बैकु΄ठपुर @डिप्टी कलेक्टर,नायब तहसीलदार,पटवारी पर महिला पंच ने लगाया गंभीर आरोप

818
Share


आदिवासी वर्ग की दिव्यांग वार्ड पंच ग्राम खोंड ने थाना पटना को शिकायत पत्र सौंपा


-रवि सिंह-


बैकु΄ठपुर 10 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। बैकुंठपुर विकासखण्ड के ग्राम पंचायत खोंड की महिला दिव्यांग पंच ने डिप्टी कलेक्टर व सीईओ जनपद पंचायत बैकुंठपुर अमित सिन्हा, नायब तहसीलदार उप तहसील पटना भीष्म कुमार पटेल, सहित ग्राम पंचायत सचिव व ग्राम पटवारी के विरुद्ध पटना थाने में शिकायत करते हुए, प्राथमिकी दर्ज कर कार्यवाही की मांग की है। शिकायतकर्ता दिव्यांग महिला आदिवासी पंच ने अपनी शिकायत में बताया है कि वह ग्राम पंचायत खोंड की निवासी है और वार्ड क्रमांक 7 की महिला पंच है उसने शिकायत में लिखा है कि ग्राम पंचायत खोंड में ही उसके व उसके परिवार की पट्टे की जमीन है और जिसपर वह और उसका परिवार काबिज कास्त रहकर खेतीबाड़ी का कार्य करता है।
उसने अपने शिकायत में लिखा है कि उसने अपनी ही जमीन पर मेहरी कुटकी की खेती की है और उसी जमीन पर डिप्टी कलेक्टर जनपद पंचायत बैकुंठपुर के सीईओ उप तहसील पटना के नायब तहिसलदार भीष्म पटेल,पटवारी और ग्राम पंचायत के सचिव के साथ आकर गड्ढा खुदवा दिये, और कहने लगे कि इसी जमीन पर चारागाह बनेगा, शिकायत में उसने यह भी लिखा है कि वह उपस्थित होकर बताई की यह जमीन उसकी है और इसपर उसके पूर्वजों के जमाने से वह और उसका परिवार खेती बाड़ी का काम करता आ रहा है और पट्टे में भी दर्ज है यह और इसी जमीन से उसके व उसके परिवार का जीवन यापन भी होता है। महिला दिव्यांग आदिवासी पंच ने शिकायत में लिखा है कि उसके इतना कहते ही जनपद सीईओ उसे भद्दी गालियां देकर साथ ही उसे जातिगत व वर्ग आधार पर अपशब्द कहते हुए कहने लगे कि यह नेतागिरी कर रही है इसको पंच पद से हटाओ,उन्हीं की बात पर सहमति जताते हुए ग्राम पंचायत सचिव ने भी उसके लिए अपशब्द कहे और पंच पद से हटाने की बात की। महिला दिव्यांग पंच ने कहा कि उपस्थित अधिकारियों व ग्राम पंचायत सचिव पटवारी सहित कई ग्रामवासियों के बीच यह वाक्या घटित हुआ और उसे अपमान महसूस हुआ। उसका कहना है मैं दी गई धमकियों से डर गई हूं और उनजे द्वारा मेरी फसल भी बर्बाद कर दी गई है। उपस्थित अधिकारियों सहित पटवारी व ग्राम पंचायत सचिव ने यह भी कहा कि इसे यहां से हटाया जाए और यहीं इसी जमीन पर चारागाह का काम जारी रखना है बीच मे यदि महिला दिव्यांग पंच आती है तो इसे जूठे प्रकरण में फंसाकर जेल भेज दिया जाएगा, यह भी महिला का आरोप है। शिकायत पुलिस थाना पटना को सौंपकर महिला दिव्यांग आदिवासी पंच ने कार्यवाही की मांग करते हुए खुद को भयभीत बताया है वहीं वह अपने जमीन के संदर्भ में भी डरी हुई है उसका कहना है।

क्या होगी कार्यवाही देखने वाली बात होगी

मामले की सच्चाई क्या है अब यह जांच का विषय है, लेकिन आरोप गंभीर है वहीं मामले में आरोप भी अधिकारियों व कर्मचारियों पर लगे हैं, अब देखना होगा इस मामले में पुलिस किस तरह की कार्यवाही करती है क्योंकि मामला राजस्व अधिकारियों से जुड़ा हुआ भी है और महिला अपमान, आदिवासी अस्मिता अपमान सहित दिव्यांग महिला अपमान का भी मामला इससे जुड़ता है।


Share