाएं और तभी उन्हें विश्वास होगा कि पार्षदों ने विधायक के पसंद के पार्षद को ही अध्यक्ष पद हेतु मतदान किया है कि खबर के वायरल होते ही भाजपा के पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शैलेष शिवहरे ने इस पूरे मामले पर आपत्ती दर्ज करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी कलेक्टर कोरिया को पत्र लिखकर यह मांग की है कि नगरपालिका बैकुंठपुर अध्यक्ष पद का निर्वाचन निष्पक्ष हो और किसी भी पार्षद को मोबाइल सहित किसी भी इलेक्ट्रॉनिक यंत्र की वोटिंग कक्ष में ले जाने की मनाही तय की जाए।

विधायक का कांग्रेस पार्षदों को वोट का फोटो खींचने का फरमान लोकतंत्र का अपमान

बैकुंठपुर नगरपालिका चुनाव में बहुमत के बाद भी सत्तापक्ष की विधायक का कांग्रेस के ही पार्षदों पर अविश्वास जैसा यह फरमान है जिसमें विधायक ने पार्षदों को अध्यक्ष पद हेतु वोट का फ़ोटो लाने की बात कांग्रेस के ही पार्षदों से की गई है। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शैलेष शिवहरे ने कहा है कि पार्षद कांग्रेस के हों या अन्य किसी दल के लोकतंत्र में एक आम मतदाता को भी अपने मत की गोपनीयता का अधिकार है और वर्तमान विधायक लोकतांत्रिक मर्यादाओं के विपरीत काम करना चाह रहीं हैं जो कि गलत है। शैलेष शिवहरे ने कलेक्टर कोरिया को पत्र लिखकर पार्षदों के साथ मोबाइल और अन्य यंत्रों के मतदान के दौरान प्रतिबंध लगाने की मांग की है जिससे अध्यक्ष पद का निर्वाचन निष्पक्ष हो सके।

अध्यक्ष पद का निर्वाचन निष्पक्ष हो यही है मात्र मांग

पूरे मामले में शैलेश शिवहरे का यह भी कहना है कि अध्यक्ष पद का निर्वाचन निष्पक्ष हो और पार्षदों को उनके मत के लिए किसी प्रकार की प्रामाणिकता साबित न करनी हो यही उनके कलेक्टर कोरिया को लिखे पत्र का एकमात्र आशय है।


Share