अम्बिकापुर@शासकीय दुकान में बेची जा रही थी मिलावटी शराब,उडऩदस्ता कमिश्नर ने मारा छापा

167
Share

आबकारी विभाग की बिलासपुर उडऩदस्ता टीम ने गंगापुर शराब दुकान में छापा मारकर की कार्रवाई

अम्बिकापुर 23 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)। शहर के शासकीय शराब दुकान में मिलावटी शराब मिलने की शिकायत पर आबकारी विभाग की बिलासपुर उडऩदस्ता टीम ने गंगापुर शराब दुकान में छापा मारकर की कार्रवाई कर मिलावटी शराब पकड़ी है। उडऩदस्ता टीम द्वारा की गई इस कार्रवाई से शराब दुकानों में हड़कंप मचा हुआ है। छापामारी के दौरान शराब की बोतल खोलने व सील करने की मशीन, खाली बोतल, ढक्कन सहित अन्य सामान पाए गए हैं, जो संदेह के दायरे में है। इससे स्पष्ट होता है कि अंबिकापुर के शासकीय दुकान से मिलावटी अंग्रेजी शराब बेची जा रही है।
गौरतलब है कि सरगुजा में शासकीय शराब दुकानों में मिलावटी शराब बेचे जाने का मामला काफी दिनों से चल रहा है। पिछले वर्ष गांधीनगर थाना क्षेत्र में स्थित किराए के मकान में रहकर शराब दुकान के सेल्समैन द्वारा मिलावट का काम किया जा रहा था। सरगुजा पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई भी की थी। कार्रवाई के बाद विभाग ने स्थानीय स्तर पर कार्रवाई कर लीपापोती कर दी थी। इसके बाद से लगातार मिलावटी शराब बेचे जाने का सवाल शराब शौकीनों द्वारा उठाए जा रहे हैं। लगातार हो रही शासकीय शराब दुकानों में मिलावट की सूचना पर बिलासपुर की उडऩदस्ता टीम ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। दरअसल बिलासपुर उडऩदस्ता टीम को शिकायत मिली थी कि शहर के गंगापुर स्थित शासकीय शराब दुकान में मिलावट शराब का कारोबार जोरों से चल रहा है। शिकायत मिलने पर बिलासपुर उडऩदस्ता टीम के डीसी दल बल के साथ छापामार की कार्रवाई करने अंबिकापुर पहुंचे हुए थे। वही जब उडऩदस्ता टीम ने गंगापुर स्थित शराब दुकान में छापामार की कार्रवाई कर मिलावटी शराब की जांच की तो सभी के होश उड़ गए। इस दौरान उडऩदस्ता टीम ने पाया कि शासकीय शराब दुकान गंगापुर में मिलावटी शराब बेची जा रही है। यही नहीं कार्रवाई करने पहुंचे अधिकारियों के उस वक्त होश उड़ गए जब दुकान से टीम ने शराब में मिलाने वाले रंग को भी बरामद किया। इसके अलावा शराब की खाली शीशियां में मिलावट कर बोतल को सील बंद करने के लिए उपयोग किए जाने वाले ढक्कन को भी आबकारी विभाग ने बरामद किया है। उडऩदस्ता टीम ने मिलावटी शराब को जब्त कर लिया है। छापेमारी के दौरान रीजनल उडऩदस्ता दल व सरगुजा उडऩदस्ता दल शामिल था। इस दौरान 200 शराब की खाली शीशियां, ढक्कन, मिलावटी शराब पाए गए हैं। वहीं कर्मचारियों का पंजीयन रजिस्टर गायब था। इस बात को लेकर उडऩदस्ता डीसी ने फटकार भी लगाई है। शासकीय शराब दुकान के कर्मचारियों द्वारा महंगी शराब की बोतलों में सस्ती शराब भर कर बेचने के भी मामला सामने आते रहे हंै। वहीं प्रत्येक दिन स्टाक का मिलान होता है। शासकीय दस्तावेज में इसकी जानकारी लिखी जाती है। इसके बावजूद भी मिलावट कारोबार चल रहा है। इससे आबकारी विभाग की भूमिका पर सवाल खड़े हो रहे हैं। मुनाफा कमाने के चक्कर में शराब दुकान के कर्मचारियों द्वारा शराब में मिलावट कर बेचा जा रहा है। जांच के दौरान उडऩदस्ता दल के डीसी ने बताया कि कुछ मिलावटी शराब भी बरामद की गई है। यह आपराधिक मामला है। इसे प्रकरण तैयार कर न्यायालय में पेश किया जाएगा।


Share