अम्बिकापुर@लखीमपुर की घटना के विरोध में कांग्रेस का हल्ला बोल

22
Share

केंद्र व उत्तरप्रदेश सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने जमकर किया प्रदर्शन

अम्बिकापुर 05 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में कृषि कानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान झड़प में 4 किसानों की मौत के मामले व शोक संतप्त परिवार से मिलने जा रही कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा मंगलवार की दोपहर गांधी चौक पर धरना प्रदर्शन व सभा का आयोजन किया गया। तत्पश्चात एक रैली निकालकर कलक्टोरेट का घेराव किया गया। साथ ही राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपकर कांग्रेस ने कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए उत्तरप्रदेश में तत्काल राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है। गांधी चौक की सभा को संबोधित करते हुए औषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष बाल कृष्ण पाठक ने कहा कि यह अत्यंत ही शर्मनाक है कि उत्तर प्रदेश में किसानों की मौत के दोषी खुलेआम घूम रहे हैं और शोक संतप्त परिवार को अपनी संवेदना और सहानुभूति देने जा रही हमारी राष्ट्रीय नेता को गिरफ्तार कर कैद कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि इतिहास साक्षी रहा है की किसान जब आंदोलन करता है तो वह नहीं झुकता है और किसान तभी आंदोलन करता है जब उसकी भूमि और फसल खतरे में पड़ती है। उन्होंने कहा कि सन 1907 में शहीद भगत सिंह के चाचा सरदार किशन सिंह ने अंग्रेजो के खिलाफ काले कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन किया था जिससे अंग्रेजों को झुकना पड़ा था और उन्होंने कानून वापस ले लिया था। इसी तरह नील की खेती करने के विरोध में महात्मा गांधी ने अंग्रेजी शासन के खिलाफ आंदोलन किया था तथा सरदार वल्लभ भाई पटेल ने भी किसानों के हित में बाराडोली आंदोलन किया था सभी आंदोलन की एक खासियत रही की अंग्रेजों को झुकना पड़ा और किसानों की बात माननी पड़ी । किंतु केंद्र की मोदी सरकार अंग्रेजों से भी ज्यादा क्रूर व निर्दयी व तानाशाह है उसे जनता के हित से कोई लेना देना नहीं है वह तो चंद उद्योगपतियों के हित के लिए काम कर रही है इसे उखाड़ फेंकना बहुत जरूरी है। 20 सूत्रीय क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस ने कभी भी देश के अहित में सत्ता के लिए किसी से समझौता नहीं किया। किंतु यह सरकार चंद अवसरवादियों व अलगाववादियों को इकट्ठा करके देश को बर्बाद करने पर तुली हुई है और रोज उद्योगपतियों से समझौता कर 70 साल में कांग्रेस ने जो कुछ भी बनाया उसे बेचने का काम कर रही है। इस निरंकुश सरकार से निजात पाना बहुत जरूरी हो गया है। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष जेपी श्रीवास्तव ने कहा कि संस्कृति और संस्कार की झूठी दुहाई देने वाली भाजपा की सरकार ने शोक संतप्त परिवार के पास जाने वाली प्रियंका गांधी को रोककर अपने कुसंस्कारों का परिचय दिया है उनके कुकृत्य को इतिहास कभी माफ नहीं करेगा। भाजपा किसानों के साथ जो अन्याय कर रही है उसका फल आगामी चुनाव में भोगना पड़ेगा। इसके अलावा सभा को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री द्वितेंद्र मिश्रा, मेयर डॉ. अजय तिर्की, मो. इस्लाम, सत्येंद्र तिवारी, अशफाक अली, मधु दीक्षित, सन्ध्या रवानी, विनय शर्मा, संजीव मंदिलवार, दुर्गेश गुप्ता, मदन जायसवाल, मुन्ना राजवाड़े, चीकू सिंह, रजनीश सिंह, निक्की खान, प्रमोद चौधरी, शुभम जायसवाल आदि ने भी सम्बोधित किया। सभा का संचालन ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हेमंत सिन्हा तथा प्रकाश साहू ने आभार व्यक्त किया ।

युकां व एनएसयूआई ने फूंका पुतला

लखीमपुर खीरी की घटना व प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में युवक कांग्रेस और एनएसयूआई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए पुतला फूंका। गांधी चौक में भारी संख्या में पुलिस के जमावड़े के बीच युवक कांग्रेसियों ने प्रधानमंत्री मोदी और योगी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस कर्मियों के साथ झूमा झटकी भी हुई। इस दौरान विकल झा, उत्तम राजवाड़े, निक्की खान, शुभम जायसवाल, हिमांशु अग्रवाल, प्रिंस जायसवाल, आकाश अग्रहरि, ऋषिराज सिंह, राहुल सोनी, प्रीतिका विश्वकर्मा, सोमा मुखर्जी, आकाश यादव, अभिषेक सोनी, अभिषेक गुप्ता, राहुल नॉक्स सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

महिलाओं ने निकाला कैंडल मार्च

उत्तरप्रदेश की घटना के विरोध में महिलाओं ने जिला पंचायत अध्यक्ष माधु सिंह, महिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष संध्या रवानी के नेतृत्व में शहर में कैंडल मार्च निकाल कर श्रद्धाजंलि अर्पित की।


Share