39 हाथियों का दल खडगवां वन परिक्षेत्र में कर रहे हैं विचरण

76
Share


दो घरो को तोड़ा,हादसे में एक ग्रामीण घायल,विभाग ने दी दस हजार की सहायता राशि

मनेन्द्रगढ़ 24 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। 35 वयस्क हाथी के साथ चार शावको का एक विशाल झुंड ग्राम मांगोरा , तेंदूडांड, जोगी पोखरी के मध्य विचरण कर रहा है। बताया जा रहा है कि हाथी कोरबा जिले के पासान होते हुए बैकुंठपुर वन मंडल के वन परिक्षेत्र खंडगवा के जरौधा अंधियारिबहरा , भुजबूल डांड कर्री छप्पर कटकोना के आसपास विचरण कर रहा है 39 हाथियों का दल काफी बड़ा दल है और बीती रात हाथियों के दल ने एक ग्रामीण को घायल किया और दो घरों को नुकसान पहुंचाया घायल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसका डॉक्टरी उपचार चल रहा हैं घायल के देखरेख में वन परिक्षेत्र अधिकारी व स्टाफ लगे हुए हैं ।जानकारी के अनुसार कोरिया वन मंडल के पड़ोसी जिला कोरबा से हाथियों का दल खडगांवा वन परिक्षेत्र के मंगोरा कर्रीछापर कटकोना के आसपास विचरण कर रहा था मध्य रात्रि को हाथियों का दल रहवासी क्षेत्रों में प्रवेश किया जिसकी जानकारी प्राप्त होते ग्रामीणों ने हल्ला मचा करके हाथियों के दल को खदेड़ा इस बीच एक ग्रामीण दतैल हाथी के चपेट में आ गया। जिसे दतैल हाथी ने ग्रामीण को हवा मे फेक दिया । जिससे वह घायल हो गया वन अमला और ग्रामीण जनों के हो हल्ला से हाथी घायल ग्रामीण को छोड़कर जंगल की तरफ भाग गया। घायल को वन परिक्षेत्र अधिकारी अर्जुन सिंह के द्वारा समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया गया घायल की गंभीर स्थिति को देखते हुए जिला अस्पताल रेफर किया गया घायल का इलाज जारी है वही घायल ग्रामीण को देखने ह्यस्रश मैडम अस्पताल पहुचें । और घायल का हाल जाना वही वन परिक्षेत्र अधिकारी अर्जुन सिंह के द्वारा अस्पताल पहुंचकर के घायल के स्वास्थ्य का जायजा लिया और उसके परिजनों को ₹10000 की सहायता राशि दी गयी। घायल का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है और हाथी के एक-एक मुमेंट की खबर वन परिक्षेत्र अधिकारी के द्वारा उच्च अधिकारी के साथ साथ मिडिया को भी दिया जा रहा है वनपरिक्षेत्र अधिकारी के द्वारा जंगल में स्टाफ तैनात कर दिया गया हैं । वन परिक्षेत्र अधिकारी के अनुसार हाथी अभी मांगोरा तेंदूडांड, जोगी पोखरी के मध्य विचरण कर रहा है वन परिक्षेत्र अधिकारी के द्वारा आशंका जताई जा रही है कि हाथियों का दल सलका बेलबहरा, पेनारी होते हुए मरवाही वन मंडल के तरफ कुच कर सकता है अब तक हाथियों की पल-पल की खबर रेंजर के द्वारा दी जा रही है गांव वाले से भी वन परिक्षेत्राधिकारी अर्जुन सिंह ने अपील किया है की हाथियों के आने से किसी भी प्रकार का शोर गुल ना करें और न ही उन्हे पत्थर से य गुलेल से ना मारे ऐसा करने से हाथी अक्रामक हो जाऐगें और हाथी आपके दिशा मै ही लौटेगें जिससे जनहानी हो सकती है। जिनके घर जंगल के समीप हैं वह आंगनबाड़ी या समुदायिक भवन या ग्राम पंचायत में उनके रहने की व्यवस्था की गई है शाम होने से पहले ही ग्रामीण जन अपने कच्चे मकान को छोड दें और सरकारी भवन मे आ कर रूके।


Share